Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 185853
Date of publication : 22/2/2017 14:21
Hit : 269

फिलिस्तीनी मुद्दा मुसलमानों के बीच एकता की धुरीः आयतुल्लाह ख़ामेनई

सुप्रीम लीडर ने प्रतिरोधी गुटों को एकता का महत्व समझाते हुए कहा कि दुश्मन प्रयास कर रहा है कि प्रतिरोध अपने उद्देश्यों से भटक जाये और इस काम के लिए वह प्रतिरोधक दलों के दोस्त का भेष धारण किये दुश्मनो की सेवा ले रहा है।

विलायत पोर्टल : इस्लामिक रिपब्लिक ईरान के सुप्रीम लीडर हज़रत आयतुल्लाह ख़ामेनई ने तेहरान मे आयोजित छठी अंतर्राष्ट्रीय फिलिस्तीन कांफ्रेंस में अपने भाषण में कहा कि इस्लामी देशों में स्वभाविक अथवा दुश्मनों द्वारा डाले गए मतभेद के बावजूद भी फिलिस्तीन मुद्दा उनके बीच एकता की धुरी बन सकता है।
उन्होंने कहा कि इस महत्वपूर्ण कांफ्रेंस का उद्देश्य इस्लामी जगत तथा दुनिया भर के आज़ाद इंसानों में फिलिस्तीन मुद्दे को ज़िंदा रखना, प्राथमिकता दिलाना तथा अपने अधिकारों एवं स्वतन्त्रता के लिए लड़ने वाले फिलिस्तीनियों के लिए समर्थन जुटाना है।
उन्होंने फिलिस्तीन के राजनैतिक समर्थन के महत्व पर बल देते हुए कहा कि आज हर मुस्लमान और स्वतन्त्रता प्रेमी फिलिस्तीन के अधिकारों और स्वतन्त्रता के लिए एक मंच पर आ सकता है। उन्होंने फिलिस्तीन की आज़ादी को पूरी मानवता का कर्तव्य बताते हुए कहा कि हमे क्षेत्र में ज़ायोनी खतरे को नहीं भूलना चाहिए, प्रतिरोध जारी रखने के लिए यथा सम्भव प्रयास करने होंगे और उसके लिए प्रतिरोध की सभी आवश्यकताओं की पूर्ति होना ज़रूरी है।
उन्होंने फिलिस्तीन के समर्थन को ज़रूरी बताते हुए प्रतिरोध आंदोलन की मदद का आह्वान करते हुए कहा कि हमे पश्चिमी तट याद रहना चाहिए जो इंतेफ़ाज़ा का मुख्य स्तम्भ है।
सुप्रीम लीडर ने प्रतिरोधी गुटों को एकता का महत्व समझाते हुए कहा कि दुश्मन प्रयास कर रहा है कि प्रतिरोध अपने उद्देश्यों से भटक जाये और इस काम के लिए वह प्रतिरोधक दलों के मित्र का भेष धारण किये दुश्मनो की सेवा ले रहा है। आयतुल्लाह ख़ामेनई ने कहा कि फिलिस्तीनी जनता इन चालों में नहीं आने वाली उनका इतिहास गौरवशाली रहा है वह अत्याचारियों के विरूद्ध आंदोलन करने में अग्रणी रहे हैं अगर हालात से मजबूर होकर कोई एक दल इस अभियान का नेतृत्व करने में असमर्थ होता है तो इस धरती से दूसरा वीर उठकर प्रतिरोध का परचम लहर देता है।

..............
 प्रेस टीवी


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

अफ़ग़ानिस्तान में शांति स्थापना के लिए ईरान का किरदार बहुत महत्वपूर्ण । वालेदैन के हक़ में दुआ हिज़्बुल्लाह के खिलाफ युद्ध की आग भड़काने पर तुला इस्राईल, मोसाद और ज़ायोनी सेना आमने सामने इराक की दो टूक, किसी भी देश के ख़िलाफ़ देश की धरती का प्रयोग नहीं होने देंगे फ़्रांस के दो लाख यहूदी नागरिकों को स्वीकार करेगा अवैध राष्ट्र इस्राईल इस्राईल का चप्पा चप्पा हमारी की मिसाइलों के निशाने पर : हिज़्बुल्लाह जौलान हाइट्स से लेकर अल जलील तक इस्राईल का काल बन गई है नौजबा मूवमेंट । हम न होते तो फ़ारसी बोलते आले सऊद, अमेरिका के बिना सऊदी अरब कुछ नहीं : लिंडसे ग्राहम आले सऊद की बेशर्मी, लापता हाजी सऊदी जेलों में मौजूद ट्रम्प पर मंडला रहा है महाभियोग और जेल जाने का ख़तरा । जॉर्डन के बाद संयुक्त अरब अमीरात ने दमिश्क़ से राजनयिक संबंध बहाल करने की इच्छा जताई क़ुर्आन की तिलावत की फ़ज़ीलत और उसका सवाब ट्रम्प को फ्रांस की नसीहत, हमारे आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप न करे अमेरिका । तुर्की अरब जगत के लिए सबसे बड़ा ख़तरा : अब्दुल ख़ालिक़ अब्दुल्लाह आतंकवाद से संघर्ष का दावा करने वाला अमेरिका शरणार्थियों पर हमले बंद करे : मलाला युसुफ़ज़ई