×
×
×
अधिक देखे गए।

जवान आयतुल्लाह ख़ामेनई की निगाह में। 1

कुछ लोग सोचते हैं कि गुनाहों से सिर्फ़ बूढ़ों को बचना चाहिये जबकि बूढ़े लोग जिस तरह से शारीरिक रूप से कमज़ोर हैं उसी तर ...

3 April 2019 11:28 pm18 Hit
  • अल्लामा मुहम्मद तकी जाफरी।

    अगस्त वर्ष १९२५ की गर्मियों में उत्तर पूर्वी ईरान के तबरेज़ नगर में अल्लामा मुहम्मद तकी जाफरी का जन्म हुआ। उनके पिता ने किसी पाठशाला में शिक्षा प्राप्त नहीं की थी किंतु उनकी स्मरण शक्ति बहुत अधिक थी औ ...

  • अल्लामा अस्करी की जीवनी।

    अल्लामा मुर्तुज़ा अस्करी की इराक़ में उपस्थिति के समय विभिन्न प्रकार की धार्मिक , वैचारिक और राजनीतिक विचारधाराओं के लोग सक्रिय थे। राष्ट्रवादी, साम्यवादी, उदारवादी तथा धर्म निरपेक्ष और सलफी चरमपंथी ज ...

  • शहीद मुर्तज़ा मुतह्हरी।

    इतिहास में सदैव ऐसे व्यक्ति रहे हैं कि जिन्होंने जीवन में अपने अधिकारों की बलि देकर अंधविश्वासों एवं अज्ञानता से लड़ाई लड़ी है। इन समर्पित मनुष्यों ने लोगों की जागृति एवं मार्गदर्शन में अत्यधिक महत्वप ...

  • अल्लामा सय्यद मोहम्मद हुसैन तबातबाई।

    अल्लामा तबातबाई की एक विशेषता ज्ञान की विभिन्न शाखाओं से संपन्न होना भी है। ज्ञान की प्राप्ति का जुनून और इस दिशा में अथाह पर्यास ने उन्हें ज्ञान के उच्च स्थान पर पहुंचा कर उन्हें अद्वितीय हस्ती बना द ...

  • हुज्जतुल इस्लाम मोहसिन क़राअती

    ईरान के एक वरिष्ठ धर्मगुरू हुज्जतुल इस्लाम मोहसिन क़रअती ने विभिन्न विषयों पर पुस्तकें लिखी हैं। उनकी पुस्तकें युवाओं में बहुत पसंद की जाती हैं। उन्होंने न केवल ज़कात अदा करने, जमाअत के साथ नमाज़ पढने ...

  • आयतुल्लाह जाफ़र सुबहानी।

    आयतुल्लाह जाफ़र सुबहानी ईरान के ऐसे दार्शनिक एवं इतिहासकार हैं कि जिनकी इस्लामी जगत के विभिन्न विषयों के बारे में अनेक रचनाएं हैं। उन्होंने क़ुरान की व्याख्या विषय अनुसार एवं क्रमानुसार, इस्लामी इतिहा ...

  • आयतुल्लाह मुहम्मद तक़ी फ़लसफ़ी।

    उन्होंने अपने जीवन में दो पहलवी तानाशाहों का पतन देखा। इन दो शासकों के काल में लोगों के जीवन पर आयतुल्लाह फ़लसफ़ी का प्रभाव, उनकी अत्याचार विरोधी और न्यायप्रिय भावना को दर्शाता है।

  • आयतुल्लाह मोहम्मद तक़ी मिस्बाह यज़्दी।

    आयतुल्लाह मोहम्मद तक़ी मिस्बाह जनवरी 1935 में जन्में। उनके परिवार की केन्द्रीय ईरान के यज़्द शहर के एक धार्मिक परिवार में गणना होती थी और पैग़म्बरे इस्लाम के पवित्र परिजनों से अथाह श्रद्धा के लिए जाना ...

  • आयतुल्लाहिल उज़्मा गुलपाएगानी र.ह।

    मरहूम आयतुल्लाहिल उज़्मा सैयद मोहम्मद रेज़ा गुलपाएगानी, आयतुल्लाह हायरी के अच्छे शागिर्दों और चहेतों में से थे उनका जन्म 1316 हिजरी में गोगद गुलपाएगान नामक गांव में एक इल्मी घराने में हुआ, तीन साल की ...