Tuesday - 2018 August 14
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 188043
Date of publication : 25/6/2017 17:8
Hit : 1167

सऊदी युवराज की अय्याशियाँ, एक रात रंगीन करने के लिए उड़ा दिए ८ मिलियन डॉलर ।

मौहम्मद बिन सलमान के गन्दे चरित्र को बताने के लिए यही काफी है कि उसने हॉलीवुड की मशहूर सेलिब्रिटी किम कारदर्शियां को अपने साथ एक रात गुज़ारने के लिए १ मिलियन डॉलर का ऑफर दिया था जो उसके युद्ध मंत्री बनने के बाद १० मिलियन डॉलर हो गया लेकिन किम कारदर्शियां की तरफ से कोई प्रतिक्रिया न पाकर अय्याश सऊदी राजकुमार ने इस रक़म को बढ़ाते हुए २० मिलियन डॉलर कर दिया है ।



विलायत पोर्टल : 
सऊदी अरब के प्रख्यात लेखक ग़ानिम अलदौसरी ने अपने लेख में कई रहस्यों समेत आले सऊद की अय्याशियों से पर्दा उठाते हुए कहा कि सऊदी उत्तरधिकारी मौहम्मद बिन सलमान ने २०१५ में अपनी मालदीव यात्रा में अपनी अय्याशियों के लिए सिर्फ एक रात रंगीन करने के लिए ८ मिलियन डॉलर उड़ा दिए । ज्ञात रहे कि हाल ही में सऊदी तनाशाह सलमान बिन अब्दुल अज़ीज़ ने सऊदी उत्तरधिकारी मौहम्मद बिन नायफ को उनके समस्त पदों से मुक्त करते हुए अपने बेटे सऊदी युद्धमंत्री मौहमम्द बिन सलमान को अपना उत्तराधिकारी घोषित किया है जिसे अरब समुदाय के कई प्रतिष्ठित लोगों ने मौहम्मद बिन सलमान का षड्यंत्र नाम दिया है । अरब के मशहूर लेखक मुजतहिद ने कहा है कि सलमान जल्द ही अपने बेटे के लिए सत्ता छोड़ देंगे । सऊदी अरब के नए युवराज की ज़िन्दगी अय्याशियों और विवादों से भरी हुए है।
 आले सऊद का सबसे प्रभावशाली सदस्य मौहम्मद बिन सलमान को आले सऊद का सबसे प्रभावशाली सदस्य कहा जा सकता है। वह युद्धमंत्री के साथ साथ मंत्रिमंडल दल का उपप्रमुख, सऊदी की सबसे बड़ी पेट्रोलियम कम्पनी अरामको के बोर्ड ऑफ़ डायरेक्टर्स का हेड भी है। वह सऊदी अरब का सबसे प्रभावशाली राजनेता है जिस की बातें सऊदी शासक सुनता भी है और उन्हें महत्त्व भी देता है । अगस्त १९८५ में पैदा हुए मौहम्मद बिन सलमान ने क़ानून की डिग्री लेने के बाद कई कंपनी खोली और २००७ में राजनीति में क़दम रखा तथा अब सऊदी शासन का उत्तरधिकारी बन गया है । न्यूयॉर्क टाइम्स के अनुसार मौहम्मद बिन सलमान को जो अधिकार हासिल हैं वह आज तक आले सऊद में किसी और को नहीं मिले ।
३ अरब रियाल का महल सऊदी युवराज ने रियाज़ के अलनुखैल में अपनी बीवी के लिए ३ अरब सऊदी रियाल में एक महल ख़रीदा जिसकी वास्तविक क़ीमत १५० अरब रियाल भी नहीं थी । ज्ञात रहे कि यह महल अब्दुल्लाह बिन मुशब्बब का था जो भूतपूर्व सऊदी युवराज सुल्तान बिन अब्दुल अज़ीज़ का करीबी मित्र और आले सऊद का वफादार था जिसे उसकी वफादारी का इनाम देने के लिए यह महल ३ अरब रियाल में ख़रीदा गया ।
सरकारी प्रॉपर्टी की नीलामी और खरीद हाल ही के सालों में मौहम्मद बिन सलमान की एक अहम रणनिति यह थी कि वह सऊदी वित्त एवं न्याय और शहर विकास मंत्री के साथ मिलकर सरकारी प्रॉपर्टी की नीलामी करता और उन्हें कौड़ी के भाव खरीद लेता था । आले सऊद विरोधियों का कहना है कि इन सब नीलामियों और उनकी खरीद के पीछे मौहमम्द बिन सलमान का हाथ है । उन्होंने इस काम में शहरी विकास एवं वित्त तथा न्याय मंत्री वलीद समआनी को इस लिए शामिल किया ताकि क़ानूनी प्रक्रिया को जान सके । खास कर रक़म की अदाएगी और चेक देने के मामले में जो कभी दिए ही नहीं गए। यह बात जान लेना भी ज़रूरी है कि वलीद समआनी मौहम्मद बिन सलमान की कंपनी में क़ानूनी सलाहकार था तथा उसको मौहम्मद बिन सलमान का धार्मिक सलाहकार भी माना जाता रहा है । 
राष्ट्रीय मामलों में हस्तक्षेप और भारी रिश्वत
कहा जाता है कि मौहम्मद बिन सलमान सऊदी उत्तरधिकारी बनने से पहले भी कई अहम मामलों में अनावश्यक हस्तक्षेप करता था। वह पूर्व युवराज मौहम्मद बिन नायफ के अधीन रहते हुए भी उनके अंतर्गत आने वाले कई विभाग में दखल देता था । उसने बिन नायफ के अधीन रहते हुए भी आले शैख़ के बड़े बड़े वहाबी मुफ्तियों को मुंह बंद रखने के लिए बहुत बड़ी बड़ी रक़म रिश्वत के तौर पर भेंट की। आले सऊद के दरबारी मुफ़्ती सालेह बिन फौजान जिस पर मौहम्मद बिन नायफ का बहुत प्रभाव था उसे भी मौहम्मद बिन सलमान ने भारी भारी चेक देकर उसका मुंह भी बंद कर दिया। इन में एक चेक की क़ीमत २५ मिलियन सऊदी रियाल बताई गयी है जो मौहम्मद बिन सलमान ने सालेह बिन फौजान को मुलाक़ात करते हुए दिया ।
लेडी सिंगर शकीरा और मौहम्मद बिन सलमान मौहम्मद बिन सलमान की अय्याशियों का उल्लेख नहीं किया जा सकता । उदाहरण के तौर पर सिर्फ इतना कहा जा सकता है कि सऊदी अरब के प्रख्यात लेखक ग़ानिम अलदौसरी ने अपने लेख में इस रहस्य से पर्दा उठाया है कि २०१५ में अपनी मालदीव यात्रा पर सऊदी युवराज ने अपनी अय्याशियों में मिलियनों डॉलर उड़ा दिए थे । उनके अनुसार मौहम्मद बिन सलमान ने अपनी रात रंगीन करने के लिए ८ मिलियन खर्च किये थे जिस में पश्चिमी जगत के कई कलाकार और लेडी सिंगर शकीरा भी उपस्थित थी । मौहम्मद बिन सलमान के गन्दे चरित्र को बताने के लिए यही काफी है कि उसने हॉलीवुड की मशहूर सेलिब्रिटी किम कारदर्शियां को अपने साथ एक रात गुज़ारने के लिए १ मिलियन डॉलर का ऑफर दिया था जो उसके युद्ध मंत्री बनने के बाद १० मिलियन डॉलर हो गया लेकिन किम कारदर्शियां की तरफ से कोई प्रतिक्रिया न पाकर अय्याश सऊदी राजकुमार ने इस रक़म को बढ़ाते हुए २० मिलियन डॉलर कर दिया है ।
 ८ मिलियन डॉलर की नाईट पार्टी सऊदी युवराज को सरकारी कर्मचारियों की तनख्वाह में कटौती और अरब जनता से टेक्स वसूली का जनक मन जाता है । याद रहे कि सऊदी अरब को तेल से होने वाली कमाई का ९०% हिस्सा आले सऊद के पेट में जाता है बाक़ी का १०% हिस्सा ही जनता को मिलता है । जानकारों के अनुसार सऊदी अरब की ३०% जनता ग़रीबी रेखा से नीचे जीवन यापन कर रही हैं तथा अपना पेट पालने के लिए कठिन परिश्रम और मुसीबतों में घिरे हैं । सऊदी युवराज की अय्याशियों और फ़िज़ूल खर्ची से लोगों के बीच असंतोष पनप गया था जिसे दूर करने के लिए सऊदी राजकुमार ने सरकारी मुफ़्ती से भेंट की और लोगों को शांत करने का आग्रह किया ।
तीमा के खनिज भंडार ग़ानिम अलदौसरी सऊदी युवराज को चोर और लुटेरा कहते हैं । उनके अनुसार सलमान बिन अब्दुल अज़ीज़ के इस बड़े रीछ की एक कम्पनी है तवीक़, जिस के लिए सऊदी शासक ने देश के पेट्रोलियम एवं खनिज मन्त्रालय पर दबाव बनाया कि वह इस कम्पनी के लिए ज़रूरी कच्चे माल की पूर्ति के लिए अगले ३० साल तक तीमा स्टेट के सिलिस खनिज भंडार का लाइसेंस जारी कर दे । जिसके बाद मौहम्मद बिन सलमान के लिए दो लाइसेंस जारी किये गए हैं पहले लाइसेंस के आधार पर उन्हें तीमा के ४७ मिलियन ४७७ हज़ार ९४८ वर्ग मीटर क्षेत्र तथा दूसरे लाइसेंस के आधार पर १६ मिलियन ५५६ हज़ार ४५१ वर्ग मीटर क्षेत्र मिल गए हैं ।
म्यूजिक कंसर्ट एक तरफ सऊदी अरब में धार्मिक कट्टरता के नाम पर लोगों पर अनावश्यक पाबंदियां थोपी गयी है दूसरी ओर सऊदी युवराज इसी देश में नाच गाने की महफिले सजाता है लेकिन अम्र बिल मारूफ और नहि अनिल मुनकर के नाम पर बनाये गए विभाग के कान पर जूं भी नही रेंगती । मौहम्मद बिन सलमान रियाज़ में लेडी सिंगर की सुविधा युक्त लालोना नामक बार खोलता है । खाड़ी देशों के गायकों को आमंत्रित कर देश में म्यूजिक कंसर्ट करता है लेकिन धर्म के नाम पर आम लोगों को प्रताड़ित करने वाली सऊदी सरकार और उसके धार्मिक विभाग को कोई फ़र्क़ नही पड़ता ।
अवैध क़ब्ज़ा और गुंडागर्दी मौहम्मद बिन सलमान को रियाज़ के अलउल्या अलआम पर एक बिज़नेस सेंटर के पास एक जगह पसंद आ जाती है जो अलउल्यान ख़ानदान की है। सऊदी राजकुमार ने रियाज़ के न्यायाधीश बिन महना को फोन कर कहा कि वह एक चेक लेकर अलउल्यान ख़ानदान के पास जाएँ और उन्हें उनकी ज़मींन की क़ीमत देकर यह जगह ले ले । बिन महना ने सऊदी युवराज के आदेश का पालन किया लेकिन मालिक ने ज़मीन बेचने से इंकार कर दिया । इसके बाद सलमान के बेटे ने उन लोगों को एक लिफाफा भेजा जिस में दो बुलेट्स और एक खत रखा हुआ था कि अगर यह ज़मीन देने से मना किया तो इन गोलियों के दम पर वह ज़मीन हथिया लेगा ।
तुर्की आले शैख़ सऊदी युवराज के रहस्यों का पिटारा मौहम्मद बिन सलमान का निकट सहयोगी, जिसे सऊदी युवराज का राज़दार और सऊदी तानाशाह पर नज़र रखने वाला उसका मोहरा और जासूस कहा जाता है । वह बताता है कि मौहम्मद बिन सलमान ने कहा कि बहरैन मूल के सऊदी गायक मौहम्मद अब्दो, इराकी गायक काज़िम और रशीद मजीद के गानों में उसका नाम भी शामिल करे ताकि वह अपनी पारिवारिक और दोस्तों की मीटिंग में दावा कर सके कि वह इन गानों में उनके साथ गा रहा है । सऊदी युवराज ने तुर्की आले शैख़ को रियाज़ मे रंग रैलियां मनाने के लिए ४५ मिलियन सऊदी रियाल की एक प्रॉपर्टी खरीदने का आदेश दिया और कहा कि इस राज़ का भांडा फूट जाये तो तुर्की आले शैख़ इन सब की ज़िम्मेदारी क़ुबूल करेगा ।
पोकर और बिन सलमान कहा जाता है कि बिन सलमान को पोकर का बहुत शौक़ है वह प्रतिदिन ६ घंटे पोकर खेलता है तथा प्रतिदिन इस खेल में १ मिलियन सऊदी रियाल खर्च करता है। 
