Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 194089
Date of publication : 3/6/2018 12:37
Hit : 446

दरिंदगी पर उतरे वहाबी आतंकी, एक ही परिवार के 12 लोगों को मौत के घाट उतारा !

हाबी आतंकियों ने इस गांव पर घात लगाकर हमला किया तथा एक ही परिवार के 12 लोगों को मौत के घात उतार दिया
विलायत पोर्टल : प्राप्त जानकारी के अनुसार सीरिया, लीबिया से लेकर इराक और अफ़ग़ानिस्तान तक साम्राज्यवादी शक्तियों के इशारों पर खून की हौली खेलने वाले वहाबी आतंकी इराक में पराजय के बाद भी अपने स्लीपर सेलों की सहायता से इराक वासियों के लिए दुविधा का कारण बने हुए हैं। सूत्रों के अनुसार ऐसी ही एक घटना में इराक के सलाहुद्दीन प्रान्त के अल फ़रहातिया में एक ही परिवार के 12 लोगों की हत्या कर दी । रिपोर्ट के अनुसार वहाबी आतंकियों ने इस गांव पर घात लगाकर हमला किया तथा एक ही परिवार के 12 लोगों को मौत के घात उतार दिया, ज्ञात रहे कि यह क्षेत्र रमादी के निकट स्थित हैं जहाँ कभी वहाबी आतंकियों का अच्छा खासा प्रभाव हुआ करता था ।
.............................


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

राष्ट्रपति निकोलस मादुरो का ऐलान, अमेरिका के साथ कोई संबंध नहीं रखेगा वेनेज़ोएला पेरिस की आग की अनदेखी कर वेनेज़ोएला को सीख दे रहा है फ्रांस । रूस की अमेरिका को कड़ी चेतावनी, वेनेज़ोएला के मामलों में सैन्य हस्तक्षेप बर्दाश्त नहीं सरदार क़ासिम सुलेमानी को फॉरेन पॉलिसी के सर्वश्रष्ठ थिंकर्स में शामिल। आयतुल्लाह सीस्तानी से मिलने पहुँच संयुक्त राष्ट्र का प्रतिनिधि दल ईरान और इस्राईल में छिड़ सकता है युद्ध, उकसावे की कार्रवाई कर रहा है तल अवीव। अरब शासकों को ट्रम्प का आदेश, दमिश्क़ से संबंध सुधारो। इस्राईल के हमले नहीं रुके तो दमिश्क़ तल अवीव एयरपोर्ट को निशाना बनाने के लिए तैयार : बश्शार क़ुद्स को राजधानी बना कर अलग फ़िलिस्तीन राष्ट्र का गठन हो : चीन अय्याश सऊदी युवराज बिन सलमान ने माँ के बाद अब अपने भाई को बंदी बनाया। क़ासिम सुलेमानी के आदेश पर सीरिया ने इस्राईल पर मिसाइल दाग़े : ज़ायोनी मीडिया यूरोपीय यूनियन के ख़िलाफ़ बश्शार असद का बड़ा क़दम, राजनयिकों का विशेष वीज़ा किया रद्द। अमेरिकी सेना ने माना, इराक युद्ध का एकमात्र विजेता है ईरान । बर्नी सैंडर्स की मांग, सऊदी तानाशाही की नकेल कसे विश्व समुदाय । ईरान विरोधी बैठकों से कुछ हासिल नहीं, यादगारी तस्वीरें लेते रहे नेतन्याहू ।