×
×
×

जो भी है बहुत अच्छा है....

यह एक हक़ीक़त है कि आप ख़ुद अपने आप में ज़बर्दस्त हैं, लेकिन इसका एहसास तब तक नहीं होता जब तक कि आप अपने आपको दूसरों से कॉमपेयर करना छोड़ न दें।कुछ लो ...

बेहतर ज़िंदगी के पांच उसूल

परहेज़गार और मुत्तक़ी लोगों से दोस्ती रखो क्योंकि यही परहेज़गार और मुत्तक़ी लोग ही ऐसे हैं जो केवल अल्लाह की मर्ज़ी और उसकी ख़ुशी के लिए तुमसे दोस्ती ...

जन्नतुल बक़ी को ढ़हाने से बे गुनाहों के ख़ून की होली तक, शैतान की डुगडुगी प ...

यक़ीनन जब कभी भी अल्लाहो अकबर के नारों की गूंज में मशीन गन और रॉकेट लांचर से मौत बरसती है तो शैतान डुगडुगी बजा कर अपने चेलों का हौसला बढ़ाता है उसके क ...

अमल का रिएक्शन

मिर्ज़ा ने जवाब दिया: चुप रहो, जिस किसी ने मुझे बादशाह की नज़रों में इमाम ज़ैनुल आबेदीन अ.स. बनाया है उन्हीं दरबारियों में से अगर मैं किसी की दरख़ास्त ...

फ़िलिस्तीन की असली कहानी क्या है?

यहूदियों के फिलिस्तीन पर क़ब्ज़े के तीन चरण हैं, पहला चरण अरबों के साथ सख़्ती और कठोरता पर आधारित है। ज़मीनों के असली मालिकों के साथ उनका व्यवहार बहुत ...

यौमे क़ुद्स क्या है? और माहे रमज़ान में क्यों मनाया जाता है?

लगभग सन् 1979 में इमाम ख़ुमैनी ने नाजायज़ इस्राईली हुकूमत के मुक़ाबले में बैतुल मुक़द्दस की आज़ादी के लिए माहे रमज़ान के आख़िरी अलविदा जुमे को "य ...

ज़ख़्मी अली की वसीयत

दुनिया की तरफ़ मत झुकना चाहे वह तुम्हारी तरफ़ खिंची क्यों न चली आ रही हो।और दुनिया की जो चीज़ तुम से रोक ली जाए तो उस पर अफ़सोस ना करनाजो भी कहना हक़ ...

काश कोई मुझे समझता!

अली की हक़ीक़ी ज़िंदगी और रोज़ाना की आपकी एक्टिविटी और पाक सीरत क्यों छिपी हुई है?इसके अलावा मेरी समझ में यह बात नहीं आती कि अली इंसानी इतिहास की सबसे ...

शबे क़द्र के आमाल

इमाम सादिक़ अ.स. की रिवायत के अनुसार इस रात को हमारी क़िस्मतों पर हस्ताक्षर होते हैं और साल भर के लिए हमारी क़िस्मतों पर मोहर लगती है इसलिए हमको चाहि ...

सोशल मीडिया का इस्तेमाल

उस वक़्त आप देखेंगे कि मुजरिम कैसे आमालनामे को देख कर डर रहे हैं और यह कह रहे हैं: हाय हमारी रुसवाई! यह कैसा आमाल नामा है? इसने किसी छोटी और बड़ी बात ...

ख़ुद को कैसे बदलें?!

ज़िंदगी में इम्तेहान आपको मज़बूत बनाने के लिए आते हैं इसलिए उसका डट कर सामना कीजिए.... अपने आप को यक़ीन दिलाइए कि मेरा अल्लाह मेरा रब मुझसे इतनी मोहब् ...

ख़ुदा के लिए.....

अगर तुमसे कोई तुम्हारी पूरी उम्र मांगे तो क्या तुम उसे दे दोगे? कभी नहीं! क्योंकि इस ज़िंदगी पर उसका हक़ है जिसने यह ज़िंदगी दी है।लेकिन हमारी ज़िंदग ...

क्या यह वही ईरान है?

अमेरिका को इस लांचिंग पर बेचैनी है और उसका कहना है कि ईरान ने यह सैटेलाइट लांच कर के अंतरराष्ट्रीय समझौते का विरोध किया है, वैसे यह अमेरिका अपने अलावा ...

उम्मुल मोमेनीन हज़रत ख़दीजा

उस ज़माने में भी जनाब ख़दीजा की शख़्सियत इतनी अज़ीम और इज़्ज़तदार थीं कि आपको औरतों का सरदार कहा जाता था।

भूखे को खाना खिलाना

हम सब माहे मुबारक में अल्लाह के मेहमान हैं, जिस महीने में अल्लाह हम से रोज़े रखवा कर ग़रीबों की भूख का एहसास दिलाता है, और दूसरी तरफ़ इस महीने नेक का ...
फॉलो अस
नवीनतम