Saturday - 2018 June 23
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 185663
Date of publication : 13/2/2017 20:16
Hit : 207

खलीफ़ाई सैनिकों ने शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रही बहरैनी जनता पर छोड़े आंसू गैस के गोले।

बहरैन वासियों ने अपनी आवाज़ दुनिया तक पहुंचाने वाले शहीदों से वफादारी का ऐलान करते हुए कहा कि शहीदों का खून आले खलीफा की गर्दन पर बाक़ी है


विलायत पोर्टल : बहरैन में शहीद हुए तीन लोगों के अंतिम संस्कार में उनके परिवार वालों के शामिल होने पर लगी रोक के विरोध में देश भर के विभिन्न हिस्सों में लोगों ने आले खलीफा के विरुद्ध प्रदर्शन करते हुए आले खलीफा शासन के खात्मे की मांग की।
बहरैन वासियों ने अपनी आवाज़ दुनिया तक पहुंचाने वाले शहीदों से वफादारी का ऐलान करते हुए कहा कि शहीदों का खून आले खलीफा की गर्दन पर बाक़ी है। रविवार के दिन इन शहीदों को शैख़ मीसम बहरानी के मक़बरे में दफन कर दिया गया।
रिपोर्ट के अनुसार पुलिस शहीदों के परिवार को थाने बुलाकर हर परिवार के दो सदस्यो को अपनी हिरासत में क़ब्रिस्तान तक ले गई। बहरैन के उलमा ने प्रेस नोट जारी कर कहा है कि शहीदों का अंतिम संस्कार सुन्नते पैग़म्बर अर्थात शिया रीति रिवाजों के विपरीत किया गया है।
ज्ञात रहे कि आले खलीफा ने कल शहीदों की माँओं को जनाज़े में शामिल होने की सूरत में गोलियों से भूनने की धमकी दी थी।

..............
 प्रेस टीवी


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :