×
×
×

इमाम ख़ुमैनी र.ह. विश्व के मशहूर विद्वानों की निगाह में

अल-अज़हर यूनिवर्सिटी मिस्र के पूर्व मुफ़्ती-ए-आज़म का कहना है कि इमाम ख़ुमैनी र.ह. उन लोगों में से थे जिनको अल्लाह ने दूसरों को फ़ायदा पहुंचाने वाला इ ...

लब्बैक या हुसैन अ.स. यानी दुनिया के सारे ज़ालिमों से जंग का ऐलान

पूरी दुनिया में कहीं भी इतनी बड़ी तादाद में लोग जमा नहीं होते यह केवल इमाम हुसैन अ.स. और उनके साथियों का बलिदान है जिसमें इतनी सच्चाई और गहराई थी जिसक ...

ज़ुबान

इमाम अली अ.स. ने फ़रमाया: जो बात नहीं जानते हो उसे ज़ुबान से मत निकालो बल्कि हर वह बात जिसे जानते हो उसे भी मत बयान करो, क्योंकि अल्लाह ने जिस्म के ह ...

सऊदी अरब को यमन के लोगों में इस्लामी बेदारी का डर

सऊदी अरब द्वारा यमन में ज़ुल्म, बे गुनाह लोगों के क़त्लेआम और सैन्य ठिकानों के अलावा अब तक सऊदी अरब के हमलों और और ज़ुल्म से लाखों लोग ज़ख्मी और हज़ा ...

यह 20 अरब डॉलर नहीं शीयत को नाबूद करने की साज़िश की कड़ी है

ऐसे बेशर्म, बे दीन और पूरी इंसानियत के मुजरिम इंसान का ख़ुद को इस्लामी देश कहने वाले पाकिस्तान में इस तरह स्वागत हो रहा है कि उसमें 21 तोपों की सलामी ...

सबसे पहली इस्लामी यूनिवर्सिटी

आपकी यूनिवर्सिटी और इस्लामी सेंटर में से फ़िक़्ह, तफ़सीर और इल्मे कलाम जैसे दूसरे बहुत से उलूम के जो माहिर निकल कर सामने आए हैं उनमें से मोहम्मद इब्ने ...

क़ुर्आन में हज़रत ईसा अ.स. की तालीमात और मौजूदा ईसाईयत

हज़रत ईसा अ.स. उन अज़ीम उलुल-अज़्म नबियों में से हैं जिनका ज़िक्र क़ुर्आन ने विशेष तौर पर बयान किया है और जिनकी तालीमात का बार बार हवाला दिया है, क़ुर ...

औलाद पर वालेदैन की ज़िम्मेदारियां

क़ुर्आन और मासूमीन अ.स. की हदीसों में वालेदैन के साथ नेक बर्ताव और अच्छे अख़लाक़ से पेश आने पर बहुत ज़ोर दिया गया है, अल्लाह ने कई जगहों पर अपनी वहदान ...

नमाज़ और क़ुर्आन में समानताएं

दोनों से क़रीब होने के लिए वुज़ू की ज़रूरत होती है, जैसाकि नमाज़ के बारे में क़ुर्आन कहता है कि जब तुम नमाज़ के लिए खड़े हो अपने चेहरे को और हाथों को ...

शांतिपूर्वक जीवन के लिए क्या करें?

क़र्आन फ़रमाता है, इस तरह जीवन बिताओ कि अगर हाथ से कुछ चला जाए तो अफ़सोस ना करो, और कुछ मिले तो ख़ुश मत हो।

कैसे इंसान के कुछ बुरे काम सभी अच्छे कामों को बर्बाद कर देते हैं?

सच है कि कुछ गुनाह और पाप की एक चिंगारी अच्छे और नेक अमल के बाग़ को जला कर राख कर देते हैं, जैसा कि क़ुर्आन में सूरए बक़रा की आयत न. 217 में आया भी है ...

क्या कुछ इंसानों को जानवरों जैसा कहना उनका अपमान नहीं?

इंसानी क़ीमती कपड़े और रेशम जानवर से बनाया जाता है, इंसानी महत्वपूर्ण खान पान जैसे दूध, दही, शहेद और गोश्त जानवर से लिया जाता है, जानवर बोझ ढ़ोने और ह ...

घनिष्ठ बातें या विवाह समारोह?

मेजर जनरल मोहम्मद शीराज़ी का बयान है कि, एक बार इस्लामिक क्रांति के सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई के साथ शहीदों के घरों के दौरे की तौफ़ीक़ मिली, कुछ ...

जीवन में भयानक घटना के समय क्या करें?

कठिनाइयों और भयानक घटनाओं के समय धैर्य और संयम बरतते हुए और रणनीति बनाते हुए अल्लाह से मदद माँगते हुए रास्ते को वैसे ही आसान बनाया जा सकता है, जैसे खट ...

वहाबी जवान का शिया होना

इस ताज़ा शिया होने वाले शिया जवान ने कहा, वहाबियत का मक़सद ये है कि वह ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को अपनी ओर आकर्षित करें, और अधिकतर वहाबियत की ओर खिंचन ...

फॉलो अस
नवीनतम