Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 192102
Date of publication : 16/2/2018 14:53
Hit : 377

हिज़्बुल्लाह से युद्ध क्षेत्र में मार खाया अवैध राष्ट्र अब सोशल वॉर से भयभीत

90 के दशक में भी जब हिज़्बुल्लाह और अवैध राष्ट्र के बीच सैन्य संघर्ष जारी था तब भी उनकी हर सैन्य टुकड़ी के साथ एक कैमरामैन साथ होता था, हिज़्बुल्लाह की यह रणनीति हमारे लिए कभी कभी उनके सैन्य अभियान से भी घातक साबित हुई है ।

विलायत पोर्टल :  प्राप्त जानकारी के अनुसार अवैध राष्ट्र इस्राईल में हिज़्बुल्लाह का खौफ दिन प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है, युद्ध क्षेत्र में हिज़्बुल्लाह से हर मोर्चे पर मुंह की खाने वाला इस्राईल, हिज़्बुल्लाह की बढ़ती टैक्नोलॉजी पॉवर से सहमा हुआ है । ज़ायोनी सूत्रों के अनुसार हिज़्बुल्लाह व्हाट्सअप, ट्वीटर, इंस्टाग्राम जैसे अन्य सोशल मैसेंजर का सहारा लेकर हमारे नागरिकों को मैसेज भेज रहा है, उसने हमारी सभी सुरक्षा व्यवस्थाओं को धता बताते हुए हमारे नागरिकों तक पहुँच बना ली है जो हमारे लिए गंभीर चिंता का विषय है । ज़ायोनी चैनल 10 ने कहा कि यह हमारी और अरबों की दुश्मनी के इतिहास में सबसे गंभीर मुद्दा है वह इस लिए कि 90 के दशक में भी जब हिज़्बुल्लाह और अवैध राष्ट्र के बीच सैन्य संघर्ष जारी था तब भी उनकी हर सैन्य टुकड़ी के साथ एक कैमरामैन साथ होता था, हिज़्बुल्लाह की यह रणनीति हमारे लिए कभी कभी उनके सैन्य अभियान से भी घातक साबित हुई है । हिज़्बुल्लाह ने ट्वीटर , इंस्टाग्राम , व्हाट्सअप तथा अन्य सोशल मीडिया स्टेज के साथ साथ डिजिटल वर्ल्ड में काफी पकड़ बनाई है जिसकी मिसाल अरब जगत में नहीं मिलती ।
.........................


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

इंसान मौत के समय किन किन चीज़ों को देखता है? हिटलर की भांति विरोधी विचारधारा को कुचल रहे हैं ट्रम्प । ईरान, आत्मघाती हमलावर और आतंकी टीम में शामिल दो सदस्य पाकिस्तानी : सरदार पाकपूर सीरिया अवैध राष्ट्र इस्राईल निर्मित हथियारों की बड़ी खेप बरामद । ईरान को CPEC में शामिल कर सऊदी अरब और अमेरिका को नाराज़ नहीं कर सकता पाकिस्तान। भारत पहुँच रहा है वर्तमान का यज़ीद मोहम्मद बिन सलमान, कई समझौतों पर होंगे हस्ताक्षर । ईरान के कड़े तेवर , वहाबी आतंकवाद का गॉडफादर है सऊदी अरब अर्दोग़ान का बड़ा खुलासा, आतंकवादी संगठनों को हथियार दे रहा है नाटो। फिलिस्तीन इस्राईल मद्दे पर अरब देशों के रुख में आया है बदलाव : नेतन्याहू बहादुर ख़ानदान की बहादुर ख़ातून यह 20 अरब डॉलर नहीं शीयत को नाबूद करने की साज़िश की कड़ी है पैग़म्बर स.अ. की सीरत और इमाम ख़ुमैनी र.अ. की विचारधारा शिम्र मर गया तो क्या हुआ, नस्लें तो आज भी बाक़ी है!! इमाम ख़ुमैनी र.ह. और इस्लामी इंक़ेलाब की लोकतांत्रिक जड़ें हज़रत फ़ातिमा ज़हरा स.अ. के घर में आग लगाने वाले कौन थे? अहले सुन्नत की किताबों से