Sunday - 2018 Sep 23
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 190886
Date of publication : 13/12/2017 18:17
Hit : 295

क़ुद्स को फिलिस्तीन की राजधानी के रूप में मान्यता दो तभी होगी शांति वार्ता : महमूद अब्बास

पहला अवसर है जब विश्व समुदाय ने क़ुद्स को लेकर अमेरिका के विरोध में एकजुट होकर आवाज़ उठायी है । ब्रिटेन ने बाल्फोर बयान के विपरीत अमेरिका के विरुद्ध आवाज़ उठाई है लेकिन उसका यह क़दम अवैध राष्ट्र इस्राईल के गठन के उसके अपराधों को कम नहीं करता ।


विलायत पोर्टल : प्राप्त जानकारी के अनुसार फिलिस्तीन प्राधिकरण के मुखिया महमूद अब्बास ने इस्लामी सहयोग संगठन की आपातकालीन बैठक में कहा कि जब तक क़ुद्स को फिलिस्तीन की राजधानी के रूप में मान्यता नहीं दी जाती तब तक अवैध राष्ट्र के साथ शांति वार्ता की कल्पना करना भी बेकार है । उन्होंने कहा कि बाल्फोर बयान को 100 साल गुज़र रहे है जब ब्रिटेन ने फिलिस्तीन को ज़ायोनी मूवमेंट को सौंप दिया और उसके बाद अमेरिका ने ज़ायोनी लॉबी को आगे बढ़ाया और अब यह स्थिति हो गई है कि क़ुद्स को अवैध राष्ट्र की राजधानी घोषित किया जा रहा है वह भी ऐसे जैसे ट्रम्प अमेरिका के किसी एक शहर को अवैध राष्ट्र के सामने तोहफे के रूप में पेश कर रहा हो । अब्बास ने कहा कि यह पहला अवसर है जब विश्व समुदाय ने क़ुद्स को लेकर अमेरिका के विरोध में एकजुट होकर आवाज़ उठायी है । ब्रिटेन ने बाल्फोर बयान के विपरीत अमेरिका के विरुद्ध आवाज़ उठाई है लेकिन उसका यह क़दम अवैध राष्ट्र इस्राईल के गठन के उसके अपराधों को कम नहीं करता ।
.......................
फार्स न्यूज़


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :