Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 56281
Date of publication : 25/7/2014 23:41
Hit : 501

गज़्ज़ा पर इस्राईल के हमलों में मरने वालों की संख्या 800 पहुंची।

ग़ज़्ज़ा पट्टी पर इस्राईल के पाश्विक हमले निरंतर 18वें दिन भी जारी रहे जिससे शहीद होने वाले फ़िलिस्तीनियों की संख्या 800 से पार हो गयी है। ग़ज़्ज़ा पट्टी पर इस्राईल के पाश्विक हमले निरंतर 18वें दिन भी जारी रहे जिससे शहीद होने वाले फ़िलिस्तीनियों की संख्या 800 से पार हो गयी है।
ग़ज़्ज़ा के स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता अशरफ़ क़दरह का कहना है कि अब तक इस्राईली हमलों में आठ सौ पच्चीस फ़िलिस्तीनी शहीद हो चुके हैं जिनमें अधिकतर आम नागरिक हैं। उनका कहना था कि इन हमलों में इसी प्रकार 5220 लोग घायल हुए हैं जिनमें महिलाओं और बच्चों की संख्या सबसे अधिक है।
बृहस्पतिवार और शुक्रवार की बीच की रात इस्राईल के हमलों में शहीद होने वालों की संख्या 798 हो गयी थी।
प्रवक्ता के अनुसार दक्षिणी ग़ज़्ज़ा में हुए ताज़ा हमलों के बाद यह संख्या आठ सौ पच्चीस हो गयी है।
उनका कहना था कि शुक्रवार तड़के दक्षिणी ग़ज़्ज़ा के पूर्वी ख़ान यूनुस में इस्राईली युद्धक विमानों ने एक घर को निशाना बनाया जिसमें एक फ़िलिस्तीनी शहीद हो गया।
स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता का कहना है कि बृहस्पतिवार को उत्तरी ग़ज़्ज़ा के बैते लाहिया में ज़ायोनी शासन के युद्धक विमानों की बमबारी में घायल होने वाला एक 24 वर्षीय युवक महमूद असअद शुक्रवार को शहीद हो गया। 
इस्राईली सैनिकों के पाश्विक हमलों का फ़िलिस्तीनी प्रतिरोधकर्ता मुंहतोड़ उत्तर दे रहे हैं। फ़िलिस्तीन के जेहादे इस्लामी आंदोलन की सैन्य शाखा अल क़ुद्स ब्रिगेड ने बृहस्पतिवार से एक अभियान आरंभ किया है जिसका नाम है परिवेष्टन का समापन। इस अभियान के अंतर्गत फ़िलिस्तीनी प्रतिरोधकर्ताओं ने तेल अवीव सहित विभिन्न ज़ायोनी नगरों पर 115 मीज़ाइल बरसाये।
अल क़ुद्स ब्रिगेड ने अपनी साईट पर कहा कि “परिवेष्टन का समापन” अभियान में तेल अवीव, उसदूद, बेरे सबअ, असक़लान और ग़ेलाफ़ बस्तियों पर विभिन्न प्रकार के 115 मीज़ाइल फ़ायर किये गये। बयान में कहा गया है कि यह कार्यवाही शुजाइया और ख़ेज़ाआ के जनसंहार का बदला है। 
ज्ञात रहे कि ग़ज़्ज़ा पर इस्राईल के पाश्विक हमलों के आरंभ से अब तक फ़िलिस्तीनी प्रतिरोधकर्ता इस्राईल पर 1700 मीज़ाइलें बरसा चुके हैं। इससे पूर्व हमास की सैन्य शाखा इज़्ज़ुद्दीन क़स्साम ब्रिगेड के संघर्षकर्ताओं ने ग़ज़्ज़ा के पूर्वी क्षेत्र तुफ़्फ़ाह में आठ इस्राइली सैनिकों को मार गिराया था।


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

ज़ियारते आशूरा की फ़ज़ीलत इस्राईल और ज़ायोनियों ने 50 साल दुआ की तब बिन सलमान जैसा दोस्त मिला : हारेत्ज़ आले सऊद की हैवानियत, जमाल की हत्या का आदेश देकर कहा, इस कुत्ते का सर मेरे पास ले आना इराक से अमेरिकी सेना को निकालना प्रधानमंत्री की प्राथमिकता में शामिल, बुधवार को संसद का अधिवेशन भारत और ईरान मिलकर बनाएंगे खुद का सैटेलाइट नेविगेशन सिस्टम ! ईरान - इराक बॉर्डर पर पहुंचे महमूद अलवी, ज़ायरीन पर आतंकी हमलों की योजना विफल सऊदी शासक की सच्चाई पर शक नहीं लेकिन 'पूर्वनियोजित थी जमाल ख़ाशुक़जी की हत्या : अर्दोग़ान जमाल ख़ाशुक़जी के परिवार के लिए हत्यारों ने भेजा शोक संदेश तेहरान और रियाज़ के बीच मध्यस्था को तैयार, पाकिस्तान को आर्थिक सहायता दे सऊदी अरब : इमरान खान मुख्तार हन्नानी का बिन सलमान पर कड़ा कटाक्ष, सच्चा लीडर खुद को बचने के लिए अपने साथियों की भेंट नहीं देता ! आले सऊद की दरिंदगी, रसूल स.अ. के सहाबी मआज़ बिन जबल की बनाई यमन की ऐतिहासिक मस्जिद को किया शहीद! जमाल ख़ाशुक़जी की हत्या दुखदायी, लेकिन हमे पैसों की ज़रूरत : इमरान खान पाकिस्तान, क़तर की सिफारिश पर तालेबान लीडर मुल्ला बरादर जेल से आज़ाद ईरान की मांग, सऊदी अरब को मानवाधिकार परिषद से निकाले संयुक्त राष्ट्र इस्लामी जगत से सऊदी अरब को किनारे लगा खुद नेतृत्व चाहता है तुर्की : गार्डियन