लूटपाट और बर्बादी सऊदी युवराज अन्य सऊदी राजकुमारों और सऊदी शासकों की तरह ही सरकारी प्रॉपर्टी और राष्ट्रीय संपदा की लूटपाट और बर्बादी का काफी शौक़ीन है। यहाँ तक के उसकी लूटपाट से चैरिटी संस्थाएं भी सुरक्षित नही हैं । विशेष रूप से अल इस्कान अलखैरी और अलबिरसऊदी युवराज की लूटपाट और लालच की भेंट चढीं । लेकिन जब पुलिस जाँच की आंच सऊदी परिवार तक आई तो उन्होंने अपने क़रीबी लोगों को आगे कर दिया । पुलिस विभाग के कुछ अफसरों ने सऊदी परिवार की शाबाशी की उम्मीद में जब उन्हें बताया कि वह घटना की जड़ तक पहुँचने वाले हैं तो आश्चर्यजनक रूप से उन्हें सस्पेंड कर दिया गया । आले सऊद की इस हरकत का विरोध करने पर उन्हें पागल घोषित करते हुए पागल खाने भेज दिया गया तो कुछ पर झूठे आरोप लगा कर जेल में डाल दिया गया । मज़े की बात यह है कि बिन सलमान ने इन मामलों मे जिन लोगों को ढाल के रूप में प्रयोग किया था उन्ही लोगों ने बाद में बिन सलमान के नाम पर बड़े बड़े मामलों में हाथ साफ़ किये । वह मौहम्मद बिन सलमान के प्रोजेक्ट में आने वाली लागत का कभी भी सही आंकड़ा नही देते । जैसे अलवक़्फ़ बुर्ज की कुल लागत ५२ मिलियन रियाल थी लेकिन इन लोगों ने मौहम्मद बिन सलमान को ६४ मिलियन रियाल का बिल दिया था।
मालदीव में एक द्वीप, प्लेन और किश्ती
सऊदी अरब में टेक्स बढ़ोत्तरी और कर्मचारियों के वेतन में कमी के दौरान मौहम्मद बिन सलमान ने मालदीव में एक द्वीप, प्लेन और शिप ख़रीदा है। सऊदी तानशाही के संस्थापक सऊद बिन अब्दुल अज़ीज़ के सैंकड़ों बच्चों में से एक राजकुमार सऊद बिन सैफ अलनस्र ने कहा है कि बिन सलमान ने मालदीव यात्रा पर १३३० अरब सऊदी रियाल में एक द्वीप ख़रीदा है जिसकी क़ीमत सऊदी ख़ज़ाने से चुकायी गयी है । इस के अलावा इस जज़ीरे के लिए ज़रूरी साज़ो सामान को भी ४ अरब रियाल में ख़रीदा गया है । सैफ अलनस्र ने बिन सलमान की फ़िज़ूल खर्चियों का बयान करते हुए कहा कि बिन सलमान ने जो शिप ख़रीदा है वह इतना विशाल है कि फ़्रांस के नीस पोर्ट पर लंगर नही डाल सकता जहाँ दुनिया भर के बिज़नेसमैनों के शिप लंगर डालें हुए होते हैं । यह शिप अभी स्पेन में है और बिन सलमान अपनी यूरोप यात्रा में इस का प्रयोग करेंगे । इस सऊदी राजकुमार ने कहा कि मौहम्मद बिन सलमान और मोहम्मद्द बिन नायफ में फ़िज़ूल खर्ची को लेकर भी होड़ मची हुई है । अब मौहम्मद बिन नायफ २ अरब सऊदी रियाल में इटली के पूर्व प्रधानमंत्री बर्लुस्कोनी का शानदार महल ख़रीदने जा रहे हैं । अरब के प्रख्यात लेखक मुजतहिद का कहना है कि बिन सलमान के शिप की देखभाल में ही हर महीने १२ मिलियन डॉलर खर्च होते हैं और अगर इस शिप का प्रयोग किया जाये तो यह खर्च २० मिलियन डॉलर हो जाता है । जो देश के रक्षा मंत्रालय के बजट से दिया जाता है । सऊदी अरब के सोशल मीडिया एक्टिविस्ट ने मौहम्मद बिन सलमान के एक प्लेन की तस्वीरें भी शेयर की हैं जो लीबिया के पूर्व तानाशाह कर्नल क़ज़्ज़ाफ़ी के आलिशान प्लेन से मिलता जुलता है ।
मोरक्कों में आलिशान महल
अरब राजकुमारों की अय्याशी का एक और अड्डा है मोरक्कों । मुजतहिद की रिपोर्ट के अनुसार अय्याश सऊदी युवराज मौहमम्द बिन सलमान ने आदेश दिया है कि उसके लिए मोरक्को के तंजा शहर मे भव्य शानदार महल बनायी जाये। मुजतहिद के अनुसार मौहम्मद बिन सलमान ने तंजा में ही महल बनाने का आदेश इस लिए दिया है क्यूंकि मोरक्को में इस शहर को जुआ, अय्याशी , और काले धंधों का अड्डा कहा जाता है ।
 .....................
 अलआलम


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :