Saturday - 2018 Oct 20
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 189526
Date of publication : 11/9/2017 16:45
Hit : 658

सुप्रीम लीडर के प्रतिनिधि का शोक संदेश ,

आप इस्लामी क्रांति के उसूलों के प्रचारक और इमाम खुमैनी और आयतुल्लाह ख़ामेनई तथा मराजए तक़लीद के समर्थक थे । आप उच्च कोटि के विद्वान , प्रखर वक्ता , और नैतिक गुणों से संपन्न थे , आपने कलकत्ता में ही अपनी पत्नी की सहायता से मकतबे फातिमा ज़हरा की बुनियाद रखी


विलायत पोर्टल :  , ख़तीबे अहले बैत बा अमल आलिम आली जनाब मौलान सय्यद अतहर अब्बास रिज़वी की अचानक मौत ने दुःख और शोक का कारण बनी, मौलाना व्यवहारिक , हमदर्द और मंझे हुए खतीब थे । आप पश्चिम बंगाल , उत्तर प्रदेश , बिहार तथा हिंदुस्तान भर में सफर करते रहते तथा मोमेनीन को अपने बयान से लाभ पहुंचाते, पूरे देश में आपके चाहने वाले पाए जाते थे । आप इस्लामी क्रांति के उसूलों के प्रचारक और इमाम खुमैनी और आयतुल्लाह ख़ामेनई तथा मराजए तक़लीद के समर्थक थे । आप उच्च कोटि के विद्वान , प्रखर वक्ता , और नैतिक गुणों से संपन्न थे , आपने कलकत्ता में ही अपनी पत्नी की सहायता से मकतबे फातिमा ज़हरा की बुनियाद रखी जहाँ पिछले कई वर्षों से सैंकड़ों बच्चियों को दीनी तालीम दी गयी।  आप हर साल अलग अलग स्थानों पर एजुकेशनल कैंप भी लगाते थे कहा जाये कि आप नौजवान नस्ल और नई पीढ़ी को शिक्षित करने में आगे आगे थे । पश्चिम बंगाल के राजनेताओं , अफसरों के साथ साथ सुन्नी समुदाय के उलमा के साथ भी आपके अच्छे संबंध थे आप एक सम्मानित व्यक्तित्व के रूप में पहचाने जाते थे तथा आप शिया समाज के लिए एक बेहतरीन ढांढस थे।  इस बा अमल आलिमे दीन की मौत बहुत बड़ा नुकसान है ,मैं इस महान सेवक की मौत पर इमाम ज़माना अ.स. , हिंदुस्तान के दीनी मदरसों , उलमा, मोमेनीन और विशेष रूप से उनके परिवार और उनके मकतब के छात्र और छात्राओं को को पुर्सा पेश करन ज़रूरी समझता हूँ । खुदा की बारगाह में दुआ है कि मरहूम की मग़फ़ेरत फरमाए और उनके परिवार को सब्र और अज्र अता करे।
महदी महदवी पुर
..................


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :