Tuesday - 2018 July 17
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 190862
Date of publication : 12/12/2017 15:55
Hit : 160

रक़्क़ा से भागे 5900 वहाबी आतंकियों के अफ़ग़ानिस्तान पहुँचने की सम्भावना ।

हम इराक और क्षेत्र से दाइश के सफाये पर खुश हैं लेकिन हमें यह ध्यान भी रखना चाहिए कि रक़्क़ा से भागने वाले यह 5900 आतंकी कहाँ जा रहे हैं उनका अगला लक्ष्य क्या है ?

विलायत पोर्टल : प्राप्त जानकारी के अनुसार अफ़ग़ानिस्तान के हज और वक़्फ़ मंत्री फैज़ मोहम्मद उस्मानी कहा कि इस्लाम शांति और इत्तेहाद का धर्म है और हमारे नबी एकता और आपसी भाईचारे और इत्तेहाद के दूत थे और यह जो कहा जाता है कि धरती एक छोटे से घर की भांति है यह हमारे नबी की एकता औए भाईचारे को बढ़ावा देने वाली एक शिक्षा है । फैज़ मोहम्मद ने एकता और इस्लामी इतिहाद को बढ़ावा देने के लिए ईरान और सुप्रीम लीडर के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि स्वभाविक सी बात है कि जब एक देश इत्तेहाद और भाईचारे को बढ़ावा देने के लिए काम करता है तो वह देश विरोध करते हैं जिन्हे इस एकता से अपने हित साधने में मुश्किल होती है । हर युग में ऐसे लोग रहे हैं जो शिया सुन्नी एकता के विरोधी रहे हैं और उन्होंने मुसलानों के लिए बड़ी रुकावट खड़ी की हैं लेकिन अंत में सफलता उन्हें ही मिली जो एकजुट रहे । उन्होंने कहा कि अफ़ग़ानिस्तान में दाइश अपनी गतिविधियों में लिप्त है , फैज़ ने कहा कि एक ओर हम इराक और क्षेत्र से दाइश के सफाये पर खुश हैं लेकिन हमें यह ध्यान भी रखना चाहिए कि रक़्क़ा से भागने वाले यह 5900 आतंकी कहाँ जा रहे हैं उनका अगला लक्ष्य क्या है ? निसंदेह वह जहाँ जाना चाहेंगे उन में एक लक्ष्य अफ़ग़ानिस्तान भी हो सकता है, अभी हाल ही में हमारे जवानों ने दाइश से जुड़े 11 लोगों को गिरफ्तार भी किया है ।
............................
क़ुद्स ऑनलाइन


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :