Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 192795
Date of publication : 26/3/2018 18:37
Hit : 243

पूर्वी गोता में सीरियन सेना की सफलता अमेरिका और इस्राईल के लिए घातक सिद्ध होगी : यरूशलम पोस्ट

अमेरिका और ब्रिटेन विरोधी आतंकी गुट फ्री सीरियन आर्मी का समर्थन कर रहे हैं अगर वाशिंगटन और इस्राईल गोता की सुरक्षा के लिए कुछ न कर सके या कम से कम दक्षिणी सीरिया को आतंकियों के लिए सुरक्षित न कर सके तो उनको इसकी बड़ी कीमत चुकानी होगी, क्योंकि गोता की हार से सीरिया विरोधी गुटो में अमेरिका का सम्मान समाप्त हो जाएगा ।

विलायत पोर्टल : प्राप्त जानकारी के अनुसार ज़ायोनी समाचार पत्र यरूशलेम पोस्ट ने अपने संपदकीय में पूर्वी गोता मे सीरियन सेना के अभियान की समीक्षा करते हुए लिखा कि इस क्षेत्र में विरोधियों की हार इस्राईल और अमेरिका के हितों के लिए खतरा है।
इस संपादकीय के आरम्भ में इस बात का दावा किया किया गया है कि सीरिया में ईरान की सैन्य उपस्थिति इस्राईल के लिए खतरा और सीरिया में रूस के प्रभाव बढ़ने तथा आतंकियों के अंतिम दुर्ग गोता के ढहने के दो अर्थ हैं, पहला यह कि ईरान दमिश्क पर कब्ज़ा कर लेगा, जिसका अर्थ इस्राईल के लिए हमेशा का खतरा है दूसरा यह कि सीरिया में रूस के मुकाबले में अमेरिका हार जाएगा।
 इस समाचार पत्र ने पूर्वी गोता , दमिश्क के करीब अंतिम ठिकाना” शीर्षक से लिखा कि “ दाइश के बिना विरोधी संगठनों का एक बड़ा जमवाड़ा वहां मौजूद है… पूर्वी गोता में जैशुल इस्लाम के 11 हज़ार आतंकी मौजूद हैं।” इस क्षेत्र में जैशुल इस्लाम के बाद फीलक़ुर रहमान के 10 हज़ार लड़ाके और अहरारुश्शाम के लगभग 6 हज़ार आतंकी मौजूद है, यरूशलेम पोस्ट के अनुसार इनमें से किसी भी गुट को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर आतंकवादी संगठन नहीं कहा गया है, लेकिन रूस का कहना है कि यह आतंकवादी हैं।
इस समाचार पत्र ने रूस और ईरान पर सीरिया के संबंध में संघर्ष विराम प्रस्ताव संख्या 2401 का लगातार उल्लंघन करने का आरोप लगाते हुए कहा यह दोनों देश चाहते हैं कि गोता को पतन हो जाए, औऱ दोनों के पास उसके अपने तर्क हैं , रूस के लिए गोता के पतन का अर्थ सीरिया में सत्ता के शिखर पर असद का बने रहना और सीरिया में रूस के लंबी अवधि तक बने रहने की गारंटी और उनके सैन्य अड्डों की सुरक्षा की गारंटी है। इस समाचार पत्र ने दावा किया कि गोता से विरोधियों के सफाए का ईरान का मकसद यह है कि वह दमिश्क सरकार को अपने अनुरूप चलाने मे सक्षम होगा , और तेहरान-बैरूत हाइवे का कंट्रोल अपने हाथ में ले लेगा, और यह सफलता ईरान को इस्राईल और पश्चिमी जगत पर दबाव ड़ालने तथा उन्हे धौंस मे लेने की शक्ति देगा और वह परमाणु समझौते पर दबाव डालने के लिए इसका प्रयोग कर सकेगा ।
यरूशलम पोस्ट ने लिखा कि अमेरिका को गोता के आतंकियों के हाथों से निकलने पर चिंतित होना चाहिए, उसको समझना चाहिए कि गोता पर सीरिया का नियंत्रण दरआ शहर और उन आतंकियों पर भी दबाव डालेगा जो दक्षिणी सीरिया में मौजूद हैं और यह दक्षिणी सीरिया में अमेरिका और ब्रिटेन के प्रभाव और इसी प्रकार अलतनफ मे अमेरिकी सैन्य बेस के लिए भी खतरनाक होगा।
अमेरिका और ब्रिटेन विरोधी आतंकी गुट फ्री सीरियन आर्मी का समर्थन कर रहे हैं अगर वाशिंगटन और इस्राईल गोता की सुरक्षा के लिए कुछ न कर सके या कम से कम दक्षिणी सीरिया को आतंकियों के लिए सुरक्षित न कर सके तो उनको इसकी बड़ी कीमत चुकानी होगी, क्योंकि गोता की हार से सीरिया विरोधी गुटो में अमेरिका का सम्मान समाप्त हो जाएगा ।
ईरान को शक्तिशाली बनने और रूस के बढ़ते प्रभाव को रोकने के लिए सीरिया में अमेरिका और इस्राईल का हस्तक्षेप अमेरिकी हितों और इस्राईल की सुरक्षा के लिए ज़रूरी है।
 .................


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

नोबेल विजेता की मांग, यमन युद्ध का हर्जाना दें सऊदी अरब और अमीरात । फ़िलिस्तीन का संकट लेबनान का संकट है , क़ुद्स का यहूदीकरण नहीं होने देंगे : मिशेल औन महत्त्वहीन हो चुका है खाड़ी सहयोग परिषद, पुनर्गठन एकमात्र उपाय : क़तर एयरपोर्ट के बदले एयरपोर्ट, दमिश्क़ पर हमला हुआ तो तल अवीव की ख़ैर नहीं ! तुर्की को SDF की कड़ी चेतावनी, कुर्द बलों को निशाना बनाया तो पलटवार के लिए रहे तैयार । दमिश्क़, राष्ट्रपति बश्शार असद ने दी 16500 लोगों को आम माफ़ी । यमन का ऐलान, वारिस कहें तो हम ख़ाशुक़जी के शव लेने की प्रक्रिया शुरू करें । प्योंगयांग और सिओल मिलकर करेंगे 2032 ओलंपिक की मेज़बानी ईरान अमेरिका के आगे नहीं झुकेगा, अन्य देशों को भी प्रतिबंधों के सामने डटने का हुनर सिखाएंगे । सऊदी अरब के पास तेल ना होता तो आले सऊद भूखे मर जाते : लिंडसे ग्राहम ईरानी हैकर्स ने अमेरिकी अधिकारियों के ईमेल हैक किए ! ईरान, रूस और चीन से युद्ध के लिए तैयार रहे ब्रिटेन : जनरल कार्टर हमास की ज़ायोनी अतिक्रमणकारियों को चेतावनी, हमारे देश से से निकल जाओ । पाकिस्तान में इतिहास का सबसे बड़ा निवेश करने वाला है सऊदी अरब नेतन्याहू की धमकी, अस्तित्व की जंग लड़ रहा इस्राईल अपनी रक्षा के लिए कुछ भी करेगा ।