Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 194836
Date of publication : 5/8/2018 14:53
Hit : 249

वेनेज़ुएला , राष्ट्रपति पर क़ातिलाना हमला, अमेरिका पर संदेह

इस हमले की जिम्मेदारी 'नेशनल मूवमेंट ऑफ सॉल्जर्स' ने लेते हुए कहा है कि उन्होंने ने ही अटैक के लिए दो ड्रोन रवाना किए थे, लेकिन स्नाइपर्स ने उन्हें नीचे गिरा दिया।

विलायत पोर्टल :  प्राप्त जानकर के अनुसार वेनेजुएला के राष्ट्रपति निकोलस मादुरो शनिवार को एक मिलिट्री इवेंट में स्पिच दे रहे थे, तभी ड्रोन से उन पर अटैक की कोशिश हुई है। सूत्रों के मुताबिक, विस्फोट से भरे दो ड्रोन ने उन पर अटैक की कोशिश की, हालांकि वे इस हमले में बच गए हैं,वेनेजुएला ने इसके लिए अमेरिका और कोलंबिया को जिम्मेदार ठहराया है। वेनेजुएला सरकार के मुताबिक, कोलंबिया या अमेरिकी राज्य फ्लोरिडा से यह ड्रोन उड़े थे। वेनेजुएला मीडिया ने उस मिलिट्री का इवेंट का वीडियो भी जारी किया है, जिसमें दिखाया गया है कि मादुरो और अन्य लोग मंच पर खड़े होकर एकदम से चौंक जाते हैं, जबकि कुछ सैनिक ड्रोन अटैक के डर से दौड़ना शुरू कर देते हैं। उसी दौरान वेनेजुएला में लाइव टेलीकास्ट भी चल रहा था, वह भी कुछ देर बाद इंटरप्ट हो जाता है। हालांकि, इस हमले में मादुरो को बचा लिया गया, लेकिन उनके 7 गार्ड्स को चोटें आई हैं। मादुरो ने वेनेजुएला प्रेस को संबोधित करते हुए कहा, 'यह हत्या की कोशिश थी, वह मुझे मारने की कोशिश कर रहे थे।' नेशनल मूवमेंट ऑफ सॉल्जर्स ने ली जिम्मेदारी वहीं, इस हमले की जिम्मेदारी 'नेशनल मूवमेंट ऑफ सॉल्जर्स' ने लेते हुए कहा है कि उन्होंने ने ही अटैक के लिए दो ड्रोन रवाना किए थे, लेकिन स्नाइपर्स ने उन्हें नीचे गिरा दिया। मादुरो पर अटैक करने वाले ग्रुप ने कहा, 'हमने दिखाया कि वे कमजोर हैं, हमें आज सफलता नहीं मिली, लेकिन यह सिर्फ समय का सवाल है'। इस ग्रुप की स्थापना 2014 में वेनेजुएला में मादुरो के खिलाफ सभी ग्रुप्स को एक साथ लाने के उद्देश्य से की गई थी। मादुरो ने ठहराया अमेरिका को जिम्मेदार वेनेजुएला के राष्ट्रपति ने इस अटैक के लिए कोलंबिया के राष्ट्रपति को दोषी ठहराया है। उन्होंने कहा कि इस हमले के पीछे कोलंबियाई राष्ट्रपति जुआन मैन्युएल सांटोस है। बाद में मादूरो ने अमेरिकी राज्य फ्लोरिडा को भी इसके लिए जिम्मेदार ठहराया। कोलंबियाई अधिकारियों ने इन आरोपों को 'बेतुका' कहा है, वहीं, एक वरिष्ठ अमेरिकी विदेश विभाग के अधिकारी ने कहा कि वे "सावधानीपूर्वक इस पूरी स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं। .........................


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

अफ़ग़ानिस्तान में शांति स्थापना के लिए ईरान का किरदार बहुत महत्वपूर्ण । वालेदैन के हक़ में दुआ हिज़्बुल्लाह के खिलाफ युद्ध की आग भड़काने पर तुला इस्राईल, मोसाद और ज़ायोनी सेना आमने सामने इराक की दो टूक, किसी भी देश के ख़िलाफ़ देश की धरती का प्रयोग नहीं होने देंगे फ़्रांस के दो लाख यहूदी नागरिकों को स्वीकार करेगा अवैध राष्ट्र इस्राईल इस्राईल का चप्पा चप्पा हमारी की मिसाइलों के निशाने पर : हिज़्बुल्लाह जौलान हाइट्स से लेकर अल जलील तक इस्राईल का काल बन गई है नौजबा मूवमेंट । हम न होते तो फ़ारसी बोलते आले सऊद, अमेरिका के बिना सऊदी अरब कुछ नहीं : लिंडसे ग्राहम आले सऊद की बेशर्मी, लापता हाजी सऊदी जेलों में मौजूद ट्रम्प पर मंडला रहा है महाभियोग और जेल जाने का ख़तरा । जॉर्डन के बाद संयुक्त अरब अमीरात ने दमिश्क़ से राजनयिक संबंध बहाल करने की इच्छा जताई क़ुर्आन की तिलावत की फ़ज़ीलत और उसका सवाब ट्रम्प को फ्रांस की नसीहत, हमारे आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप न करे अमेरिका । तुर्की अरब जगत के लिए सबसे बड़ा ख़तरा : अब्दुल ख़ालिक़ अब्दुल्लाह आतंकवाद से संघर्ष का दावा करने वाला अमेरिका शरणार्थियों पर हमले बंद करे : मलाला युसुफ़ज़ई