Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 192667
Date of publication : 16/3/2018 20:36
Hit : 291

अल्लाह संकट और कठिनाईयों को क्यों भेजता है?

अमीरुल मोमेनीन अ.स. फ़रमाते हैं कि, गुनाहों से दूरी रखो, क्योंकि खरोच और चलते हुए ठोकर लगने जैसे संकट, कठिनाईयों, कष्टों और मुसीबतों का कारण यही गुनाह होते हैं।


विलायत पोर्टल :  यह बात हमें समझ लेना चाहिए कि अल्लाह हिकमत, अद्ल और इंसाफ़ वाला है, और उसका हर काम हिकमत और अद्ल के अनुसार होता है, यह और बात है कि हम अपनी समझ के सीमित होने के कारण उन्हें समझ न सकें। यह बात भी ध्यान में रहना चाहिए कि बहुत सारे संकट, कठिनाईयाँ और मुसीबतों का कारण इंसान ख़ुद होता है, और इंसान की बहुत सारी असफ़लता का कारण ख़ुद उसका आलस और मेहनत से दूर भागना होता है, और बहुत सारी आध्यात्मिक बीमारियों का कारण लालच और ख़्वाहिशात की पैरवी होती है, और समय का व्यर्थ करना बहुत सारे दुखों का कारण और आपसी लड़ाई झगड़ा हमेशा कष्ट पहुँचाने का कारण बनता है। इन सब के अलावा बहुत सारे संकट और मुसीबत का कारण इंसान द्वारा किए गए गुनाह की इस दुनिया में मिलने वाली सज़ा होता है। अमीरुल मोमेनीन अ.स. फ़रमाते हैं कि, गुनाहों से दूरी रखो, क्योंकि खरोच और चलते हुए ठोकर लगने जैसे संकट, कठिनाईयों, कष्टों और मुसीबतों का कारण यही गुनाह होते हैं। (बिहारुल अनवार, जिल्द 83, पेज 350) अल्लाह ने भी क़ुर्आन में फ़रमाया कि, हर तरह की मुसीबत और कष्टों का कारण तुम्हारे आमाल हैं। (सूरए निसा, आयत 79) अल्लाह की ओर से आने वाली कठिनाईयों के कुछ इस प्रकार जवाब दिये गए हैं.....
1. अल्लाह की ओर से इम्तेहान के कारण
2. उपेक्षा को दूर और जागरूकता को बढ़ावा देने के कारण
3. अल्लाह के निकट पहुँचने और उसके बारे में सच्चा ज्ञान प्राप्त करने के लिए
4. आमाल की सज़ा के कारण
5. गुनाहों से पाक करने के कारण
6. मोमिन के हित के कारण
7. इरादों की मज़बूती के कारण इन कारणों से अल्लाह बंदों के सामने मुसीबत और कठिनाईयों को लाता है। (मारिफ़े इस्लामी(1), पेज 150-188)
 इस्लामी फ़िलॉसफ़ी में भी इसके कुछ जवाब इस प्रकार दिए गए हैं.....
1. हो सकता है कि यह केवल हमारी नज़र में कठिनाई और संकट हो लेकिन हक़ीक़त में उसमें हमारी भलाई छुपी हो।
2. यह कठिनाईयाँ और मुसीबतें हमारे कारण हैं, क्योंकि अल्लाह ने क़ुर्आन में फ़रमाया है कि, अल्लाह से ख़ैर जारी होता है। यानी शर और बुराई को अल्लाह के बारे में सोचा ही नहीं जा सकता।
 .....................


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

इमाम हसन असकरी अ.स. की ज़िंदगी पर एक निगाह अमेरिका का युग बीत गया, पश्चिम एशिया से विदाई की तैयारी कर ले : मेजर जनरल मूसवी सऊदी अरब ने यमन के आगे घुटने टेके, हुदैदाह पर हमले रोकने की घोषणा। ईरान को दमिश्क़ से निकालने के लिए रूस को मनाने का प्रयास करेंगे : अमेरिका आईएसआईएस आतंकियों का क़ब्रिस्तान बना पूर्वी दमिश्क़ का रेगिस्तान,30 आतंकी हलाक ग़ज़्ज़ा, प्रतिरोधी दलों ने ट्रम्प की सेंचुरी डील की हवा निकाली : हिज़्बुल्लाह सऊदी ने स्वीकारी ख़ाशुक़जी को टुकड़े टुकड़े करने की बात । आईएसआईएस समर्थक अमेरिकी गठबंधन ने दैरुज़्ज़ोर पर प्रतिबंधित क्लिस्टर्स बम बरसाए । अवैध राष्ट्र में हलचल, लिबरमैन के बाद आप्रवासी मामलों की मंत्री ने दिया इस्तीफ़ा फ़्रांस और अमेरिका की ज़ुबानी जंग तेज़, ग़ुलाम नहीं हैं हम, सभ्यता से पेश आएं ट्रम्प : मैक्रोन बीवी क्या करे कि घर जन्नत की मिसाल हो ज़ायोनी युद्ध मंत्री लिबरमैन का इस्तीफ़ा, ग़ज़्ज़ा की राजनैतिक जीत : हमास अमेरिका की चीन को धमकी, हमारी मांगे नहीं मानी तो शीत युद्ध के लिए रहो तैयार देश को मुश्किलों से उभारना है तो राष्ट्रीय क्षमताओं का सही उपयोग करना होगा : आयतुल्लाह ख़ामेनई अय्याश सऊदी युवराज मोहम्मद बिन सलमान है ग़ज़्ज़ा पर वहशियाना हमलों का मास्टर माइंड : मिडिल ईस्ट आई