Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 183402
Date of publication : 12/9/2016 12:26
Hit : 311

यूरोपीय संघ सऊदी अरब का ग़ैर रचनात्मक समर्थन बंद करे।

ईरान के विदेशमंत्रालय के प्रवक्ता ने यूरोपीय संघ से सिफारिश की है कि वह सऊदी अरब के प्रति अपने ग़ैर रचनात्मक समर्थन को समाप्त कर दे।
विलायत पोर्टलः ईरान के विदेशमंत्रालय के प्रवक्ता ने यूरोपीय संघ से सिफारिश की है कि वह सऊदी अरब के प्रति अपने ग़ैर रचनात्मक समर्थन को समाप्त कर दे। बहराम क़ासेमी ने ईरान विरोधी यूरोपीय संघ परिषद के मंत्रियों की विज्ञप्ति की प्रतिक्रिया में कहा कि अगर यह परिषद क्षेत्र के देशों के साथ शांतिपूर्ण जीवन के अपने रुझान में सच्ची है और क्षेत्रीय सदभावना को मज़बूत बनाने के इरादे में गम्भीर है तो उसे चाहिये कि वह दृढ़ता के साथ सऊदी अरब से कहे कि वह सीरिया, इराक, यमन और बहरैन में लोगों के जनसंहार और क्षेत्र में उन आतंकवादी गुटों का समर्थन बंद करे जिन्हें उसने स्वयं बनाया है। अरब संघ के विदेशमंत्रियों की परिषद ने मिस्र में अपनी बैठक की समाप्ति पर जारी होने वाली विज्ञप्ति में ईरान की इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता के हालिया हज संदेश की प्रतिक्रिया में दावा किया कि इस्लाम और मुसलमानों के संबंध में तथा हज को अंजाम देने के लिए सऊदी अरब जो कुछ अंजाम देता है इस प्रकार का दृष्टिकोण वास्तविकता नहीं रखता है। ज्ञात रहे कि इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता ने अपने हालिया हज संदेश में हज का सही प्रबंधन न कर पाने के कारण सऊदी ज़िम्मेदारों की आलोचना की थी। अरब संघ की परिषद ऐसी स्थिति में हज प्रबंधन में सऊदी अरब का समर्थन कर रही है जब सऊदी अरब के कुप्रबंधन के कारण ही पिछले वर्ष विभिन्न इस्लामी देशों के हज़ारों हाजी प्रचंड धूप और गर्मी में कुचल कर मर गये। यद्यपि सऊदी अधिकारी दावा करते हैं कि मिना त्रासदी में उनकी कोई भूमिका नहीं है परंतु किसी तरह उनके क्रिया- कलापों की वकालत नहीं की जा सकती यहां तक उसे एक प्रकार का अपराध समझा जाता है। मिना त्रासदी के समय सऊदी ज़िम्मेदारों ने कुछ नहीं किया और वे केवल मूकदर्शक बने रहे। प्रचंड गर्मी में बहुत से हाजी प्यास से तड़प- तड़प कर गये। हाजियों के शवों को जिस तरह से कंटेनरों में भरा गया उससे साफ स्पष्ट है कि सऊदी ज़िम्मेदारों के निकट उनका कोई महत्व नहीं है और यह कंलक का ऐसा टीका है जो सदैव तथाकथित मक्के और मदीने के सेवकों के माथे पर रहेगा।  ज्ञात रहे कि मिना त्रासदी को घटे हुए एक वर्ष का समय हो रहा है परंतु सऊदी अधिकारियों ने इस घटना के लिए आज तक क्षमा तक नहीं मांगी है यही नहीं ईश्वरीय आदेश को अंजाम देने वाले हज़ारों हाजियों के मारे जाने पर खेद तक उन्होंने व्यक्त नहीं किया। .....................तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

इमाम हसन असकरी अ.स. की ज़िंदगी पर एक निगाह अमेरिका का युग बीत गया, पश्चिम एशिया से विदाई की तैयारी कर ले : मेजर जनरल मूसवी सऊदी अरब ने यमन के आगे घुटने टेके, हुदैदाह पर हमले रोकने की घोषणा। ईरान को दमिश्क़ से निकालने के लिए रूस को मनाने का प्रयास करेंगे : अमेरिका आईएसआईएस आतंकियों का क़ब्रिस्तान बना पूर्वी दमिश्क़ का रेगिस्तान,30 आतंकी हलाक ग़ज़्ज़ा, प्रतिरोधी दलों ने ट्रम्प की सेंचुरी डील की हवा निकाली : हिज़्बुल्लाह सऊदी ने स्वीकारी ख़ाशुक़जी को टुकड़े टुकड़े करने की बात । आईएसआईएस समर्थक अमेरिकी गठबंधन ने दैरुज़्ज़ोर पर प्रतिबंधित क्लिस्टर्स बम बरसाए । अवैध राष्ट्र में हलचल, लिबरमैन के बाद आप्रवासी मामलों की मंत्री ने दिया इस्तीफ़ा फ़्रांस और अमेरिका की ज़ुबानी जंग तेज़, ग़ुलाम नहीं हैं हम, सभ्यता से पेश आएं ट्रम्प : मैक्रोन बीवी क्या करे कि घर जन्नत की मिसाल हो ज़ायोनी युद्ध मंत्री लिबरमैन का इस्तीफ़ा, ग़ज़्ज़ा की राजनैतिक जीत : हमास अमेरिका की चीन को धमकी, हमारी मांगे नहीं मानी तो शीत युद्ध के लिए रहो तैयार देश को मुश्किलों से उभारना है तो राष्ट्रीय क्षमताओं का सही उपयोग करना होगा : आयतुल्लाह ख़ामेनई अय्याश सऊदी युवराज मोहम्मद बिन सलमान है ग़ज़्ज़ा पर वहशियाना हमलों का मास्टर माइंड : मिडिल ईस्ट आई