Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 56283
Date of publication : 25/7/2014 23:50
Hit : 557

इस्राईल मुर्दाबाद के नारों से गूंज उठा ईरान।

ईरान के विभिन्न नगरों और क़स्बों में विश्व क़ुद्स दिवस के अवसर पर भव्य रैलियां और जुलूस निकाले जा रहे हैं। ईरान के विभिन्न नगरों और क़स्बों में विश्व क़ुद्स दिवस के अवसर पर भव्य रैलियां और जुलूस निकाले जा रहे हैं। तेहरान का केन्द्रीय जूलूस आज़ादी स्क्वायर से निकाला जा रहा है जिसमें दसियों लाख लोग मौजूद हैं।
रैलियों में भाग लेने वाले इस्राईल और अमरीका के विरुद्ध नारे लगा रहे हैं। प्रदर्शनकारियों के हाथों में ऐसे बैनर और प्लेकार्ड हैं जिन पर लिखा है कि क़ुद्स हमारा है, मस्जिदे अक़सा हम आ रहे हैं। भीषण गर्मी और धूप के बावजूद बच्चे, बूढ़े और जवान सभी वर्ग के लोग फ़िलिस्तीनियों से सहृदयता व्यक्त करने के लिए विश्व क़ुद्स दिवस की रैलियों में उपस्थिति हैं।
राजधानी तेहरान सहित ईरान के समस्त नगरों में स्थानीय समय के अनुसार दस बजे जूलूसों और रैलियों का क्रम आरंभ हुआ जिनमें लाखों की संख्या में लोग मौजूद हैं।
तेहरान का केन्द्रीय जूलूस तेहरान विश्वविद्यालय में संपन्न होगा जहां राष्ट्रपति लोगों को संबोधित करेंगे। विश्व कुद्स दिवस के जूलूस में इस्लामी गणतंत्र ईरान के राष्ट्रपति डाक्टर हसन रूहानी ने भी भाग लिया।
पूरे ईरान में विश्व क़ुद्स दिवस की रैलियों को कवरेज देने क लिए 3000 स्थानीय और विदेशी पत्रकार और कैमरामैन मौजूद हैं। विश्व क़ुद्स दिवस के जूलूसों में भाग लेकर जनता, फ़िलिस्तीनियों के प्रति अपने समर्थन की घोषणा और अतिग्रहणकारी ज़ायोनी शासन कीनिंदा करती है।
ज्ञात रहे कि इस्लामी क्रांति के संस्थापक स्वर्गीय इमाम ख़ुमैनी ने वर्ष 1979 अगस्त के आरंभ में पवित्र रमज़ान की तेरह तारीख़ को ज़ायोनियों के चंगुल से मुसलमानों के पहले क़िब्ले बैतुल मुक़द्दस को स्वतंत्र कराने के लिए पवित्र रमज़ान के अंतिम शुक्रवार को विश्व क़ुद्स दिवस मनाने की घोषणा की थी।


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

अफ़ग़ानिस्तान में शांति स्थापना के लिए ईरान का किरदार बहुत महत्वपूर्ण । वालेदैन के हक़ में दुआ हिज़्बुल्लाह के खिलाफ युद्ध की आग भड़काने पर तुला इस्राईल, मोसाद और ज़ायोनी सेना आमने सामने इराक की दो टूक, किसी भी देश के ख़िलाफ़ देश की धरती का प्रयोग नहीं होने देंगे फ़्रांस के दो लाख यहूदी नागरिकों को स्वीकार करेगा अवैध राष्ट्र इस्राईल इस्राईल का चप्पा चप्पा हमारी की मिसाइलों के निशाने पर : हिज़्बुल्लाह जौलान हाइट्स से लेकर अल जलील तक इस्राईल का काल बन गई है नौजबा मूवमेंट । हम न होते तो फ़ारसी बोलते आले सऊद, अमेरिका के बिना सऊदी अरब कुछ नहीं : लिंडसे ग्राहम आले सऊद की बेशर्मी, लापता हाजी सऊदी जेलों में मौजूद ट्रम्प पर मंडला रहा है महाभियोग और जेल जाने का ख़तरा । जॉर्डन के बाद संयुक्त अरब अमीरात ने दमिश्क़ से राजनयिक संबंध बहाल करने की इच्छा जताई क़ुर्आन की तिलावत की फ़ज़ीलत और उसका सवाब ट्रम्प को फ्रांस की नसीहत, हमारे आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप न करे अमेरिका । तुर्की अरब जगत के लिए सबसे बड़ा ख़तरा : अब्दुल ख़ालिक़ अब्दुल्लाह आतंकवाद से संघर्ष का दावा करने वाला अमेरिका शरणार्थियों पर हमले बंद करे : मलाला युसुफ़ज़ई