Saturday - 2018 Oct 20
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 55451
Date of publication : 12/7/2014 23:8
Hit : 625

ग़ज़्ज़ा पर इस्राईली हमले के जवाब में फ़िलिस्तीनियां का करारा जवाब।

गज़्ज़ा पर इस्राईल के पाश्विक आक्रमणों के बाद फिलिस्तीनियों जियालों ने व्याक स्तर पर जवाबी कार्यवाही आरंभ कर दी है। गज़्ज़ा पर इस्राईल के पाश्विक आक्रमणों के बाद फिलिस्तीनियों जियालों ने व्याक स्तर पर जवाबी कार्यवाही आरंभ कर दी है। ताजा समाचारों के अनुसार फिलिस्तीनियों ने ग़ज़्ज़ा में इस्राईली सेना का एक ड्रोन विमान गिरा लिया है जबकि कई यहूदी बस्तियों में कस्साम बिग्रेड के मिसाइल गिरे जिससे इस्रालियों में भय व आतंक फैल गया।
इसी मध्य लेबनान से इस्राईल में दो मिसाइल फायर किये गये। इस्राईली सूत्रों के अनुसार दोनों राकेट, काट्यूशा प्रकार के थे। इस्राईली संचार माध्यमों के अनुसार दोनों राकेट क्रेयाद शमूना नामक क्षेत्र में गिरे। लेबनानी संचार माध्यमों के अनुसार प्रातः छे बजकर तीस मिनट पर लेबनान के हसबिया नामक क्षेत्र से दो राकेट अवैध अधिकृत फिलिस्तीन में फायर किये गये।
इन राकेटों से होने वाले नुकसान के बारे में कोई रिपोर्ट प्राप्त नहीं हुई है।
इसी मध्य अलमयादीन टीवी चैनल के अनुसार ग़ज़्ज़ा में फ़िलिस्तीनी प्रतिरोध ने कहा है कि ज़ायोनी शासन के हमलों के जवाब में इस क्षेत्र में एक इस्राईली ड्रोन को मार गिराया है। इस रिपोर्ट के अनुसार फ़िलिस्तीन के प्रतिरोध के जियालों ने इसी प्रकार इस्राईली कमान्डो के ग़ज़्ज़ा की बंदरगाह में घुसपैठ करने की कोशिश को नाकाम बना दिया है।
इस बीच ग़ज़्ज़ा पर इस्राईल के प्रक्षेपास्त्रिक हमलों के क्रम में शुक्रवार की सुबह इस्राईली युद्धक विमानों ने रफ़ह पर बमबारी की जिसमें कई फ़िलिस्तीनी शहीद या घायल हुए हैं। ग़ज़्ज़ा पर मंगलवार से इस्राईल के पाश्विक हमलों में अब तक 107 फ़िलिस्तीनी शहीद हो चुके हैं।
इसी प्रकार इस्राईल के हवाई हमलों में 150 घर ध्वस्त और 900 फ़िलिस्तीनी बेघर हो गए हैं। ग़ज्ज़ा पट्टी पर इस्राईली युद्धक विमानों के निरंतर हमलों के बीच संयुक्त राष्ट्र संघ के महासचिव बान कीमून ने दोनों पक्षों से युद्ध विराम की एक कमज़ोर सी अपील की है।
इस्राईली प्रधान मंत्री बिंजामिन नेतनयाहू ने बान कीमून की अपील को अनसुना करते हुए कहा है कि अभी युद्ध विराम की बात उनके विचाराधीन भी नहीं है और इस्राईली सेना फ़िलिस्तीनियों के ख़िलाफ़ अपना अभियान जारी रखेगी जो लम्बा भी खिंच सकता है।
इस बीच, विश्व स्वास्थ्य संगठन डब्लयू एच ओ ने एक बयान जारी करके ग़ज्ज़ा में दवाईयों की कमी और अस्पतालों में जनरेटरों के लिए ईंधन समाप्त हो जाने पर गहरी चिंता जताई है।
डब्लयू एच ओ का कहना है कि अगर इस्राईल ने ग़ज्ज़ा की जनता के ख़िलाफ़ अपने वायु हमले नहीं रोके तो वहां मानवीय त्रासदि पैदा होने की आशंका है।
जहां एक ओर फ़िलिस्तीनियों के खिलाफ़ ज़ायोनी शासन के व्यापक हमलों को लेकर विश्व समुदाय और दुनिया भर के मुसलमानों में रोष व्याप्त है वहीं क्षेत्र की अरब सरकारें हमेशा की तरह चुप्पी साधे हुए हैं, बल्कि उनमें से कुछ तो फ़िलिस्तीनियों के ख़िलाफ़ साज़िश में अमरीका और इस्राईल का साथ दे रही हैं।


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :