Monday - 2018 Sep 24
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 193031
Date of publication : 9/4/2018 7:8
Hit : 153

दैरे यासीन , ज़ायोनी आतंकियों के हाथों 400 फिलिस्तीनियों की शहादत की 70 वीं वर्षगांठ ।

इस जघन्य हत्याकांड में लगभग 400 फिलिस्तीनी मुसलमान शहीद हो गए थे ज़ायोनी आतंकी गुट आर्गन स्टर्न ने क़ुद्स के पश्चिम में स्थित दैरे यासीन पर हमला कर कम से कम 400 मुसलमानों को निर्ममता से मौत के घाट उतार दिया था ।

विलायत पोर्टल :  9 अप्रैल दैरे यासीन क़त्ले आम की 70 वीं वर्षगांठ है जिस दिन ज़ायोनी आतंकियों ने अतिगृहित क़ुद्स के निकट स्थित दैरे यासीन गाँव में फिलिस्तीनी मुसलमानों का भयंकर क़त्ले आम किया था । इस जघन्य हत्याकांड में लगभग 400 फिलिस्तीनी मुसलमान शहीद हो गए थे ज़ायोनी आतंकी गुट आर्गन स्टर्न ने क़ुद्स के पश्चिम में स्थित दैरे यासीन पर हमला कर कम से कम 400 मुसलमानों को निर्ममता से मौत के घाट उतार दिया था । ज़ायोनी आतंकी गुटों ने 9 अप्रैल 1948 को 750 की जनसँख्या रखने वाले दैरे यासीन गाँव पर हमला कर बड़ी संख्या में मुसलमान लोगों का क़त्ले आम किया । इस जघन्य हत्याकांड में ज़िंदा बच जाने वाले लोगों के अनुसार ज़ायोनी आतंकियों ने सुबह 3 बजे गाँव पर हमला शुरू किया लेकिन ज़ायोनी आतंकियों को गाँव के पहरेदारों के सामने हार का मुंह देखना पड़ा तथा 4 हमलावर मारे गए और 22 लोग घायल हो गए । स्थानीय लोगों के प्रतिरोध के बाद ज़ायोनी आतंकी गुट ने अतिगृहित क़ुद्स में स्थित अन्य आतंकी सेना हगाना से सहायता मांगी तथा नए सिरे से अगले दिन आधुनिक हथियारों से लैस हो कर दैरे यासीन पर हमला कर भारी संख्या में औरतों और बच्चों का क़त्ले आम किया । ज़ायोनी आतंकियों ने क़ुद्स के निकट स्थित बालमाख़ सैन्य अड्डे की सहायता से इस गांव पर हमला क्या इस सैन्य बेस से इस गांव पर मोर्टार दाग़े गए जिस की मदद से ज़ायोनी आतंकियों ने इस गाँव में भयानक क़त्ले आम मचाया । दिन चढ़ते चढ़ते दैरे यासीन की रक्षा के लिए कोई नहीं रह गया था तथा ज़ायोनी आतंकी भी आराम से घरों और बाज़ारों में बम और डायनामाइट बरसाते हुए दैरे यासीन पर क़ब्ज़ा करते हुए चले गए । चश्मदीद गवाहों के अनुसार ज़ायोनी आतंकियों ने बहुत से लोगों को लाइन में खड़ा कर उनके मुंह दीवारों की ओर कर दिया तथा सबकों एक साथ गोलियों से भून दिया बल्कि कई लोगों को गाड़ियों पर बांध कर क़ुद्स और आसपास के क्षेत्रों में घुमाते और नफरत और घृणा फ़ैलाने वाले नस्लभेदी नारे लगाते फिरे । दैरे यासीन के क़त्ले आम ने फिलिस्तीनी जनता के मन पर बहुत नकारात्मक प्रभाव डाला तथा इस कांड के बाद फिलिस्तीनी लोगों के मन में भय और डर बैठ गया तथा वह अपना घर परिवार छोड़ कर पडोसी देशों में शरण लेने पर विवश हो गए ।
 ...................


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :