Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 190544
Date of publication : 21/11/2017 19:2
Hit : 906

आयतुल्लाह ख़ामेनई और आपके बच्चों के संस्कार

स्वभाविक रूप से ऐसे विशेष पदों पर रहते हुए पद का लाभ उठाते हुए आदमी ख़ुद अपनी और अपने बच्चों के जीवन को लक्ज़री बनाते हुए अच्छा खासा बैंक बैलेंस जमा कर लेता है, लेकिन अल्लाह की कृपा से आपने अपने बच्चों की ऐसी तरबियत की ऐसे संस्कार दिए कि आज तक किसी भी बेटे या बेटी ने अपने वालिद के पद का ग़लत उपयोग नहीं किया।

विलायत पोर्टल :  अली शीराज़ी का बयान है कि, इस्लामिक रिवॉल्यूशन से पहले से आज तक आयतुल्लाह ख़ामेनई ने विभिन्न पदों पर कार्य किया है। आप आठ साल तक ईरान के राष्ट्रपति पद पर रहे उसके बाद 1990 से आज तक सुप्रीम लीडर के पद पर रहते हुए अपने कर्त्तव्य और ज़िम्मेदारियों को अच्छी तरह निभा रहे हैं। स्वभाविक रूप से ऐसे विशेष पदों पर रहते हुए पद का लाभ उठाते हुए आदमी ख़ुद अपनी और अपने बच्चों के जीवन को लक्ज़री बनाते हुए अच्छा खासा बैंक बैलेंस जमा कर लेता है, लेकिन अल्लाह की कृपा से आपने अपने बच्चों की ऐसी तरबियत की ऐसे संस्कार दिए कि आज तक किसी भी बेटे या बेटी ने अपने वालिद के पद का ग़लत उपयोग नहीं किया। अगर ऐसा होता तो इस्लाम दुश्मन देश और ताक़तें इस बात का ढ़िंढ़ोरा पूरे संसार में पीट देतीं। आप का अपने बच्चों की तरबियत और संस्कारी बनाने में खास ध्यान रहा है। आप का कहना है कि, अगर टी. वी. में कोई आकर्षक प्रोग्राम या तक़रीर आ रही हो तो मैं अपने बच्चों को उसे बैठ के देखने को कहता हूँ। आप अपने घर में बच्चों और औरतों से ऐसे संबंध रखते जिस से उन के संस्कार और नैतिकता में निखार आ सके।
.............


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

पैग़म्बर स.अ. की सीरत और इमाम ख़ुमैनी र.अ. की विचारधारा शिम्र मर गया तो क्या हुआ, नस्लें तो आज भी बाक़ी है!! इमाम ख़ुमैनी र.ह. और इस्लामी इंक़ेलाब की लोकतांत्रिक जड़ें हज़रत फ़ातिमा ज़हरा स.अ. के घर में आग लगाने वाले कौन थे? अहले सुन्नत की किताबों से एक बेटी ऐसी भी.... फ़र्ज़ी यूनिवर्सिटी स्थापित कर भारतीय छात्रों को गुमराह कर रही है अमेरिकी सरकार । वह एक मां थी... क़ुर्आन को ज़हर बता मस्जिदें बंद कराने का दम भरने वाले डच नेता ने अपनाया इस्लाम । तुर्की के सहयोग से इदलिब पहुँच रहे हैं हज़ारो आतंकी । आयतुल्लाह सीस्तानी की दो टूक , इराक की धरती को किसी भी देश के खिलाफ प्रयोग नहीं होने देंगे । ईरान विरोधी किसी भी सिस्टम का हिस्सा नहीं बनेंगे : इराक सीरिया की शांति और स्थायित्व ईरान का अहम् उद्देश्य, दमिश्क़ और तेहरान के संबंधों में और मज़बूती के इच्छुक : रूहानी आयतुल्लाह सीस्तानी से मुलाक़ात के लिए संयुक्त राष्ट्र की विशेष दूत नजफ़ पहुंची इस्लामी इंक़ेलाब की सुरक्षा ज़रूरी , आंतरिक और बाह्र्री दुश्मन कर रहे हैं षड्यंत्र : आयतुल्लाह जन्नती आख़ेरत में अंधेपन का क्या मतलब है....