Wed - 2018 Sep 19
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 192481
Date of publication : 8/3/2018 15:21
Hit : 310

पश्चिमी जगत ने औरत को उपभोग की वस्तु बनाया, इस्लाम ने घर की मलिका और समाज में दी महत्वपूर्ण भूमिका : आयतुल्लाह ख़ामेनई

इस्लाम में औरत की एक आइडियल भूमिका है वह पवित्रता और पाकीज़गी की मूरत तथा मानवता की तरबियत का सबसे बड़ा केंद्र है ।


विलायत पोर्टल : प्राप्त जानकारी के अनुसार इस्लामी क्रांति के सुप्रीम लीडर ने कहा कि इस्लाम में औरत की एक आइडियल भूमिका है वह पवित्रता और पाकीज़गी की मूरत तथा मानवता की तरबियत का सबसे बड़ा केंद्र है । इस्लामी क्रांति के सुप्रीम लीडर हज़रत आयतुल्लाह ख़ामेनई ने कहा कि इस्लाम ने औरत को बहुत सम्मान दिया है उसे पाकीज़गी का केंद्र और मानवता की तरबियत और समाज मे प्रभावशाली भूमिका दी है, वहीँ पश्चिमी जगत ने उसे उपभोग की वस्तु बनाकर मर्दों की हवस और उनकी अश्लील निगाहों का केंद्र बनाकर रख दिया है । पश्चिमी सभ्यता में औरत की आज़ादी और सम्मान का आधार अर्धनग्नता और अय्याशी है ।
..................


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :