Friday - 2018 June 22
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 194045
Date of publication : 30/5/2018 14:17
Hit : 418

बहरैन में शिया समुदाय की दयनीय स्थिति पर अमेरिका ने भी मोहर लगाई ।

बहरैन में शिया समुदाय की स्थिति बहुत दयनीय है, ग़ैर क़ानूनी गिरफ़्तारी, शिया धर्मगुरुओं के खिलाफ दिखावटी अदालती कार्रवाईयां और बिना किसी जुर्म के सजा सुनाना आम बात हो गई है । शिया धर्मगुरुओं को मस्जिदों में नहीं आने दिया जा रहा, कुछ के बोलने पर पाबंदियां है तो कुछ को नमाज़े जुमा पढ़ाने की भी इजाज़त नहीं है,उन्हें सरकारी नौकरियों में भी जगह नहीं दी जा रही है ।
विलायत पोर्टल :  प्राप्त जानकारी के अनुसार अमेरिका और आले सऊद की कठपुतली आले खलीफा तानाशाही ने देश के बहुसंख्यक शिया समाज के खिलाफ कितना भेदभावपूर्ण और अत्याचारी रवैया अपनाया हुआ इस बात को अमेरिकी विदेश मंत्रालय की उस रिपोर्ट से भी समझा जा सकता है जिस में कहा गया है कि बहरैन में शिया समाज की स्थिति बहुत बदतर हो गई है । दुनिया भर में पाई जाने वाली धार्मिक आज़ादी का मूल्यांकन करने वाली इस रिपोर्ट में बहरैन का ज़िक्र करते हुए कहा गया है कि बहरैन में शिया समुदाय की स्थिति बहुत दयनीय है, ग़ैर क़ानूनी गिरफ़्तारी, शिया धर्मगुरुओं के खिलाफ दिखावटी अदालती कार्रवाईयां और बिना किसी जुर्म के सजा सुनाना आम बात हो गई है । शिया धर्मगुरुओं को मस्जिदों में नहीं आने दिया जा रहा, कुछ के बोलने पर पाबंदियां है तो कुछ को नमाज़े जुमा पढ़ाने की भी इजाज़त नहीं है,उन्हें सरकारी नौकरियों में भी जगह नहीं दी जा रही है ।
...........................


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :