Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 196851
Date of publication : 6/12/2018 16:48
Hit : 234

चाहबहार आतंकी हमले के ज़िम्मेदारों को चुन चुन कर मारेंगे : आईआरजीसी

इन हमलों से जुड़े आतंकी संगठनों का संबंध विशेषरूप से आले सऊद की एजेंसियों से है जो हमेशा यही प्रयास करते रहे हैं कि इस क्षेत्र को अशांत करें तथा ईरान में अराजकता फैलाएं । सरदार रमज़ान ने कहा कि हम इस आतंकी हमले की जड़ों तक जाएंगे और इस साज़िश में शामिल रहे लोगों को छांट छांट कर दण्डित करेंगे ।
विलायत पोर्टल : प्राप्त जानकारी के अनुसार ईरान की आईआरजीसी बल के प्रवक्ता सरदार रमज़ान ने चाबहार आतंकी हमले पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि इन हमलों से जुड़े आतंकी संगठनों का संबंध विशेषरूप से आले सऊद की एजेंसियों से है जो हमेशा यही प्रयास करते रहे हैं कि इस क्षेत्र को अशांत करें तथा ईरान में अराजकता फैलाएं । सरदार रमज़ान ने कहा कि हम इस आतंकी हमले की जड़ों तक जाएंगे और इस साज़िश में शामिल रहे लोगों को छांट छांट कर दण्डित करेंगे । सरदार रमज़ान ने इस आतंकी घटना का विवरण देते हुए कहा कि एक गाडी में सवार आत्मघाती हमलावर पुलिस मुख्यालय में घुसपैठ करने की फ़िराक़ में था लेकिन वह अपने उद्देश्य में सफल नहीं हो पाया इस हमले में कुछ पुलिसकर्मी शहीद वहीँ कई अन्य घायल हो गए हैं ।
......................


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

पैग़म्बर स.अ. की सीरत और इमाम ख़ुमैनी र.अ. की विचारधारा शिम्र मर गया तो क्या हुआ, नस्लें तो आज भी बाक़ी है!! इमाम ख़ुमैनी र.ह. और इस्लामी इंक़ेलाब की लोकतांत्रिक जड़ें हज़रत फ़ातिमा ज़हरा स.अ. के घर में आग लगाने वाले कौन थे? अहले सुन्नत की किताबों से एक बेटी ऐसी भी.... फ़र्ज़ी यूनिवर्सिटी स्थापित कर भारतीय छात्रों को गुमराह कर रही है अमेरिकी सरकार । वह एक मां थी... क़ुर्आन को ज़हर बता मस्जिदें बंद कराने का दम भरने वाले डच नेता ने अपनाया इस्लाम । तुर्की के सहयोग से इदलिब पहुँच रहे हैं हज़ारो आतंकी । आयतुल्लाह सीस्तानी की दो टूक , इराक की धरती को किसी भी देश के खिलाफ प्रयोग नहीं होने देंगे । ईरान विरोधी किसी भी सिस्टम का हिस्सा नहीं बनेंगे : इराक सीरिया की शांति और स्थायित्व ईरान का अहम् उद्देश्य, दमिश्क़ और तेहरान के संबंधों में और मज़बूती के इच्छुक : रूहानी आयतुल्लाह सीस्तानी से मुलाक़ात के लिए संयुक्त राष्ट्र की विशेष दूत नजफ़ पहुंची इस्लामी इंक़ेलाब की सुरक्षा ज़रूरी , आंतरिक और बाह्र्री दुश्मन कर रहे हैं षड्यंत्र : आयतुल्लाह जन्नती आख़ेरत में अंधेपन का क्या मतलब है....