नवीनतम लेख

ज़ायोनी सैनिकों ने किया क़ुद्स के गवर्नर का अपहरण ट्रम्प ने दी बिन सलमान को क्लीन चिट, हथियार डील नहीं होगी रद्द रूस के कड़े तेवर, एकध्रुवीय दुनिया का सपना देखना छोड़ दे अमेरिका आले सऊद ने अमेरिका के आदेश पर ख़ाशुक़जी के क़त्ल की बात स्वीकारी : मुजतहिद जमाल ख़ाशुक़जी हत्याकांड में ट्रम्प के दामाद की भूमिका की जांच हो साम्राज्यवाद के मुक़ाबले पर डटा ईरान और ग़ुलामी करते मुस्लिम देशों में ज़मीन आसमान का फ़र्क़ : फहवी हुसैन ईरान के खिलाफ सर जोड़ कर बैठे सऊदी अरब और इस्राईल इमाम हुसैन के ज़ायरीन पर हमले की साज़िश विफल अमेरिकी आतंक, अमेरिकी सेना ने दैरुज़्ज़ोर में 60 लोगों को मौत के घाट उतारा हत्यारी टीम को ही नहीं क़त्ल के आदेश देने वाले को भी मिले कड़ी सजा : तुर्की सऊदी पत्रकार संघ अरबईन बिलियन मार्च, नजफ़े अशरफ से हैदरिया तक चप्पे चप्पे पर हश्दुश शअबी की निगरानी हिज़्बुल्लाह हर स्थिति का सामना करने को तैयार, धमकियों का ज़माना बीत गया : हसन नसरुल्लाह बहरैन, आले खलीफा ने एक बार फिर लगाए क़तर और ईरान पर बेबुनियाद आरोप वहाबी आतंकियों का क़ब्रिस्तान बना सीरिया, 1114 शहर आज़ाद : रूस अरबईन बिलियन मार्च, दुश्मन को एक बार फिर हार का सामना : सय्यद मोहसिन
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 62237
Date of publication : 7/11/2014 23:46
Hit : 371

यमन में अंसारुल्लाह आंदोलन का और कई क्षेत्रों पर क़ब्ज़ा।

अंसारुल्लाह आंदोलन के जवानों ने बुधवार को अलबैज़ाअ प्रांत के अलकमरः नामक इस्रॉअंटेजिक लिहाज से महत्वपूर्ण पहाड़ियों पर कंट्रोल करके रेदा शहर में आतंकवादियों की कार्यवाहियों को नाकाम बना दिया है।
अहलेबैत (अ) समाचार एजेंसी अबना की रिपोर्ट के अनुसार अंसारुल्लाह आंदोलन के जवानों ने बुधवार को अलबैज़ाअ प्रांत के अलकमरः नामक इस्रॉअंटेजिक लिहाज से महत्वपूर्ण पहाड़ियों पर कंट्रोल करके रेदा शहर में आतंकवादियों की कार्यवाहियों को नाकाम बना दिया है।दूसरी ओर यमन के आदिवासी प्रमुकों ने बुधवार को कहा कि अंसारुश शरीयः नामक आतंकवादी गिरोह का स्थानीय सरगना अपने चार साथियों के साथ यमन में हवाई हमले में मारा गया है।इस बीच एक अन्य रिपोर्ट के अनुसार राजधानी सनआ के दक्षिणी भाग में अज्ञात बंदूकधारियों के हमले में अल्जीरिया का एक नागरिक मारा गया और फ्रांसीसी नागरिक घायल हुआ है।कुछ सूत्रों का कहना है कि इस सशस्त्र हमले में अलक़ायदा के आतंकवादियों का हाथ है। अलक़ायदा आतंकवादी यमन में केंद्र सरकार के कमजोर होने का फायदा उठाकर दक्षिण और पूर्वी यमन में अपने प्रभाव बढ़ाने की कोशिश में हैं। यमन में अलकायदा को इस देश की सरकार के लिए बहुत बड़ी सुरक्षा चुनौती माना जा रहा है।


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :