Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 56286
Date of publication : 26/7/2014 0:5
Hit : 573

ग़ज़्ज़ा के लिए ईरानी मदद की पहली खेप मिस्र पहुंची।

ईरान ने कहा है कि नाकाबंदी से घिरे ग़ज़्ज़ा पट्टी के लिए मानवीय सहायता भेजने के लिए तय्यार हैं, मिस्र के सहयोग की ज़रूरत है। ईरान ने कहा है कि नाकाबंदी से घिरे ग़ज़्ज़ा पट्टी के लिए मानवीय सहायता भेजने के लिए तय्यार हैं, मिस्र के सहयोग की ज़रूरत है।
शुक्रवार को ईरानी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता मर्ज़िया अफ़्ख़म ने कहा कि ईरान की रेड क्रेसेंट की ओर से ग़ज़्ज़ा के लिए सहायता भेजने में कूटनयिक रुकावट के कारण विलंब हो गया है। उन्होंने आशा जतायी कि मिस्री सरकार इस संदर्भ में सहयोग करेगी।
इससे पहले ईरानी विदेश मंत्री जवाद ज़रीफ़ ने कहा कि तेहरान दवा से भरे हवाई जहाज़ को ग़ज़्ज़ा भेजने और वहां से घायलों को ईरान में उपचार के लिए लाने के संबंध में क़ाहेरा के साथ संपर्क में है।
ईरान के उपविदेश मंत्री हुसैन अमीर अब्दुल्लाहियान के अनुसार ईरान की ओर से हवाई जहाज़ से ग़ज़्ज़ा के लिए सहायता क़ाहेरा भेजी गयी है जिसे रफ़ह पास से रवाना करने के लिए मिस्री सरकार की ओर से अनुमति मिलने का इंतेज़ार है।
ज्ञात रहे मिस्र ग़ज़्ज़ा के डाक्टरों की टीम और ज़रूरी चीज़ों की आपूर्ति को रोक रहा है और ग़ज़्ज़ा में घायल होने वालों को रफ़ह पास से आने से अनुमति नहीं दे रहा है।


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

अफ़ग़ानिस्तान में शांति स्थापना के लिए ईरान का किरदार बहुत महत्वपूर्ण । वालेदैन के हक़ में दुआ हिज़्बुल्लाह के खिलाफ युद्ध की आग भड़काने पर तुला इस्राईल, मोसाद और ज़ायोनी सेना आमने सामने इराक की दो टूक, किसी भी देश के ख़िलाफ़ देश की धरती का प्रयोग नहीं होने देंगे फ़्रांस के दो लाख यहूदी नागरिकों को स्वीकार करेगा अवैध राष्ट्र इस्राईल इस्राईल का चप्पा चप्पा हमारी की मिसाइलों के निशाने पर : हिज़्बुल्लाह जौलान हाइट्स से लेकर अल जलील तक इस्राईल का काल बन गई है नौजबा मूवमेंट । हम न होते तो फ़ारसी बोलते आले सऊद, अमेरिका के बिना सऊदी अरब कुछ नहीं : लिंडसे ग्राहम आले सऊद की बेशर्मी, लापता हाजी सऊदी जेलों में मौजूद ट्रम्प पर मंडला रहा है महाभियोग और जेल जाने का ख़तरा । जॉर्डन के बाद संयुक्त अरब अमीरात ने दमिश्क़ से राजनयिक संबंध बहाल करने की इच्छा जताई क़ुर्आन की तिलावत की फ़ज़ीलत और उसका सवाब ट्रम्प को फ्रांस की नसीहत, हमारे आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप न करे अमेरिका । तुर्की अरब जगत के लिए सबसे बड़ा ख़तरा : अब्दुल ख़ालिक़ अब्दुल्लाह आतंकवाद से संघर्ष का दावा करने वाला अमेरिका शरणार्थियों पर हमले बंद करे : मलाला युसुफ़ज़ई