Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 193031
Date of publication : 9/4/2018 7:8
Hit : 186

दैरे यासीन , ज़ायोनी आतंकियों के हाथों 400 फिलिस्तीनियों की शहादत की 70 वीं वर्षगांठ ।

इस जघन्य हत्याकांड में लगभग 400 फिलिस्तीनी मुसलमान शहीद हो गए थे ज़ायोनी आतंकी गुट आर्गन स्टर्न ने क़ुद्स के पश्चिम में स्थित दैरे यासीन पर हमला कर कम से कम 400 मुसलमानों को निर्ममता से मौत के घाट उतार दिया था ।
विलायत पोर्टल :  9 अप्रैल दैरे यासीन क़त्ले आम की 70 वीं वर्षगांठ है जिस दिन ज़ायोनी आतंकियों ने अतिगृहित क़ुद्स के निकट स्थित दैरे यासीन गाँव में फिलिस्तीनी मुसलमानों का भयंकर क़त्ले आम किया था । इस जघन्य हत्याकांड में लगभग 400 फिलिस्तीनी मुसलमान शहीद हो गए थे ज़ायोनी आतंकी गुट आर्गन स्टर्न ने क़ुद्स के पश्चिम में स्थित दैरे यासीन पर हमला कर कम से कम 400 मुसलमानों को निर्ममता से मौत के घाट उतार दिया था । ज़ायोनी आतंकी गुटों ने 9 अप्रैल 1948 को 750 की जनसँख्या रखने वाले दैरे यासीन गाँव पर हमला कर बड़ी संख्या में मुसलमान लोगों का क़त्ले आम किया । इस जघन्य हत्याकांड में ज़िंदा बच जाने वाले लोगों के अनुसार ज़ायोनी आतंकियों ने सुबह 3 बजे गाँव पर हमला शुरू किया लेकिन ज़ायोनी आतंकियों को गाँव के पहरेदारों के सामने हार का मुंह देखना पड़ा तथा 4 हमलावर मारे गए और 22 लोग घायल हो गए । स्थानीय लोगों के प्रतिरोध के बाद ज़ायोनी आतंकी गुट ने अतिगृहित क़ुद्स में स्थित अन्य आतंकी सेना हगाना से सहायता मांगी तथा नए सिरे से अगले दिन आधुनिक हथियारों से लैस हो कर दैरे यासीन पर हमला कर भारी संख्या में औरतों और बच्चों का क़त्ले आम किया । ज़ायोनी आतंकियों ने क़ुद्स के निकट स्थित बालमाख़ सैन्य अड्डे की सहायता से इस गांव पर हमला क्या इस सैन्य बेस से इस गांव पर मोर्टार दाग़े गए जिस की मदद से ज़ायोनी आतंकियों ने इस गाँव में भयानक क़त्ले आम मचाया । दिन चढ़ते चढ़ते दैरे यासीन की रक्षा के लिए कोई नहीं रह गया था तथा ज़ायोनी आतंकी भी आराम से घरों और बाज़ारों में बम और डायनामाइट बरसाते हुए दैरे यासीन पर क़ब्ज़ा करते हुए चले गए । चश्मदीद गवाहों के अनुसार ज़ायोनी आतंकियों ने बहुत से लोगों को लाइन में खड़ा कर उनके मुंह दीवारों की ओर कर दिया तथा सबकों एक साथ गोलियों से भून दिया बल्कि कई लोगों को गाड़ियों पर बांध कर क़ुद्स और आसपास के क्षेत्रों में घुमाते और नफरत और घृणा फ़ैलाने वाले नस्लभेदी नारे लगाते फिरे । दैरे यासीन के क़त्ले आम ने फिलिस्तीनी जनता के मन पर बहुत नकारात्मक प्रभाव डाला तथा इस कांड के बाद फिलिस्तीनी लोगों के मन में भय और डर बैठ गया तथा वह अपना घर परिवार छोड़ कर पडोसी देशों में शरण लेने पर विवश हो गए ।
 ...................


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

इदलिब की आज़ादी प्राथमिकता, अतिक्रमणकारियों को सीरिया से भागना ही होगा : दमिश्क़ हाउस ऑफ़ लॉर्ड्स की मांग, अमेरिका से राजनैतिक संबद्धता कम करे इंग्लैंड। अवैध राष्ट्र ने लगाई गुहार, लेबनान सेना पर दबाव बनाए अमेरिका । अमेरिकी गठबंधन आतंकी संगठनों की मदद से सीरिया के तेल संपदा को लूटने में व्यस्त । मासूमा ए क़ुम स.अ. की शहादत के शोक में डूबा ईरान, क़ुम समेत देश भर में मातम । अमेरिका ने स्वीकारा, असद को पदमुक्त करना उद्देश्य नहीं । सिर्फ दो साल, और साठ हज़ार लोगों की जान ले चुका है यमन संकट । हमास ने दिया इस्राईल को गहरा झटका, पकडे गए ड्रोन विमानों का क्लोन बनाया । आले सऊद की काली करतूत, क़तर पर हमला कर हड़पने की साज़िश का भंडाफोड़ । रूस मामलों में पोम्पियो की कोई हैसियत नहीं, अमेरिका की विदेश नीति का भार जॉन बोल्टन के कंधों पर : लावरोफ़ सऊदी अरब की सैन्य टुकड़ियां हैं आईएसआईएस और नुस्राह फ्रंट । ज़ायोनी सेना की गतिविधियां तेज़, लेबनान सेना ने अलर्ट । अय्याश सऊदी युवराज और मोहमद बिन ज़ायद पॉप गायिका मैडोना की राह पर, ली क़बालाह की शरण ईरान फ़ातेह और सहंद के बाद विशालकाय पनडुब्बी बनाने के लिए तैयार। इमाम हसन असकरी अ.स. के बाद सामने आने वाले फ़िर्क़े