Saturday - 2018 Oct 20
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 189357
Date of publication : 2/9/2017 15:20
Hit : 150

तालेबान से ज़्यादा अमेरिकी फौजों से डरते हैं अफ़ग़ान नागरिक ?

अमेरिकी फ़ौजी हमारे घरों पर हमला करते हैं हमारे शहरों पर बम बरसाते हैं वह हमारी शादियों और अन्य प्रोग्रामों पर बमबारी करते हैं और इन सब हमलों का आरोप तालेबान के सर मंढ देते हैं ।


विलायत पोर्टल :  प्राप्त जानकारी के अनुसार अफ़ग़ानिस्तान के कुछ राजनयिकों ने रूसी समाचार एजेंसी स्पूतनिक को दिए इंटरव्यू में अफ़ग़ानिस्तान में अमेरिकी फौजौं के क्रूर चेहरे को एक बार फिर उजागर किया है । ज्ञात रहे कि हाल में ही अमेरिकी हमलों में एक बार फिर 11 से अधिक आम नागरिक मारे गए थे । स्पूतनिक से बात करते हुए अफ़ग़ान पार्लियामेंट के सदस्य तथा सैन्य विश्लेषक हाजी अल्लाह गुल मोहम्मद ने कहा कि अफ़ग़ानिस्तान के लोग तालेबान से अधिक अमेरिकी फौजियों से भयभीत हैं उनके अनुसार तालेबान के पतन के बाद अफ़ग़ान जनता युद्ध की इच्छुक नहीं थी लेकिन क्षेत्र में अमेरिकी नीतियों के कारण देश अभ तक युद्ध की आग में जल रहा है । अमेरिकी फ़ौजी हमारे घरों पर हमला करते हैं हमारे शहरों पर बम बरसाते हैं वह हमारी शादियों और अन्य प्रोग्रामों पर बमबारी करते हैं और इन सब हमलों का आरोप तालेबान के सर मंढ देते हैं । उन्होंने नांगरहार में अमेरिकी सेना द्वारा 150 आम नागरिकों की हत्या तथा कई और अन्य घटनाओं का उल्लेख करते हुए कहा कोई अफ़ग़ान नागरिक अपने देश में विदेशी सैनिकों की उपस्थिति का समर्थक नहीं है अफ़ग़ान जनता को अमेरिकी से कोई भलाई नहीं मिली तथा जनता नहीं चाहती कि अब अमेरिकी सेना अफ़ग़ानिस्तान में रहे । एक और राजनैतिक हस्ती अब्द कबीर ने कहा कि अफ़ग़ानिस्तान में जारी सारा आतंक और खून खराबा अमेरिका, तालेबान , तथा दाइश की मिलीभगत का नतीजा है ।
.............
YJC


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :