Delicious facebook RSS दोस्तों को भेजें। प्रिंट सेव करें। XML TEXT PDF
Code : 181535
Date of publication : 3/5/2016 18:19
Hit : 183

दक्षिणी कोरिया और ईरान के संबंध अमेरीका से प्रभावित नहीं होने चाहिएः सुप्रीम लीडर

इस्लामी रिवाल्यूशन के सुप्रीम लीडर ने इस बात पर ज़ोर दिया है कि ईज्ञान और दक्षिणी कोरिया के संबंधों को अमेरीका की दुश्मनी और प्रतिबंधों से प्रभावित नहीं होना चाहिए।


विलायत पोर्टलः इस्लामी रिवाल्यूशन के सुप्रीम लीडर ने इस बात पर ज़ोर दिया है कि ईरान और दक्षिणी कोरिया के संबंधों को अमेरीका की दुश्मनी और प्रतिबंधों से प्रभावित नहीं होना चाहिए। उन्होंने सोमवार की शाम दक्षिणी कोरिया की राष्ट्रपति पार्क ग्यून ही से मुलाक़ात में कहा कि ईरान एशियाई देशों के साथ सहयोग बढ़ाने के बारे में सकारात्मक दृष्टिकोण रखता है और ईरान तथा दक्षिणी कोरिया के बीच स्थाई संबंध दोनों देशों के लिए लाभदायक हैं। उन्होंने दोनों देशो के स्थाई, मज़बूत और गहरे संबंधों पर ज़ोर देते हुए कहा कि ईरान और दक्षिणी कोरिया के समझौते और संबंध इस तरह होने चाहिए कि विदेशी तत्व और पाबन्दियां इन पर नकारात्मक प्रभाव न डाल सकें क्योंकि यह सही नहीं है कि ईरान और दक्षिणी कोरिया जैसे देशों के संबंध अमेरीका से प्रभावित हों। सुप्रीम लीडर ने अमेरीकियों की तरफ़ से आतंकवाद को अच्छे और बुरे में विभाजित करने की तरफ़ इशारा करते हुए कहा कि अमेरीका आतंकवाद के ख़िलाफ़ युद्ध का नारा लगाता है लेकिन व्यवहार में वह सच्चाई को सामने नहीं लाता जबकि आतंकवाद हर रूप में बुरा और राष्ट्रों व देशों की सुरक्षा के लिए गंभीर ख़तरा है क्योंकि शांति व सुरक्षा के बिना वांछित विकास व प्रगति हासिल नहीं की जा सकती और आतंकवाद तथा अशांति के ख़तरे का वास्तविक और सही मुक़ाबला करना चाहिए। वर्तमान नई स्थिति में जिसके महत्वपूर्ण मापदंडों की तरफ़ से सुप्रीम लीडर ने इशारा किया है, दक्षिणी कोरिया की राष्ट्रपति की ईरान यात्रा दोनों देशों के संबंधों में विस्तार में महत्वपूर्ण मोड़ हो सकता है। यह बात ध्यान में रखने की है कि आज ईरान की प्राथमिकता आर्थिक व व्यापारिक पक्षों से सहयोग सिर्फ़ व्यापार और लेनदेन का विषय नहीं है बल्कि तेहरान का उद्देश्य उस बिन्दु पर पहुंचना है जहां पर ईरान की आवश्यकताओं पर ध्यान दिया जाए। ईरान आधार भूत ढांचों व सार्वजनिक अर्थव्यवस्था के इलाक़ों में दीर्घावधि कार्यक्रम बना रहा है। सुप्रीम लीडर ने दक्षिणी कोरिया की राष्ट्रपति से मुलाक़ात में जो यह बात कही कि ईरान और दक्षिणी कोरिया के संबंधों को विदेशी तत्वों से प्रभावित नहीं होना चाहिए इसी लिए है कि यह संबंध स्थाई रहें और किसी के दबाव डालने से प्रभावित न हों।
.......................
तेहरान रेडियो


आपका कमेंट



मेरा कमेंट शो न किया जाये
Security Code :

नवीनतम लेख

अरब शासकों को ट्रम्प का आदेश, दमिश्क़ से संबंध सुधारो। इस्राईल के हमले नहीं रुके तो दमिश्क़ तल अवीव एयरपोर्ट को निशाना बनाने के लिए तैयार : बश्शार क़ुद्स को राजधानी बना कर अलग फ़िलिस्तीन राष्ट्र का गठन हो : चीन अय्याश सऊदी युवराज बिन सलमान ने माँ के बाद अब अपने भाई को बंदी बनाया। क़ासिम सुलेमानी के आदेश पर सीरिया ने इस्राईल पर मिसाइल दाग़े : ज़ायोनी मीडिया यूरोपीय यूनियन के ख़िलाफ़ बश्शार असद का बड़ा क़दम, राजनयिकों का विशेष वीज़ा किया रद्द। अमेरिकी सेना ने माना, इराक युद्ध का एकमात्र विजेता है ईरान । बर्नी सैंडर्स की मांग, सऊदी तानाशाही की नकेल कसे विश्व समुदाय । ईरान विरोधी बैठकों से कुछ हासिल नहीं, यादगारी तस्वीरें लेते रहे नेतन्याहू । हसन नसरुल्लाह का लाइव इंटरव्यू होगा प्रसारित,सऊदी इस्राईली मीडिया की हवा निकली । आले ख़लीफ़ा का यूटर्न , कभी भी दमिश्क़ विरोधी नहीं था बहरैन इदलिब , नुस्राह फ्रंट के ठिकानों पर रूस की भीषण बमबारी । हश्दुश शअबी की कड़ी चेतावनी, आग से न खेले तल अवीव,इस्राईल की ईंट से ईंट बजा देंगे । दमिश्क़ पर फिर हमला, ईरानी हित थे निशाने पर, जौलान हाइट्स पर सीरिया ने की जवाबी कार्रवाई । नहीं सुधर रहा इस्राईल, दमिश्क़ के उपनगरों पर फिर किया हमला।