Wed - 2018 August 15
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 189524
Date of publication : 11/9/2017 15:7
Hit : 487

महात्मा बुद्ध ज़िंदा होते तो रोहिंग्या समुदाय की सहायता के लिए उठ खड़े होते : दलाई लामा

मुसलमानों को हिंसा का निशाना बनाने वाले, महात्मा बुद्ध का ध्यान करें, अगर महात्मा बुद्ध ज़िंदा होते तो स्वंय आगे बढ़ कर रोहिंग्या समुदाय की सहायता करते ।


विलायत पोर्टल : प्राप्त जानकरी के अनुसार तिब्बती धर्म गुरु तथा बौद्ध आध्यात्मिक पेशवा दलाई लामा ने म्यांमार में जारी रोहिंग्या समुदाय के जातीय सफाये पर कड़ा दुःख प्रकट करते हुए कहा कि म्यांमार में जारी हिंसा से भयभीत होकर बांग्लादेश में शरण लेने वाले रोहिंग्याई समुदाय का दुःख अगर महात्मा बौद्ध देख लेते तो स्वंय उनकी सहायता करने के लिए दौड़ पड़ते । मुसलमानों को हिंसा का निशाना बनाने वाले, महात्मा बुद्ध का ध्यान करें, अगर महात्मा बुद्ध ज़िंदा होते तो स्वंय आगे बढ़ कर रोहिंग्या समुदाय की सहायता करते । धर्मशाला में निर्वासित जीवन व्यतीत कर रहे दलाई लामा ने कहा कि रोहिंग्या समुदाय की दुर्दशा से वह बहुत आहत हुए हैं। मैंने आंग सान सू की से मुलाक़ात करते समय यह सन्देश दिया था कि अगर महात्मा बुद्ध ज़िंदा होते तो स्वंय आगे बढ़ कर रोहिंग्या समुदाय की सहायता करते ।
............
IRIB 


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :