Saturday - 2018 August 18
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 189552
Date of publication : 12/9/2017 16:44
Hit : 1765

हमारे शहीदों ने क्षेत्र का इतिहास बदल दिया, सीरिया में हमारी जीत का डंका बज चुका : हसन नसरुल्लाह

मैं सीरिया संकट के आरम्भ में ईरान यात्रा पर गया तथा सुप्रीम लीडर हज़रत आयतुल्लाह ख़ामेनई से भेंट की, उस समय सब को लग रहा था कि अगले 2-3 महीनों में बश्शार असद सरकार का पतन हो जायेगा लेकिन मैंने सुप्रीम लीडर को अपना मत बताया और कहा कि अगर हम आज न लड़ें तो हमे बालबक, ज़ाहिया , ग़ाज़िया समेत दक्षिण लेबनान में युद्ध करना होगा ।


विलायत पोर्टल :  प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रतिरोधी आंदोलन हिज़्बुल्लाह के जनरल सेक्रेटरी हसन नसरुल्लाह ने मोहर्रम से पहले खतीबों , नौहा ख्वानों को सम्बोधित करते हुए कहा कि सीरिया में प्रतिरोधी आंदोलन विजय पताका लहरा चुका है हमारे विरोधी अब वार्ता की बात कर रहे हैं ताकि हारे हुए पक्ष को कुछ हासिल हो जाये । उन्होंने कहा कि हमे सीरिया संकट में अपने कर्तव्यों के बारे में मालूम है, हमारे जांबाज़ सिपाही, बंदी बनाये गए जवानों तथा शहीदों ने क्षेत्र के सारे समीकरण बदल कर रख दिए हैं। उन्होंने सिर्फ लेबनान का नहीं बल्कि क्षेत्र का इतिहास बदल दिया है हम सीरिया युद्ध में विजय हासिल कर चुके हैं । हसन नसरुल्लाह ने कहा कि दाइश और नुस्राह फ्रंट जैसे आतंकी संगठनों से युद्ध हमारे जीवन की सबसे कठिन घड़ी थी, जो हमारे लिए 2006 में अवैध राष्ट्र से हुए युद्ध से भी कठिन थी । हमे 2011 में ही आभास हो गया था कि प्रतिरोधी आंदोलन और फिलिस्तीन मुद्दे को समाप्त करने के लिए अमेरिकी - इस्राईली, क़तर तथा सऊदी गठजोड़ भयानक षड्यंत्र कर रहा है । हसन नसरुल्लाह ने कहा कि मैं सीरिया संकट के आरम्भ में ईरान यात्रा पर गया तथा सुप्रीम लीडर हज़रत आयतुल्लाह ख़ामेनई से भेंट की, उस समय सब को लग रहा था कि अगले 2-3 महीनों में बश्शार असद सरकार का पतन हो जायेगा लेकिन मैंने सुप्रीम लीडर को अपना मत बताया और कहा कि अगर हम आज न लड़ें तो हमे बालबक, ज़ाहिया , ग़ाज़िया समेत दक्षिण लेबनान में युद्ध करना होगा । सुप्रीम लीडर ने मेरी बातों से सहमति जताते हुए कहा कि सिर्फ इन्ही क्षेत्रों में नहीं बल्कि ईरान के खोज़िस्तान , तेहरान तथा किरमान आदि में भी हमे इन्ही ख़तरों का सामना करना होगा, क्योंकि इस मोर्चे के कई केंद्र हैं, ईरान , सीरिया तथा लेबनान। सीरिया मोर्चे के कमांडर बश्शार असद हैं हमे ऐसा काम करना होगा कि वह विजय प्राप्त कर लें और वह अवश्य विजयी होंगे । ड़ेढ़ दो साल बीत जाने के बाद सऊदी अरब ने बश्शार असद को संदेश भेजा कि अगर वह चाहते हैं कि सीरिया संकट समाप्त हो जाये तो वह प्रेस कांफ्रेंस कर ईरान और हिज़्बुल्लाह से संबंध समाप्त करने का ऐलान करें । हसन नसरुल्लाह ने बयान किया कि हमने उसी समय अपने इराकी भाईयों को कहा था कि वह अगर दाइश से जंग नहीं करेंगें और यह गिरोह दैरुज़्ज़ोर पर नियंत्रण करने में सफल रहा तो उसका अगला निशाना इराक होगा, और हुआ भी यही, यह आतंकी संगठन इराक के एक तिहाई भाग पर क़ब्ज़ा करने में सफल रहा ।
..................
फ़ार्स न्यूज़


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :