Sunday - 2018 May 27
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 193808
Date of publication : 17/5/2018 0:41
Hit : 4247

रॉयल पैलेस में हुई गोलीबारी में मर चुका है सऊदी अरब का युवराज मोहम्मद बिन सलमान ?

..........................इन सारी अटकलों पर जो खबर विश्वास की मोहर लगाती है वह है अरब देशों की एक ख़ुफ़िया एजेंसी की रिपोर्ट जिस के अनुसार ख़ुफ़िया एजेंसी ने अपनी सरकार को रिपोर्ट सौंपते हुए यक़ीन के साथ कहा कि 21 अप्रैल की घटना में मोहम्मद बिन सलमान को कम से कम 2 गोली लगी हैं और इस बात की सम्भावना भी है कि वह मर गया हो।
विलायत पोर्टल :  प्राप्त जानकारी के अनुसार रॉयल पैलेस में हुए गोलीबारी की घटना के बाद से सऊदी युवराज मोहम्मद बिन सलमान की गुमशुदगी पर चल रही आशंकाओं के बीच इस बात की सम्भावना जताई जा रही की वह 21 अप्रैल को हुई इस घटना में मारा जा चुका है । कहा जा रहा है कि सऊदी युवराज का लगभग एक महीने तक सार्वजानिक जीवन से दूर रहना स्वभाविक नहीं है, मोहम्मद बिन सलमान इस से पहले तक अलग अलग चैनलों को इंटरव्यू देने में विख्यात था तथा ऐसा कोई दिन नहीं गुज़रता था जब उसका कोई इंटरव्यू या किसी प्रख्यात मैगज़ीन में कोई तस्वीर न हो, लेकिन इस घटना के 27 दिन बीत जाने के बाद भी मोहम्मद बिन सलमान किसी प्रेस कांफ्रेंस, या किसी सार्वजानिक मंच पर नज़र नहीं आया ।
पूर्व सऊदी युवराज मोहम्मद बिन नायफ जिस को मोहम्मद बिन सलमान ने अपने तानाशाह बाप और अमेरिका के समर्थन से पदमुक्त कर महल के एक कोने में नज़रबंद रखा तथा उस पर कड़ी निगरानी रख दी और उसकी कोई खबर भी बाहर नहीं आती थी आज वह उम्मीदों के विपरीत सऊदी युवराज पर निशाना साधते हुए उसे आले सऊद की सत्ता पर पकड़ कमज़ोर होने का कारण बता रहा है ।
बिन नायफ के अनुसार यमन के कारोबारी जगत ने सऊदी अरब में 100 अरब डॉलर का निवेश कर रखा है तथा अब बिन सलामन की नीतियों के कारण यह लोग सऊदी से अपना कारोबार समेटने की तैयारी कर रहे हैं, सऊदी अरब में निवेश करना सख्त हो गया है उसे समझना होगा कि लोगों और जनता के बिना कोई भूभाग देश नहीं कहला सकता । बिन सलमान ने देश के सम्मान और वजूद को दांव पर लगा दिया है, मस्जिदे अक़्सा और क़ुद्स धार्मिक, आत्मिक, राजनैतिक और भावनत्मक रूप से काबा और मस्जिदे नबवी से कम नहीं है, आज तक किसी अरब नेता ने इसकी अनदेखी नहीं की है लेकिन बिन सलमान यह सब कर रहा है हमें पता होना चाहिए कि क़ुद्स हमेशा फिलिस्तीन की राजधानी थी है और रहेगा ।
अक्खड़ और क्रूर सऊदी युवराज के खिलाफ मोहम्मद बिन नायफ का यह ट्वीट इस बात की आशंका को बल तो देता ही है कि मोहम्मद बिन सलमान की देश की सत्ता में शायद पहले सी पकड़ नहीं रह गई है । दूसरी ओर अमेरिकी विदेश मंत्री की रियाज़ यात्रा पर बिन सलमान की अनुपस्थिति भी इन आशंकाओं को बल देती है हालाँकि सऊदी अधिकारियों ने दावा किया कि उन्होंने बिन सलमान से मुलाक़ात की है लेकिन इस बात को कोई साक्ष्य है न कोई तस्वीर और न कोई आधिकारिक रिपोर्ट !
क़तर अब तक सऊदी अरब से अपने संबंध सुधारने के लिए तैयार था तथा नरम रवैया अपनाए हुए था लेकिन हाल ही में अपना रुख सख्त करते हुए उसने ऐलान कर दिया है कि वह आले सऊद की किसी भी शर्त को स्वीकारने को तैयार नहीं है, क़तर का यह रवैया भी इस बात को बल प्रदान करता है कि शायद बिन सलमान की छुट्टी हो चुकी है । अरब शासकों को सम्बोधित करते हुए ट्रम्प का एक पत्र जिस में अरब नेताओं को कुछ आदेश दिए गए थे इस आशंका को और बलवान करता है क्योंकि इस पत्र में कोई ऐसी बात भी नहीं थी जो अमेरिकी नेता इस से पहले अरब शासकों को न बता चुके हों अतः बिना किसी खास कारण के ऐसा पत्र संदेह उत्पन्न करता है और किसी घटना की ओर संकेत करता है, वहीं नए नए अमेरिकी विदेश मंत्री का बिना किसी प्रोग्राम के अचानक सऊदी अरब पहुँच जाना और इस प्रकार मीडिया से दूरी बनाए रखना भी किसी ऐसी घटना की ओर संकेत करता है ।
इन सारी अटकलों पर जो खबर विश्वास की मोहर लगाती है वह है अरब देशों की एक ख़ुफ़िया एजेंसी की रिपोर्ट जिस के अनुसार ख़ुफ़िया एजेंसी ने अपनी सरकार को रिपोर्ट सौंपते हुए यक़ीन के साथ कहा कि 21 अप्रैल की घटना में मोहम्मद बिन सलमान को कम से कम 2 गोली लगी हैं और इस बात की सम्भावना भी है कि वह मर गया हो।
 ...............


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :