Thursday - 2018 Sep 20
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 190870
Date of publication : 12/12/2017 17:54
Hit : 184

550 शहर और बस्तियों को ज़ायोनी अत्याचारियों ने मिट्टी में मिला दिया : अबू शरीफ

फिलिस्तीनियों का सामूहिक क़त्ले आम और नस्लीय सफाया जारी था कि अवैध राष्ट्र ने 1967 में क़ुद्स पर भी क़ब्ज़ा जमा लिया, क़ुद्स में जो ज़मीन अमेरिकी दूतावास को आवंटित की गई है वह फिलिस्तीन के उस अरब नागरिक की प्रॉपर्टी है जो अब भी जीवित है ।


विलायत पोर्टल :  प्राप्त जानकारी के अनुसार तेहरान में इस्लामिक जिहाद मूवमेंट इन फिलिस्तीन के दूत नासिर अबू शरीफ ने कहा कि सिर्फ 5 प्रतिशत फिलिस्तीन पर ज़ायोनी लॉबी का कब्ज़ा था लेकिन धीरे धीरे उन्होंने हथियारों के बल पर शेष भाग पर भी कब्ज़ा कर लिया । 1948 के बाद फिलिस्तीन के 78% भाग पर कब्ज़ा जमाते हुए अवैध ज़ायोनी राष्ट्र ने 550 से अधिक फिलिस्तीन शहरों और गांवों का बर्बाद कर दिया है । उन्हने कहा कि फिलिस्तीनियों का सामूहिक क़त्ले आम और नस्लीय सफाया जारी था कि अवैध राष्ट्र ने 1967 में क़ुद्स पर भी क़ब्ज़ा जमा लिया, क़ुद्स में जो ज़मीन अमेरिकी दूतावास को आवंटित की गई है वह फिलिस्तीन के उस अरब नागरिक की प्रॉपर्टी है जो अब भी जीवित है । नासिर ने कहा कि अवैध राष्ट्र ने क़ुद्स के चारों ओर कालोनियां बनाई हैं और फिलिस्तीनी नागरिकों की ज़मीने भी इसी निर्माण में हथिया ली गई हैं । उन्होंने कहा कि ट्रम्प के इस निर्णय का मुख्य कारण इस्लामी जगत की कमज़ोरी और उनकी ज़िल्लत है, अफ़सोस के साथ कहना पड़ रहा है कि कुछ इस्लामी देश ट्रम्प के इस षड्यंत्र में शामिल हैं और हम पर दबाव डाल रहे हैं कि हम ट्रम्प के इस निर्णय को स्वीकार कर लें । नासिर अबू शरीफ ने कहा कि फिलिस्तीनी प्रतिरोधी को इस्लामी जगत के समर्थन की आवश्यकता है, इस्लामी राष्ट्र ईरान ने इस क्षेत्र में हमारी बहुत सहायता की है ।
.....................
तसनीम


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :