Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 56703
Date of publication : 3/8/2014 8:57
Hit : 732

सऊदी मुफ़्तीः ग़ज़्ज़ा के समर्थन में रैली निकालना, हराम है।

सऊदी अरब के एक मुफ्ती ने अजीबोग़रीब बयान देते हुए ग़ज़्ज़ा के मज़लूम फ़िलिस्तीनियों के साथ एकजुटता जताने के लिये निकाले जाने वाले जुलूसों को हराम बताया है।


विलायत पोर्टलः सऊदी अरब के एक मुफ्ती ने अजीबोग़रीब बयान देते हुए ग़ज़्ज़ा के मज़लूम फ़िलिस्तीनियों के साथ एकजुटता जताने के लिये निकाले जाने वाले जुलूसों को हराम बताया है। इराक़ की अल-मसला वेबसाइट की रिपोर्ट के अनुसार सऊदी अरब के मुफ्ती और उल्मा काउंसिल के प्रमुख अब्दुल अजीज बिन अब्दुल्ला आले शेख़ ने अपने ताज़ा बयान में फिलिस्तीनियों के साथ एकजुटता जताने के लिये निकाले जाने वाले जुलूसों को अनुचित और हिंसात्मक बताते हुए उसे हराम ठहराया और मुसलमानों से इस तरह की रैलियां न निकाले की अपील की है। इस रिपोर्ट के अनुसार पिछले सप्ताह सऊदी अरब की जूडिशल काउंसिल के अध्यक्ष सालेह हैदान के बयान के बाद यह दूसरी बार है कि सऊदी अरब के एक अधिकारी ने अपने देश में फिलिस्तीनियों के साथ हमदर्दी की आलोचना की है। सालेह हैदान ने पिछले सप्ताह ग़ज़्ज़ा पट्टी के फ़िलिस्तीनियों के साथ हमदर्दी जताने के लिये निकाले जाने वाले जुलूसों के बारे में दावा किया था कि यह रैलियां शांतिपूर्ण होने की सूरत में भी लोगों को इबादत से रोकती हैं।


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

ज़ियारते आशूरा की फ़ज़ीलत इस्राईल और ज़ायोनियों ने 50 साल दुआ की तब बिन सलमान जैसा दोस्त मिला : हारेत्ज़ आले सऊद की हैवानियत, जमाल की हत्या का आदेश देकर कहा, इस कुत्ते का सर मेरे पास ले आना इराक से अमेरिकी सेना को निकालना प्रधानमंत्री की प्राथमिकता में शामिल, बुधवार को संसद का अधिवेशन भारत और ईरान मिलकर बनाएंगे खुद का सैटेलाइट नेविगेशन सिस्टम ! ईरान - इराक बॉर्डर पर पहुंचे महमूद अलवी, ज़ायरीन पर आतंकी हमलों की योजना विफल सऊदी शासक की सच्चाई पर शक नहीं लेकिन 'पूर्वनियोजित थी जमाल ख़ाशुक़जी की हत्या : अर्दोग़ान जमाल ख़ाशुक़जी के परिवार के लिए हत्यारों ने भेजा शोक संदेश तेहरान और रियाज़ के बीच मध्यस्था को तैयार, पाकिस्तान को आर्थिक सहायता दे सऊदी अरब : इमरान खान मुख्तार हन्नानी का बिन सलमान पर कड़ा कटाक्ष, सच्चा लीडर खुद को बचने के लिए अपने साथियों की भेंट नहीं देता ! आले सऊद की दरिंदगी, रसूल स.अ. के सहाबी मआज़ बिन जबल की बनाई यमन की ऐतिहासिक मस्जिद को किया शहीद! जमाल ख़ाशुक़जी की हत्या दुखदायी, लेकिन हमे पैसों की ज़रूरत : इमरान खान पाकिस्तान, क़तर की सिफारिश पर तालेबान लीडर मुल्ला बरादर जेल से आज़ाद ईरान की मांग, सऊदी अरब को मानवाधिकार परिषद से निकाले संयुक्त राष्ट्र इस्लामी जगत से सऊदी अरब को किनारे लगा खुद नेतृत्व चाहता है तुर्की : गार्डियन