Saturday - 2018 August 18
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 189516
Date of publication : 10/9/2017 18:22
Hit : 272

सीआईए ने रची थी वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हमले की साज़िश - पूर्व सीआईए एजेंट

जनता इस बारे में जान ही नहीं पाई और कहीं से कोई सवाल नहीं उठा । पूरा सिस्टम ये साबित करने में कामयाब रहा कि वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हुए हमले के पीछे आतंकवादियों का हाथ था । उन्होंने कहा कि पूरे विश्व में एक ही संगठन फैला है और वह अलकायदा तो बिल्कुल नहीं था। यह संगठन सीआईए है ।


विलायत पोर्टल :  न्यूजर्सी के अस्पताल से रिहा होने के बाद सेवानिवृत्त सीआईए एजेंट माल्कॉम हावर्ड ने कई सनसनीखेज़ खुलासे किए हैं । ज़िंदगी के आखिरी पडाव पर मैल्कॉम कहते हैं कि मेरे पास अब कुछ ही वक्त बाकी है और यह बताना चाहते हैं कि वर्ल्ड ट्रेड सेंटर धमाके की साजिश में वो शामिल थे । हावर्ड ने सीआईए के लिए एक ऑपरेटर के रूप में साल तक काम किया है । सिविल इंजीननियर के रूप में ट्रेंड हावर्ड 80 के दशक की शुरुआत में सीआईए में शामिल होने के बाद एक विस्फोटक विशेषज्ञ बन गए । उन्होंने कहा कि 1997 ले 2001 के बीच सीआईए के संचालन में काम किया और उस वक्त सीआईए ऊपर से आने वाले आदेशों पर काम कर रहा था । वह उन 4 ऑपरेटर्स की एक सेल का हिस्सा थे जो सुनिश्चित करने में कामयाब रहा कि ब्लास्ट कामयाब रहा । हावर्ड ने कहा कि वर्ल्ड ट्रेड सेंटर का विध्वंस उनके जीवन का इकलौता अनोखा विध्वंस रहा है । उन्होंने कहा कि वह एक सच्चे देशभक्त हैं इसीलिए उन्होंने व्हाइट हाउस या सीआईए के निर्णयों पर कभी कोई सवाल नहीं उठाया है । लेकिन अब उन्हें ऐसा लगता है कि कहीं कुछ ऐसा था जो सही नहीं था । उन्होंने कहा कि ये विस्फोटकों के साथ एक क्लासिक नियंत्रित विध्वंस था। हमने विस्फोटकों के रूप में सुपर फाइन लैंड ग्रेड नैनोथर्माइट कंपोजिट सामग्री का इस्तेमाल किया । बिल्डिंग का हज़ारों पाउंड विस्फोटक, फ्यूज और प्रज्वलन तंत्र ले जाना सबसे मुश्किल काम था । लेकिन बिल्डिंग 7 में लगभग हर एक कार्यालय में सीआईए, सीक्रेट सर्विस या सेना द्वारा किराए पर लिया गया था, जिसने इसे आसान बना दिया गया, ये काम एक महीने में किया गया । 11 सितंबर को जब उत्तर और दक्षिण टावर जला तब वर्ल्ड सेंटर 7 में फ्यूल जला दिया गया और नैनोथर्माइट विस्फोटकों ने इमारत को खोखला कर स्टील की संरचना को नष्ट कर दिया जिसससे इमारत भरभरा कर गिर गई । हावर्ड ने खुलासा किया कि इस इमारत का गिरना बहुत ही सरल रूप से और जल्दी हुआ। इस इमारत के विनाश में कोई हताहत नहीं हुआ, कोई दुखी नहीं था। सब इसका जश्न मना रहे थे सब इसका रिप्ले बार बार देख रहे थे तभी कुछ गड़बड़ी लगी। हमने ध्यान से देखा तो यह एक नियंत्रित विध्वंस की तरह दिख रहा था, हमले से गिरने वाली इमारत की तरह नहीं लग रहा था , लोग इस पर सवाल उठा सकते थे और फिर हमने सुना कि सड़क से लोग रिपोर्ट कर रहे थे कि उन्होंने दोपहर के दौरान विस्फोट की आवाजें सुनी है । सरकार द्वारा जारी 9/11 के आधिकारिक रिपोर्ट के मुताबिक वर्ल्ड ट्रेड सेंटर 7 अनियंत्रित आग के कारण ढह गई है जो ट्रेड सेंटर 1 और 2 से फैली। अगर यह सच था तो वर्ल्ड ट्रेड सेंटर दुनिया की पहली ऐसी बिल्डिंग है जो अनियंत्रित आग की वजह से गिर गई । हमें लगा था कि जनता सब सच जान जाएगी और गड़बड़ हो जाएगा । राष्ट्रपति बुश को भी जाना होगा । लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ । जनता इस बारे में जान ही नहीं पाई और कहीं से कोई सवाल नहीं उठा । पूरा सिस्टम ये साबित करने में कामयाब रहा कि वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हुए हमले के पीछे आतंकवादियों का हाथ था । उन्होंने कहा कि पूरे विश्व में एक ही संगठन फैला है और वह अलकायदा तो बिल्कुल नहीं था। यह संगठन सीआईए है ।
.......................


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :