Saturday - 2018 Sep 22
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 185715
Date of publication : 15/2/2017 20:46
Hit : 451

ईरान से मुक़ाबले के लिए अमेरिका का नया एजेंडा, अरबी नॉटो का करेगा गठन।

रिपोर्ट के अनुसार यमन इस आतंकी गठबन्धन का पहला अभ्यास स्थल होगा जिसमे अमेरिका लाल सागर को कवर करने में सहायता देगा जिसे हल ही में यमनी बलों ने सऊदी वहाबियों का क़ब्रिस्तान बना दिया था ।

विलायत पोर्टल : ट्रम्प प्रशासन के दिन प्रतिदिन ईरान विरोधी अभियान के बीच वाल स्ट्रीट जनरल ने ख़बर दी है कि अमेरिका ने अपने अरब सहयोगियों से ईरान के विरुद्ध फौजी गठबन्धन के मुद्दे पर बात की है।
रिपोर्ट के अनुसार ट्रम्प ने अरब सहयोगियों से अपने संयुक्त दुश्मन ईरान के विरुद्ध सैन्य गठबन्धन तथा इस्राईल से खुफिया जानकारियों के आदान प्रदान पर बात की। ट्रम्प-अरब वार्ता में शामिल ५ अरब उच्चाधिकारियों के अनुसार इस गठबन्धन में सऊदी अरब यूएई समेत इस्राईल के साथ कई संधि में शामिल मिस्र तथा जार्डन के साथ कई और देश भी सम्मिलित होंगे।
उक्त अधिकारियों के अनुसार यह गठबन्धन नॉटो के सामान होगा जिसमे किसी एक सदस्य देश पर हमला सभी सहयोगी देशों पर हमला माना जायेगा।
रिपोर्ट के अनुसार ट्रम्प यमन में हौसियों के विरुद्ध अतिक्रमणकारी संगठन से अधिक इस गठबन्धन का सहयोग करेंगे लेकिन इस्राईल या अमेरिका इस गुट का हिस्सा नहीं बनेगे। एक अरब राजनीतिक के अनुसार अमेरिकी पूछ रहे हैं क्या वह किसी ऐसे संगठन का अंग बनना पसन्द करेंगे जिसमे इसराइल हो?
सूत्रों के अनुसार सऊदी और यूएई ने इस गठबन्धन का हिस्सा बनने पर सहमति जता दी है लेकिन उन्होंने अमेरिकी नागरिकों को सऊदी अरब के विरुद्ध ९/११ कांड में मुक़दमे का अधिकार देने वाले कानून को ख़त्म करने कि मांग की है।
सूत्रों के अनुसार मिस्र के मुस्लिम ब्रदरहुड को आतंकियों को लिस्ट में डालने का उद्देश्य भी यही है कि मिस्र को इस संगठन में शामिल किया जा सके क्योंकि मिस्र सरकार मुस्लिम ब्रदरहुड को आतंकी संगठन मानती है। रिपोर्ट के अनुसार यमन इस आतंकी गठबन्धन का पहला अभ्यास स्थल होगा जिसमे अमेरिका लाल सागर को कवर करने में सहायता देगा जिसे हल ही में यमनी बलों ने सऊदी वहाबियों का क़ब्रिस्तान बना दिया था।
वहाबी अधिकारियों ने इस्राईली खुफिया एजेंसियों की तारीफ करते हुए इस गठबंधन में इस्राईल की खुफिया सेवाएं लेने पर सहमति दे दी है। वाल स्ट्रीट के अनुसार सऊदी अधिकारियों ने कहा वर्तमान में भी हम ईरान तथा हिज़्बुल्लाह विरुद्ध गतिविधियों में इस्राईली एजेंसियों की सहायता लेते रहते है।
अल-आलम

........................
अलआलम टीवी


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :