Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 192118
Date of publication : 17/2/2018 17:46
Hit : 204

तुर्की ने आतंकी संगठन फ्री सीरियन आर्मी के साथ मिलकर किया सीरिया पर रासायनिक हमला ।

तुर्क फौजों ने आतंकी संगठन के साथ मिलकर अफरीन के उपनगरों में स्थित देहाती क्षेत्रों में रासायनिक हमले किये ।

विलायत पोर्टल :  प्राप्त जानकारी के अनुसार सीरिया के अफरीन में तुर्की तथा आतंकी संगठनों की कार्यवाही वीभत्स रूप लेती जा रही है ताज़ा घटनाक्रम के अनुसार तुर्की ने आतंकी संगठन फ्री सीरियन आर्मी के साथ मिलकर उत्तरी सीरिया के अफरीन मे रासयनिक हमला किया । सूत्रों के अनुसार तुर्क फौजों ने आतंकी संगठन के साथ मिलकर अफरीन के उपनगरों में स्थित देहाती क्षेत्रों में रासायनिक हमले किये । सीरिया की आधिकारिक न्यूज़ एजेंसी साना ने भी ख़बरों की पुष्टि करते हुए कहा कि रासायनिक हमलों के पीड़ितों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है । अफरीन अस्पताल के प्रबंधक डॉ मोहम्मद के अनुसार ज़हरीली गैस के हमलों के पीड़ितों को इस अस्पताल में भर्ती किया गया है जिन्हे सांस लेने में परेशानी हो रही है ।
 ....................


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

दमिश्क़, आतंकियों के ठिकानों से मिला अमेरिका और इस्राईल निर्मित हथियारों और दवाओं का भारी भंडार पाकिस्तान ने फिर दी यमन युद्ध में मध्यस्था की पेशकश इस्राईल ने फिर दी हमास नेता की हत्या और ग़ज़्ज़ा के खिलाफ युद्ध की धमकी । तुर्की की अमेरिका को दो टूक, रूस से S-400 डील नहीं करेंगे रद्द । मुक़्तदा सद्र की चेतावनी, मूसेल की सुरक्षा व्यवस्था खतरे में । अमेरिका से हथियार खरीद रहे हो तो दुनिया भर में आतंक मचा सकते हो : कार्ल बिल्ट मुत्तहिद उम्मत के बिखरने के पीछे की साज़िश सऊदी अरब ने साबित कर दिया राष्ट्र्पति को खरीदा जा सकता है : अमेरिकी सीनेटर इस्राईल की बेबसी, ताक़त के ज़ोर पर हमास को नहीं हटा सकते : लिबरमैन ट्रम्प दुविधा में, सऊदी अरब से संबंध बचाएं या अय्याश युवराज को हत्यारा घोषित करें ? हश्दुश शअबी की अमेरिकी सेना को ना, अलअंबार में सैन्य विमान नहीं उतरने दिया बैरुत की मांग, लेबनान में S-400 मिसाइल डिफेन्स सिस्टम स्थापित करे रूस तुर्की ने सऊदी अरब पर शिकंजा कसा, ख़ाशुक़जी हत्याकांड की ऑडियो क्लिप की लीक आले सऊद में हलचल, मोहम्मद बिन सलमान के विकल्प पर चर्चा तेज़ । ईदे मिलादुन्नबी, बश्शार असद ने दमिश्क़ की सअद बिन मआज़ मस्जिद में आम लोगों के साथ जश्न में भाग लिया ।