Wed - 2018 Sep 26
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 192665
Date of publication : 17/3/2018 16:50
Hit : 200

ईरान के साथ हुए परमाणु समझौते से निकलकर पछताएगा अमेरिका : पूर्व ब्रिटिश विदेशमंत्री

जैक स्ट्रॉ ने कहा कि ईरान परमाणु टेक्नोलॉजी के मैदान में इतना शक्तिशाली है कि अमेरिका को इस समझौते से निकलने के बाद पछतावे के अलावा कुछ हासिल नहीं होगा ।


विलायत पोर्टल :  पूर्व ब्रिटिश विदेश मंत्री जैक स्ट्रॉ ने ईरान और सुरक्षा परिषद के स्थायी सदस्यों रूस , अमेरिका , फ्रांस , ब्रिटेन और चीन के बीच हुए समझौते से अमेरिका के निकलने को लेकर चेतावनी देते हुए कहा है कि अमेरिका को इस समझौते से निकलने की बड़ी क़ीमत चुकाना होगी । जैक स्ट्रॉ ने कहा कि इसका अनुमान इस प्रकार लगाया जा सकता है कि जब यूरोप और ईरान के बीच 2005 में होने वाली वार्ता शुरू हुई तो उसके पास 800 सेंट्रीफ्यूज मशीन थी और जब यूरोपीय पक्ष और ईरान के बीच यह वार्ता दोबारा शुरू हुई तो ईरान की यह संख्या 800 से बढ़कर 18000 हो चुकी थी । जैक स्ट्रॉ ने कहा कि ईरान परमाणु टेक्नोलॉजी के मैदान में इतना शक्तिशाली है कि अमेरिका को इस समझौते से निकलने के बाद पछतावे के अलावा कुछ हासिल नहीं होगा । उन्होंने कहा कि ट्रम्प इस समझौते का विरोद्ध सिर्फ ज़ायोनी नेता नेतन्याहू और इस देश में मौजूद कट्टरपंथी धड़े के कारण कर रहे हैं जिन्हे इस समझौते के बारे में अधिक जानकारी नहीं है ।
.....................


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :