Sunday - 2018 June 24
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 194082
Date of publication : 3/6/2018 10:27
Hit : 208

ख़ाना ए काबा और मदीना का संचालन करने योग्य नहीं हैं आले सऊद !

सऊदी अरब के टैक्स की मार को देखते हुए आम मुसलमानों के लिए हज करना बहुत मुश्किल हो गया है, आले सऊद ने योजनाबद्ध तरीके से चलते हुए हज को आम मुसलमानों में भेदभाव और अलग अलग देशों और क़बीलों के बीच बाँट दिया हैं । हज़ारों लोग हैं जो बहुत मुश्किलों से हज पर जाने के लिए सेलेक्ट हो भी जाते है वह आले सऊद की नीतियों और उनकी ओर से हाजियों पर पड़ने वाली टैक्स की मार से हज से महरूम रह जाते हैं।
विलायत पोर्टल :  प्राप्त जानकारी के अनुसार ख़ाना ए काबा और मदीना शरीफ के संचालन पर नज़र रखने वाली अंतर्राष्ट्रीय कमेटी अल हरमैन ने इस साल के शुरू में ही मलेशिया में हरमैन के संचालन को लेकर दिशा निर्देश जारी करते हुए कहा था कि हम कोशिश करेंगे कि पवित्र स्थानों को राजनैतिक हित साधने में प्रयोग न किया जाए । अंतर्राष्ट्रीय कमेटी अल हरमैन शरीफैन ने कहा कि आले सऊद ने हज को अपने लिए मुख्य आर्थिक स्रोत बनाते हुए मुस्लिम समुदाय के बीच इन्साफ से काम लेने में नाकाम रहे हैं । कमेटी ने कहा कि हज यात्रा और हाजियों पर बढ़ती सऊदी अरब के टैक्स की मार को देखते हुए आम मुसलमानों के लिए हज करना बहुत मुश्किल हो गया है, आले सऊद ने योजनाबद्ध तरीके से चलते हुए हज को आम मुसलमानों में भेदभाव और अलग अलग देशों और क़बीलों के बीच बाँट दिया हैं । हज़ारों लोग हैं जो बहुत मुश्किलों से हज पर जाने के लिए सेलेक्ट हो भी जाते है वह आले सऊद की नीतियों और उनकी ओर से हाजियों पर पड़ने वाली टैक्स की मार से हज से महरूम रह जाते हैं।
.............................


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :