Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 192565
Date of publication : 12/3/2018 17:30
Hit : 209

ज़ायोनी राष्ट्र के बाद संयुक्त अरब अमीरात के युवराज ने भी शुरू की मानव तस्करी ।

अरब अमीरात इन देशों से मानव तस्करी कर दासता प्रथा को फिर से ज़िंदा करने की कोशिश कर रहा है वह यूरोप जाने की इच्छा रखने वाले लोगों को अन्य देशों की ओर भेज रहे हैं तथा उनकी क़ीमत वसूल कर उन्हें बेचा जा रहा है , उन्हें यमन युद्ध के अलावा भी अन्य युद्धों और हिंसक कार्रवाईयों में झोंका जा रहा है ।

विलायत पोर्टल : संयुक्त अरब अमीरात के युवराज मोहम्मद बिन ज़ाएद को लेकर जी ख़बरें आ रही हैं उन्हें सुनकर एक बार विश्वास करना मुश्किल होता है लेकिन सूत्रों के अनुसार लीबिया में संयुक्त अरब अमीरात के सहयोगी संगठनों से छन कर जो ख़बरें आ रही हैं वह बहुत चिन्ताजनक हैं । प्राप्त जानकारी के अनुसार लीबिया में संयुक्त अरब अमीरात के साथ सैन्य सहयोग करने वाले संगठनों के अनुसार इस देश का क्राउन प्रिन्स अफ्रीका से यूरोप जाने की इच्छा रखने वाले लोगों को मामूली दामों पर अपने देश की ओर से य़मन तथा मिडिल ईस्ट के अन्य देशों में हिंसक कार्रवाई करने के लिए जमा कर रहा हैं । ज्ञात रहे कि मिडिल ईस्ट में हालाँकि युद्ध और हिंसक घटनाएं ज़िंदगी का हिस्सा बन गई है लेकिन इस क्षेत्र में अभी तक मानव तस्करी या मानवीय अंगों की तस्करी जैसा काम सुनने को नही मिलता था इस क्रम में अभी तक अवैध राष्ट्र इस्राईल एक अपवाद था लेकिन अब ज़ायोनी राष्ट्र को इस मैदान में भी संयुक्त अरब अमीरात के रूप में एक अच्छा पार्टनर मिल गया है । अमीरात में नंबर एक समझे जाने वाले तथा मिडिल ईस्ट एक शैतान के रूप में कुख्यात मोहम्मद बिन ज़ाएद की गतिविधियों ने मानवाधिकार संगठनों को अत्यधिक चिंतित कर दिया है । संयुक्त राष्ट्र से जुड़े PAX जैसे संगठन का कहना है कि संयुक्त अरब अमीरात अफ्रीका में सोमालिया, इरिट्रिया, दक्षिण सूडान और लीबिया जैसे देशों में हथियार भेज कर इन अफ्रीकी देशों में भुला दिए गए विवादों को हवा देकर यहाँ जंग का माहौल उत्पन्न कर रहा है । वह अंतर्राष्ट्रीय क़ानूनों और संविधानों का उल्लंघन कर रहा है जिन पर अमीरात ने भी हस्ताक्षर किये हैं तथा यह अंतर्राष्ट्रीय शांति के लिए गंभीर खतरा है। अरब अमीरात इन देशों से मानव तस्करी कर दासता प्रथा को फिर से ज़िंदा करने की कोशिश कर रहा है वह यूरोप जाने की इच्छा रखने वाले लोगों को अन्य देशों की ओर भेज रहे हैं तथा उनकी क़ीमत वसूल कर उन्हें बेचा जा रहा है , उन्हें यमन युद्ध के अलावा भी अन्य युद्धों और हिंसक कार्रवाईयों में झोंका जा रहा है ।
 .......................


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

पैग़म्बर स.अ. की सीरत और इमाम ख़ुमैनी र.अ. की विचारधारा शिम्र मर गया तो क्या हुआ, नस्लें तो आज भी बाक़ी है!! इमाम ख़ुमैनी र.ह. और इस्लामी इंक़ेलाब की लोकतांत्रिक जड़ें हज़रत फ़ातिमा ज़हरा स.अ. के घर में आग लगाने वाले कौन थे? अहले सुन्नत की किताबों से एक बेटी ऐसी भी.... फ़र्ज़ी यूनिवर्सिटी स्थापित कर भारतीय छात्रों को गुमराह कर रही है अमेरिकी सरकार । वह एक मां थी... क़ुर्आन को ज़हर बता मस्जिदें बंद कराने का दम भरने वाले डच नेता ने अपनाया इस्लाम । तुर्की के सहयोग से इदलिब पहुँच रहे हैं हज़ारो आतंकी । आयतुल्लाह सीस्तानी की दो टूक , इराक की धरती को किसी भी देश के खिलाफ प्रयोग नहीं होने देंगे । ईरान विरोधी किसी भी सिस्टम का हिस्सा नहीं बनेंगे : इराक सीरिया की शांति और स्थायित्व ईरान का अहम् उद्देश्य, दमिश्क़ और तेहरान के संबंधों में और मज़बूती के इच्छुक : रूहानी आयतुल्लाह सीस्तानी से मुलाक़ात के लिए संयुक्त राष्ट्र की विशेष दूत नजफ़ पहुंची इस्लामी इंक़ेलाब की सुरक्षा ज़रूरी , आंतरिक और बाह्र्री दुश्मन कर रहे हैं षड्यंत्र : आयतुल्लाह जन्नती आख़ेरत में अंधेपन का क्या मतलब है....