Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 196825
Date of publication : 5/12/2018 15:57
Hit : 185

इराक के सुन्नी मुफ़्ती को दिया क़ासिम सुलेमानी ने बेहतरीन उपहार

दाइश के विरुद्ध संघर्ष में मुफ़्ती शैख़ महदी के किरदार की सराहना कर उन्हें उपहार स्वरूप इमाम अली अ.स. की तलवार ज़ुल्फ़ेक़ार की प्रतिकृति भेंट करते हुए क़ासिम सुलेमानी ने कहा कि इमाम अली अ.स. की तलवार अदालत और फ़िलिस्तीन की आज़ादी के लिए जज़्बों की सच्चाई की प्रतीक है ।
विलायत पोर्टल : प्राप्त जानकारी के अनुसार साम्राज्यवादी शक्तियों के हितों को साधने के लिए मिडिल ईस्ट में खून की नदियां बहाने वाले वहाबी आतंकी संगठन आईएसआईएस के विरुद्ध संघर्ष के हीरो ईरान की आईआरजीसी बल की क़ुद्स ब्रिगेड के प्रमुख मेजर जनरल क़ासिम सुलेमानी और इराक स्वंयसेवी बल हश्दुश शअबी के उप प्रमुख अबू महदी मुहंदिस ने इराक के वरिष्ठ सुन्नी धर्मगुरु मुफ़्ती शैख़ महदी समीदई से मुलाक़ात की । रिपोर्ट के अनुसार इस मुलाक़ात में प्रतिरोधी दलों और प्रतिरोध के केंद्र को मुफ़्ती साहब के समर्थन महत्त्व और ज़रूरत पर विचार विमर्श हुआ सूत्रों के अनुसार मेजर जनरल क़ासिम सुलेमानी ने दाइश के विरुद्ध संघर्ष में मुफ़्ती शैख़ महदी के किरदार की सराहना करते हुए उन्हें उपहार स्वरूप इमाम अली अ.स. की तलवार ज़ुल्फ़ेक़ार की प्रतिकृति भेंट की, क़ासिम सुलेमानी ने कहा कि इमाम अली अ.स. की तलवार अदालत और फिलिस्तीन की आज़ादी के लिए जज़्बों की सच्चाई की प्रतीक है ।
................................


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

पैग़म्बर स.अ. की सीरत और इमाम ख़ुमैनी र.अ. की विचारधारा शिम्र मर गया तो क्या हुआ, नस्लें तो आज भी बाक़ी है!! इमाम ख़ुमैनी र.ह. और इस्लामी इंक़ेलाब की लोकतांत्रिक जड़ें हज़रत फ़ातिमा ज़हरा स.अ. के घर में आग लगाने वाले कौन थे? अहले सुन्नत की किताबों से एक बेटी ऐसी भी.... फ़र्ज़ी यूनिवर्सिटी स्थापित कर भारतीय छात्रों को गुमराह कर रही है अमेरिकी सरकार । वह एक मां थी... क़ुर्आन को ज़हर बता मस्जिदें बंद कराने का दम भरने वाले डच नेता ने अपनाया इस्लाम । तुर्की के सहयोग से इदलिब पहुँच रहे हैं हज़ारो आतंकी । आयतुल्लाह सीस्तानी की दो टूक , इराक की धरती को किसी भी देश के खिलाफ प्रयोग नहीं होने देंगे । ईरान विरोधी किसी भी सिस्टम का हिस्सा नहीं बनेंगे : इराक सीरिया की शांति और स्थायित्व ईरान का अहम् उद्देश्य, दमिश्क़ और तेहरान के संबंधों में और मज़बूती के इच्छुक : रूहानी आयतुल्लाह सीस्तानी से मुलाक़ात के लिए संयुक्त राष्ट्र की विशेष दूत नजफ़ पहुंची इस्लामी इंक़ेलाब की सुरक्षा ज़रूरी , आंतरिक और बाह्र्री दुश्मन कर रहे हैं षड्यंत्र : आयतुल्लाह जन्नती आख़ेरत में अंधेपन का क्या मतलब है....