Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 190865
Date of publication : 12/12/2017 16:50
Hit : 134

सीरियन विद्रोही वास्तिवकता को स्वीकारें, उनका कोई अंतर्राष्ट्रीय समर्थक नहीं : दि मिस्तूरा

स्टीफन ने दो टूक कहा है कि उन्हें ज़मीनी सच्चाई समझना होगी, सोची वार्ता इस बात का सुबूत है कि जेनेवा वार्ता विफल हो चुकी है और तुर्की भी सोची वार्ता का समर्थक है । विद्रोहियों को समय के हिसाब से इन शर्तों को स्वीकार कर लेना चाहिए अब अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उनका कोई समर्थक नहीं है ।


विलायत पोर्टल : प्राप्त जानकारी के अनुसार सीरिया संकट में संयुक्त राष्ट्र के विशेष दूत स्टीफन ने कहा है कि सीरियनविद्रोहियों को वास्तविकता स्वीकार करना होगी । सूत्रों के अनुसार जेनेवा में सीरिया संकट को लेकर चल रही बैठक में स्टीफन ने विद्रोहियों से स्पष्ट शब्दों में कहा कि उन्हें वास्तविकता स्वीकार कर लेना चाहिए अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अब उनका कोई समर्थक नही है । रिपोर्ट के अनुसार स्टीफन और सीरियन विद्रोहियों के बीच बैठक बिल्कुल भी ठीक नहीं थी यह बैठक विद्रोहियों के लिए बहुत निराशाजनक थी, स्टीफन ने दो टूक कहा है कि उन्हें ज़मीनी सच्चाई समझना होगी, सोची वार्ता इस बात का सुबूत है कि जेनेवा वार्ता विफल हो चुकी है और तुर्की भी सोची वार्ता का समर्थक है । विद्रोहियों को समय के हिसाब से इन शर्तों को स्वीकार कर लेना चाहिए अब अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उनका कोई समर्थक नहीं है ।
............................
 मेहर


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

ईरान को झुकाने की हसरत अपनी क़ब्रों में ले जाना : आईआरजीसी हिज़्बुल्लाह के साथ खड़ा है लेबनान का क्रिश्चियन समाज : इलियास मुर्र ओमान के आसमान में उड़ान भरेंगे इस्राईल के विमान ज़ायोनी आतंक, पोस्टर लगा कर दी फ़िलिस्तीनी राष्ट्रपति की हत्या की सुपारी । महिलाओं के अधिकार, इस्लाम और आधुनिक सभ्यता की निगाह में ईरान पर कोई प्रभाव नहीं ड़ाल पाएंगे अमेरिकी प्रतिबंध : स्ट्रैटफोर सऊदी हमलों की मार झेल रहे यमन में 2 करोड़ लोग भूख से प्रभावित,लाखों बच्चों की मौत अवैध राष्ट्र के गठन के 30 साल पहले से ज़ायोनी मूवमेंट के लिए काम कर रहे हैं आले सऊद : इस्राईली सांसद स्नूकर प्लेयर ने इस्राईली खिलाड़ी के साथ खेलने से किया इंकार हिज़्बुल्लाह के ख़िलाफ़ इस्राईल ने कोई क़दम उठाया तो पूरा मिडिल ईस्ट सुलग जाएगा : नेशनल इंटरेस्ट यूरोप ईरान के साथ वैज्ञानिक और आर्थिक सहयोग बढ़ाने को उत्सुक : जर्मनी अफ़ग़ानिस्तान में शांति स्थापना के लिए ईरान का किरदार बहुत महत्वपूर्ण । वालेदैन के हक़ में दुआ हिज़्बुल्लाह के खिलाफ युद्ध की आग भड़काने पर तुला इस्राईल, मोसाद और ज़ायोनी सेना आमने सामने इराक की दो टूक, किसी भी देश के ख़िलाफ़ देश की धरती का प्रयोग नहीं होने देंगे