Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 190342
Date of publication : 4/11/2017 7:3
Hit : 414

आप विश्वास करें या न करें परन्तु आज पश्चिम से निकला है सूरज!!!!!

शायद आपको विश्वास न हो कि यह कैसे हो सकता है कि सूरज पूरब के बजाए पश्चिम से निकला हो लेकिन यह एक सच्चाई है जी हांः


विलायत पोर्टलः शायद आपको विश्वास न हो कि यह कैसे हो सकता है कि सूरज पूरब के बजाए पश्चिम से निकला हो लेकिन यह एक सच्चाई है जी हांः दुनिया भर में वहाबी आतंकवाद के सबसे बड़े समर्थक और आईएस आतंकवादी गुट के जन्मदातओं में गिने जाने वाले सऊदी अरब ने इराक़ के अल-क़ाएम शहर की आज़ादी पर इराक़ी सरकार को बधाई दी है।
ग़ौरतलब है इराक़ी प्रधानमंत्री हैदर अल-एबादी ने पश्चिमी इराक़ में स्थित अल-क़ाएम शहर की आज़ादी की आधिकारिक घोषणा की है। और इसी के साथ ही आईएस वहाबी आतंकवादियों का पतन भी अपने अंतिम चरण में पहुंच गया है।  इराक़ी सुरक्षा बलों ने मात्र 8 दिनों में इस शहर को वहाबी आतंकवादियों के चंगुल से छुड़ाया है।
लेकिन सबसे बड़ी आश्चर्यजनक बात तो यह है कि अपनी ही अवैध संतान आईएस की हार पर सऊदी अरब ने इराक़ को बधाई दी है। शायद सऊदी अरब पूरी तरह से निराश हो चुका है और अब उसके सामने पैंतरा बदलने के अलावा कुछ नहीं बचा है।


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

पैग़म्बर स.अ. की सीरत और इमाम ख़ुमैनी र.अ. की विचारधारा शिम्र मर गया तो क्या हुआ, नस्लें तो आज भी बाक़ी है!! इमाम ख़ुमैनी र.ह. और इस्लामी इंक़ेलाब की लोकतांत्रिक जड़ें हज़रत फ़ातिमा ज़हरा स.अ. के घर में आग लगाने वाले कौन थे? अहले सुन्नत की किताबों से एक बेटी ऐसी भी.... फ़र्ज़ी यूनिवर्सिटी स्थापित कर भारतीय छात्रों को गुमराह कर रही है अमेरिकी सरकार । वह एक मां थी... क़ुर्आन को ज़हर बता मस्जिदें बंद कराने का दम भरने वाले डच नेता ने अपनाया इस्लाम । तुर्की के सहयोग से इदलिब पहुँच रहे हैं हज़ारो आतंकी । आयतुल्लाह सीस्तानी की दो टूक , इराक की धरती को किसी भी देश के खिलाफ प्रयोग नहीं होने देंगे । ईरान विरोधी किसी भी सिस्टम का हिस्सा नहीं बनेंगे : इराक सीरिया की शांति और स्थायित्व ईरान का अहम् उद्देश्य, दमिश्क़ और तेहरान के संबंधों में और मज़बूती के इच्छुक : रूहानी आयतुल्लाह सीस्तानी से मुलाक़ात के लिए संयुक्त राष्ट्र की विशेष दूत नजफ़ पहुंची इस्लामी इंक़ेलाब की सुरक्षा ज़रूरी , आंतरिक और बाह्र्री दुश्मन कर रहे हैं षड्यंत्र : आयतुल्लाह जन्नती आख़ेरत में अंधेपन का क्या मतलब है....