Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 183348
Date of publication : 8/9/2016 23:34
Hit : 563

ईरान के बाद, रूस ने भी अमेरीकी जासूसी विमान को खदेड़ा।

फ़ार्स की खाड़ी में ईरान की जल सीमा के पास होने की स्थिति में अमेरीकी युद्धपोत को ईरान की स्पीड बोट्स का सामने किए हुए कुछ ही दिन गुज़रे हैं कि इस बार रूस के जंगी जहाज़ सुखोई-27 ने ब्लैक सी में अमेरीका के एक जासूसी विमान को खदेड़ दिया।
विलायत पोर्टलः फ़ार्स की खाड़ी में ईरान की जल सीमा के पास होने की स्थिति में अमेरीकी युद्धपोत को ईरान की स्पीड बोट्स का सामने किए हुए कुछ ही दिन गुज़रे हैं कि इस बार रूस के जंगी जहाज़ सुखोई-27 ने ब्लैक सी में अमेरीका के एक जासूसी विमान को खदेड़ दिया। अमेरीकी रक्षा मंत्रालय ने कहा कि ब्लैक सी के ऊपर उड़ रहे उसके एक जासूसी विमान के तीन मीटर के फ़ासले से रूस का एक जंगी जहाज़ गुज़रा। बुधवार को हुयी इस घटना को अमेरीकी अधिकारियों ने ख़तरनाक व ग़ैर-पेशेवराना बताया है जिस पर रूसी रक्षा मंत्रालय ने कहा कि अमेरीकी विमान रूस की सीमा के पास हो रहा था और सुखोई-27 के पायलटों ने अंतर्राष्ट्रीय क़ानून के अनुसार काम किया। इस समय रूस ब्लैक सी में फ़ौजी अभ्यास कर रहा है। पेन्टगॉन के प्रवक्ता कैप्टन जैफ़ डेविस ने कहा कि विमान पी-8 पोसाइडन अंतर्राष्ट्रीय वायु क्षेत्र में सामान्य अभियान पर था कि रूसी जंगी जहाज़ ने उसके क़रीब ख़तरनाक सैन्य कला अंजाम दी। अमेरीकी रक्षा मंत्रालय के एक अधिकारी ने फ़्रांस प्रेस को बताया कि पहले रूसी विमान 10 मीटर के फ़ासले से गुज़रा और फिर 3 मीटर के फ़ासले से गुज़रा। जबकि रूसी रक्षा मंत्रालय ने कहा है कि इस देश के जंगी जहाज़ो ने अमेरीकी जहाज़ को इस लिए रास्ता बदलने पर मजबूर किया क्योंकि वह रूस की सीमा की तरफ़ बढ़ रहा था और अमरेकी जहाज़ का ट्रान्सपॉन्डर सिग्नल बंद था। रूस के बयान में आया है, “जब रूसी जंगी जहाज़ आंखों से देख कर अमेरीकी विमान पर अंकित नंबर को सुनिश्चित करने के लिए पास हुए तो अचानक अमेरीकी जासूसी विमान ने अपना रास्ता बदल दिया और दूर चला गया। बयान के अनुसार रूसी पायलेटों ने उड़ान के अंतर्राष्ट्रीय नियमों के अनुसार काम किया।”  ...................तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

क़तर का बड़ा क़दम, ईरान और दमिश्क़ समेत 5 देशों का गठबंधन बनाने की पेशकश एमनेस्टी इंटरनेशनल ने आंग सान सू ची से सर्वोच्च सम्मान वापस लिया ईरान की सैन्य क्षमता को रोकने में असफल रहेंगे अमेरिकी प्रतिबंध : एडमिरल हुसैन ख़ानज़ादी फिलिस्तीन, ज़ायोनी हमलों में 15 शहीद, 30 से अधिक घायल ग़ज़्ज़ा में हार से बौखलाए ज़ायोनी राष्ट्र ने हिज़्बुल्लाह को दी हमले की धमकी आले सऊद ने अब ट्यूनेशिया में स्थित सऊदी दूतावास में पत्रकार को बंदी बनाया मैक्रॉन पर ट्रम्प का कड़ा कटाक्ष, हम न होते तो पेरिस में जर्मनी सीखते फ़्रांस वासी इस्राईल शांति चाहता है तो युद्ध मंत्री लिबरमैन को तत्काल बर्खास्त करे : हमास हश्दुश शअबी ने सीरिया में आईएसआईएस के खिलाफ अभियान छेड़ा, कई ठिकानों को किया नष्ट ग़ज़्ज़ा पर हमले न रुके तो तल अवीव को आग का दरिया बना देंगे : नौजबा मूवमेंट यमन और ग़ज़्ज़ा पर आले सऊद और इस्राईल के बर्बर हमले जारी फिलिस्तीनी दलों ने इस्राईल के घमंड को तोडा, सीमा पर कई आयरन डॉम तैनात अज़ादारी और इंतेज़ार का आपसी रिश्ता रूस इस्लामी देशों के साथ मधुर संबंध का इच्छुक : पुतिन आले खलीफा शासन ने 4 नागरिकों को मौत की सजा सुनाई