Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 183491
Date of publication : 19/9/2016 17:32
Hit : 508

सऊदी अरब ने यमन में 34 बार मस्जिदों और 147 बार स्कूलों पर हमला किया है।

यमन में सऊदी अरब की अगुवाई वाले गठबंधन ने एक तिहाई हवाई हमलों में असैन्य स्थलों को निशाना बनाया है।


विलायत पोर्टलः यमन में सऊदी अरब की अगुवाई वाले गठबंधन ने एक तिहाई हवाई हमलों में असैन्य स्थलों को निशाना बनाया है। द गार्डियन अख़बार में छपी रिपोर्ट के अनुसार, इन हवाई हमलों में स्कूलों, अस्पतालों और मस्जिदों पर बमबारी की गई। ‘यमन डेटा प्रोजेक्ट’ नामक यह रिपोर्ट, सऊदी अरब के गठबंधन द्वारा यमन पर मार्च 2015 से अगस्त के अंत तक 8600 से ज़्यादा बार किए गए हवाई हमलों की समीक्षा पर आधारित है। इस रिपोर्ट के अनुसार, सऊदी गठबंधन ने 3577 बार सैन्य केन्द्रों और 3158 बार असैन्य स्थलों पर हवाई हमला किया जबकि 1882 हवाई हमले ऐसे केन्द्रों पर किए गए जिनका वर्गीकरण साफ़ नहीं था। इस रिपोर्ट में आया है कि सऊदी गठबंधन ने यमन में 114 बार बाज़ार पर, 34 बार मस्जिद पर और 147 बार स्कूल की इमारतों पर हमला किया। इसी तरह 26 बार यूनिवर्सिटियों और 378 बार परिवहन तंत्र पर हमला किया गया। यमन में एक बाज़ार ऐसा है जिस पर सऊदी गठबंधन ने 24 बार बमबारी की। सऊदी विदेश मंत्री आदिल अलजुबैर ने इस रिपोर्ट पर प्रतिक्रिया में कहा कि जानकारियों व आंकड़ों को इकट्ठा करने की शैली अस्वीकार्य है। उन्होंने दावा किया कि लड़ाकों ने स्कूलों और अस्पतालों को कंट्रोल रूम बना दिया है। वे स्कूलों व अस्पतालों को महत्वपूर्ण गोला-बारूद के भंडार के रूप में इस्तेमाल करते हैं। इसलिए ये केन्द्र असैन्य नहीं हैं बल्कि सैन्य लक्ष्य हैं। संयुक्त राष्ट्र संघ की रिपोर्ट भी दर्शाती है कि यमन में पिछले साल मरने वाले यमनी बच्चों में से 60 फ़ीसद बच्चों की मौत के लिए ज़िम्मेदार सऊदी गठबंधन है। पिछले साल यमन में जंग के दौरान 785 बच्चे हताहत हुए थे।
.....................
तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

हश्दुश शअबी का आरोप , आईएसआईएस को इराकी बलों की गोपनीय जानकारी पहुंचाता था अमेरिका ईरान के पयाम सैटेलाइट ने इस्राईल और अमेरिका को नई चिंता में डाला सीरिया की स्थिरता और सुरक्षा, इराक की सुरक्षा का हिस्सा : बग़दाद आले सऊद की नई करतूत , सऊदी अरब में खुले नाइट कलब और कैसीनो । अमेरिका ने सीरिया से भाग कर ईरान, रूस और बश्शार असद को शक्तिशाली किया । ज़ुबान के इस्तेमाल के फ़ायदे और नुक़सान । सीरिया के विभाजन की साज़िश नाकाम, अमेरिका ने कुर्दों को दिया धोखा । सीरिया में अमेरिका का स्थान लेंगी मिस्र और संयुक्त अरब अमीरात की सेना । बैतुल मुक़द्दस से उठने वाली अज़ान की आवाज़ पर लगेगी पाबंदी । दमिश्क़ की ओर पलट रहे हैं अरब देश, इस्राईल हारा हुआ जुआरी : ज़ायोनी टीवी शहीद बाक़िर अल निम्र, वह शेर मर्द जिसका नाम सुनकर आज भी लरज़ जाते हैं आले सऊद बश्शार असद की हत्या ज़ायोनी चीफ ऑफ स्टाफ की पहली प्राथमिकता ? यमन के सक़तरी द्वीप पर संयुक्त अरब अमीरात की नज़र क़तर के पूर्व नेता का सवाल, सऊदी अरब में कोई बुद्धिमान है जो सोच विचार कर सके ? अंसारुल्लाह का आरोप , यमन के लिए दूषित भोजन खरीद रहा है डब्ल्यू.एच.पी