Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 194668
Date of publication : 26/7/2018 14:51
Hit : 326

आतंकी संगठनों में फिर से प्राण फूंकने का सपना संजो रहे हैं आतंक के सौदागर : बश्शार असद

नफरत के सौदागर कभी भी अपने उद्देश्यों में सफल नहीं होंगे इन घटनाओ से सिर्फ आम लोगों का खून बहेगा और देश का विनाश होगा इस के अलावा कुछ हासिल नहीं होगा ।

विलायत पोर्टल :  प्राप्त जानकारी के अनुसार सीरिया के राष्ट्रपति बश्शार असद ने स्वेदा में हुए सिलसिलेवार बम धमाकों और इस्राईल द्वारा वायु सेना के युद्धक विमान को निशाना बनाये जाने पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि आतंकवाद के समर्थक देश एक बार फिर आतंकियों को संगठित कर देश में खून खराबे का बाज़ार गरम करना चाहते हैं ताकि इस स्थिति का अपने राजनैतिक हित साधने के लिए उपयोग कर सकें । उन्होंने कहा कि नफरत के सौदागर कभी भी अपने उद्देश्यों में सफल नहीं होंगे इन घटनाओ से सिर्फ आम लोगों का खून बहेगा और देश का विनाश होगा इस के अलावा कुछ हासिल नहीं होगा । बश्शार असद ने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के विशेष दूत से भेंट करते हुए सीरिया के विस्थापित लोगों की देश वापसी पर चर्चा करते हुए कहा कि हम चाहते हैं सीरिया का एक एक बेटा अपने देश पलट कर आए हम विस्थापितों को फिर से बसाने के लिए मिलने वाली हर सहायता को स्वीकार करेंगे।

.......................


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

अफ़ग़ानिस्तान में शांति स्थापना के लिए ईरान का किरदार बहुत महत्वपूर्ण । वालेदैन के हक़ में दुआ हिज़्बुल्लाह के खिलाफ युद्ध की आग भड़काने पर तुला इस्राईल, मोसाद और ज़ायोनी सेना आमने सामने इराक की दो टूक, किसी भी देश के ख़िलाफ़ देश की धरती का प्रयोग नहीं होने देंगे फ़्रांस के दो लाख यहूदी नागरिकों को स्वीकार करेगा अवैध राष्ट्र इस्राईल इस्राईल का चप्पा चप्पा हमारी की मिसाइलों के निशाने पर : हिज़्बुल्लाह जौलान हाइट्स से लेकर अल जलील तक इस्राईल का काल बन गई है नौजबा मूवमेंट । हम न होते तो फ़ारसी बोलते आले सऊद, अमेरिका के बिना सऊदी अरब कुछ नहीं : लिंडसे ग्राहम आले सऊद की बेशर्मी, लापता हाजी सऊदी जेलों में मौजूद ट्रम्प पर मंडला रहा है महाभियोग और जेल जाने का ख़तरा । जॉर्डन के बाद संयुक्त अरब अमीरात ने दमिश्क़ से राजनयिक संबंध बहाल करने की इच्छा जताई क़ुर्आन की तिलावत की फ़ज़ीलत और उसका सवाब ट्रम्प को फ्रांस की नसीहत, हमारे आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप न करे अमेरिका । तुर्की अरब जगत के लिए सबसे बड़ा ख़तरा : अब्दुल ख़ालिक़ अब्दुल्लाह आतंकवाद से संघर्ष का दावा करने वाला अमेरिका शरणार्थियों पर हमले बंद करे : मलाला युसुफ़ज़ई