Sunday - 2018 May 27
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 193764
Date of publication : 15/5/2018 16:23
Hit : 240

फिलिस्तीन इस्लामी जगत की कठिन परीक्षा, ज़ायोनी अत्याचार पर चुप्पी तोड़े विश्व समुदाय : ईरान

अपने देश पर ज़ायोनियों के अतिक्रमण और अवैध क़ब्ज़े के खिलाफ शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे फिलिस्तीनियों के क़त्ले आम में अमेरिका का भी बराबर का योगदान है जिस ने फिलिस्तीनियों के ज़ख्म पर नमक छिड़कते हुए नकबा डे पर तल अवीव से अपने दूतावास को क़ुद्स स्थान्तरित करने पर जश्न मनाया ।
विलायत पोर्टल : प्राप्त जानकारी के अनुसार ईरान ने फिलिस्तीन भर विशेष रूप से ग़ज़्ज़ा में ज़ायोनी सेना द्वारा किये गए जनसंहार की निंदा करते हुए इसे अमेरिका और ज़ायोनी राष्ट्र का संयुक्त कुकृत्य बताते हुए मानवीय और अंतरराष्ट्रीय मूल्यों का उललंघन बताया । अपने देश पर ज़ायोनियों के अतिक्रमण और अवैध क़ब्ज़े के खिलाफ शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे फिलिस्तीनियों के क़त्ले आम में अमेरिका का भी बराबर का योगदान है जिस ने फिलिस्तीनियों के ज़ख्म पर नमक छिड़कते हुए नकबा डे पर तल अवीव से अपने दूतावास को क़ुद्स स्थान्तरित करने पर जश्न मनाया । ईरान ने कहा कि हम क्षेत्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर फिलिस्तीन को हर प्रकार का समर्थन जारी रखेंगे तथा कभी भी इस रास्ते से पीछे नहीं हटेंगे । हम ग़ज़्ज़ा और फिलिस्तीन में अवैध राष्ट्र के हाथों हो रहे फिलिस्तीनियों के क़त्ले आम को मानवता के विरुद्ध क्रूर अपराध मानते हैं तथा इस संकट की घडी को इस्लामी राष्ट्रों और मुस्लिम शासकों के लिए कठिन इम्तेहान के रूप में देखते हैं ।
 ............................


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :