Tuesday - 2018 June 19
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 194041
Date of publication : 30/5/2018 12:56
Hit : 259

यमन युद्ध की समाप्ति नहीं, बल्कि बंदरगाहों पर क़ब्ज़ा चाहते हैं आले सऊद और अमीरात : वाशिंगटन पोस्ट

सऊदी अरब ने हदीदह बंदरगाह पर क़ब्ज़े के लिए नई मुहिम छेड़ी है यहाँ उन्हें कड़े प्रतिरोध का सामना करना पड़ेगा अगर कई महीने के संघर्ष के बाद सऊदी अरब कामयाब भी हो जाए तो यमन की नाकाबंदी और इस देश तक पहुँचने वाली सहायता के कारण इस देश के हालत और बदतर हो जाएंगे ।
विलायत पोर्टल :  प्राप्त जानकारी के अनुसार अमेरिका के प्रतिष्ठित समाचार पत्र वाशिंगटन पोस्ट ने यमन के अत्यंत दयनीय हालात को लिखते हुए कहा है कि यहाँ के कम से कम 8 मिलियन लोग भुखमरी का शिकार हैं वहीँ यह देश भीषण महामारी का शिकार है, इन सब हालात के बावजूद यह देश सऊदी अरब और अरब अमीरात के भीषण और जघन्य हमलों का सामना कर रहा है। आले सऊद और संयुक्त अरब अमीरात की सेना की सहायता से यमन के भगोड़े पूर्व राष्ट्रपति के भाड़े के हत्यारों ने इस देश के बंदरगाहों पर क़ब्ज़ा करने के लिए नए सिरे से हमले शुरू कर दिए हैं । सऊदी अरब ने हदीदह बंदरगाह पर क़ब्ज़े के लिए नई मुहिम छेड़ी है यहाँ उन्हें कड़े प्रतिरोध का सामना करना पड़ेगा अगर कई महीने के संघर्ष के बाद सऊदी अरब कामयाब भी हो जाए तो यमन की नाकाबंदी और इस देश तक पहुँचने वाली सहायता के कारण इस देश के हालत और बदतर हो जाएंगे । यमन में वर्तमान स्थिति में सैन्य झड़पें बढ़ना मूर्खतापूर्ण क़दम है क्योंकि इस संकट के शांतिपूर्ण समाधान के लिए यह समय सबसे उपयुक्त है ।
...........................


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :