Friday - 2018 June 22
Languages
Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 184776
Date of publication : 26/12/2016 19:59
Hit : 167

ईरान और रूस के बीच सीरिया संकट के हल के लिए हुई बातचीत।

आतंकवादी गुट आईएस के कब्ज़े से सीरिया के स्ट्रैटेजिक नगर हलब या एलेप्पो के स्वतंत्र हो जाने के बाद राजनीतिक वार्ताओं को नए सिरे से आरंभ करने के लिए कूटनयिक कोशिशें शुरू हो गए हैं।

विलायत पोर्टलः आतंकवादी गुट आईएस के कब्ज़े से सीरिया के स्ट्रैटेजिक नगर हलब या एलेप्पो के स्वतंत्र हो जाने के बाद राजनीतिक वार्ताओं को नए सिरे से आरंभ करने के लिए कूटनयिक कोशिशें शुरू हो गए हैं। इसी संबंध में ईरान और रूस के राष्ट्राध्यक्षों ने 24 दिसंबर की रात को एक दूसरे से टेलीफोनी वार्ता की और इस वार्ता में दोनों देशों के नेताओं ने आतंकवादियों के मुकाबले में सीरियाई सेना को विशेषकर हलब में मिलने वाली लगातार सफलता की ओर इशारा के साथ ज़ोर देकर कहा कि इस कामयाबी और विजय के साथ राजनीतिक वार्ता शुरू होना और उसे जारी रहना चाहिये। सीरिया के जिन क्षेत्रों में लोग आतंकवादियों के नियंत्रण में हैं उन्हें आज़ाद कराने की कोशिश के साथ राजनीतिक वार्ता का नये सिरे से आरंभ होना वह महत्वपूर्ण बिन्दु है जिस पर ईरान, रूस और तुर्की के विदेशमंत्रियों के बीच होने वाली हालिया त्रिपक्षीय मॉस्को बैठक की समाप्ति पर जारी होने वाली विज्ञप्ति में ज़ोर दिया गया था। सीरिया में आतंकवादी गुट आईएस से मुकाबले में ईरान और रूस के बीच जो समन्वय है उसका नतीजा हलब युद्ध के समाप्त होने और इस महत्वपूर्ण एवं स्ट्रैटेजिक नगर की आज़ादी के रूप में स्पष्ट हो चुका है। आतंकवाद से मुकाबले में इस महत्वपूर्ण सफलता को न केवल सीरिया बल्कि क्षेत्र में महत्वपूर्ण मोड़ समझा जा रहा है। लगभग 6 सालों से सीरिया में सशस्त्र झड़पें जारी हैं और इन सालों में सीरिया में आतंकवादी गुट आईएस और उनके क्षेत्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय समर्थकों ने जो कुछ अंजाम दिए हैं वे इतिहास में रह जाएंगे। अब इस बात की आशा अधिक हो गई है कि सीरिया में आईएस का काम खत्म हो जायेगा जिस तरह इराक़ में भी आतंकवादी गुटों के मुकाबले में इस देश की सेना और स्वयं सेवी बलों को मिलने वाली सफलता से यह आशा कई बराबर हो गई है। बहरहाल इस समय क्षेत्र में नया परिवर्तन हो रहा है। इस परिवर्तन से न केवल सीरिया और इराक बल्कि समूचे क्षेत्र पर प्रभाव पड़ेगा। ईरान और रूस क्षेत्र के परिवर्तनों पर पैनी नज़र रखे हुए हैं क्योंकि यह परिवर्तन सामूहिक सुरक्षा का भाग है और दोनों देशों के राष्ट्राध्यक्षों के बीच होने वाली टेलीफोनी वार्ता को इस परिप्रेक्ष्य में देखा जा सकता है।
.................
तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :