Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 194670
Date of publication : 26/7/2018 16:3
Hit : 397

रूसी बमवर्षकों के जवाब में ब्रिटिश युद्धक विमानों ने भरी उड़ान।

ब्रिटिश सेना के अनुसार रूसी विमान नाटो के क्षेत्र में दाखिल नहीं हुए और दोनों पक्षों में किसी प्रकार का टकराव नहीं हुआ ।

विलायत पोर्टल :   प्राप्त जानकारी के अनुसार ब्रिटिश सेना ने बयान जारी करते हुए कहा है रोमानिया में तैनात उसके युद्धक विमानों ने नाटो के अधीनस्थ क्षेत्र के पास मंडलाते रूसी विमानों को भागने के लिए आपातकालीन उड़ाने भरीं । रिपोर्ट के अनुसार काला सागर क्षेत्र में नाटो के ठिकाने के निकट रूस के सैन्य अभियान के जवाब में ब्रिटिश विमानों ने रूस के सुखोई 24 विमानों को चेतावनी देते हुए उड़ान भरी । ब्रिटिश सेना के अनुसार रूसी विमान नाटो के क्षेत्र में दाखिल नहीं हुए और दोनों पक्षों में किसी प्रकार का टकराव नहीं हुआ ।
.......................


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

ज़ियारते आशूरा की फ़ज़ीलत इस्राईल और ज़ायोनियों ने 50 साल दुआ की तब बिन सलमान जैसा दोस्त मिला : हारेत्ज़ आले सऊद की हैवानियत, जमाल की हत्या का आदेश देकर कहा, इस कुत्ते का सर मेरे पास ले आना इराक से अमेरिकी सेना को निकालना प्रधानमंत्री की प्राथमिकता में शामिल, बुधवार को संसद का अधिवेशन भारत और ईरान मिलकर बनाएंगे खुद का सैटेलाइट नेविगेशन सिस्टम ! ईरान - इराक बॉर्डर पर पहुंचे महमूद अलवी, ज़ायरीन पर आतंकी हमलों की योजना विफल सऊदी शासक की सच्चाई पर शक नहीं लेकिन 'पूर्वनियोजित थी जमाल ख़ाशुक़जी की हत्या : अर्दोग़ान जमाल ख़ाशुक़जी के परिवार के लिए हत्यारों ने भेजा शोक संदेश तेहरान और रियाज़ के बीच मध्यस्था को तैयार, पाकिस्तान को आर्थिक सहायता दे सऊदी अरब : इमरान खान मुख्तार हन्नानी का बिन सलमान पर कड़ा कटाक्ष, सच्चा लीडर खुद को बचने के लिए अपने साथियों की भेंट नहीं देता ! आले सऊद की दरिंदगी, रसूल स.अ. के सहाबी मआज़ बिन जबल की बनाई यमन की ऐतिहासिक मस्जिद को किया शहीद! जमाल ख़ाशुक़जी की हत्या दुखदायी, लेकिन हमे पैसों की ज़रूरत : इमरान खान पाकिस्तान, क़तर की सिफारिश पर तालेबान लीडर मुल्ला बरादर जेल से आज़ाद ईरान की मांग, सऊदी अरब को मानवाधिकार परिषद से निकाले संयुक्त राष्ट्र इस्लामी जगत से सऊदी अरब को किनारे लगा खुद नेतृत्व चाहता है तुर्की : गार्डियन